• Hindi News
  • National
  • Terrorists Misused Mosques For Attacks In Jammu And Kashmir Pampore, Sopore And Shopian IGP Kashmir Revealed

आतंकियों का नया पैंतरा:IGP कश्मीर बोले- हमले के लिए दहशतगर्द मस्जिद का गलत इस्तेमाल कर रहे; पंपोर, सोपोर और शोपियां में ऐसी ही वरदातें हुईं

श्रीनगर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पिछले साल 19 जून को पंपोर, एक जुलाई को सोपोर और इस साल 9 अप्रैल को शोपियां में आतंकियों ने मस्जिद में छिपकर सुरक्षा बलों पर फायरिंग की। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
पिछले साल 19 जून को पंपोर, एक जुलाई को सोपोर और इस साल 9 अप्रैल को शोपियां में आतंकियों ने मस्जिद में छिपकर सुरक्षा बलों पर फायरिंग की। (फाइल फोटो)

जम्मू-कश्मीर में आतंकी घटनाओं कां अंजाम देने के लिए आतंकी अब मस्जिदों का सहारा ले रहे हैं, ताकि सुरक्षा बल उन तक नहीं पहुंच सकें। कश्मीर के इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (IGP) विजय कुमार ने सोमवार को बताया कि आतंकियों ने पंपोर, सोपोर और शोपियां में आतंकी घटनाओं को अंजरम देने के लिए मसजिद का गलत इस्तेमाल किया।

उन्होंने कहा कि पिछले साल 19 जून को पंपोर, एक जुलाई को सोपोर और इस साल 9 अप्रैल को शोपियां में आतंकियों ने मस्जिद में छिपकर सुरक्षा बलों पर फायरिंग की। पब्लिक, मस्जिद इंतिजामिया, सिविल सोसाइटी और मीडिया को ऐसी हरकतों की निंदा करनी चाहिए और हमारी मदद करनी चाहिए।

9 अप्रैल को शोपियां में एनकाउंटर
इससे पहले शोपियां में 9 अप्रैल को सुरक्षाबलों ने मस्जिद में छिपे 5 आतंकियों को मार गिराया था। पहले आतंकियों को सरेंडर करने के लिए कहा गया था। उन्हें समझाने के लिए इमाम और एक आतंकी के भाई को मस्जिद के अंदर भेजा गया, लेकिन आतंकी नहीं माने। कई घंटों की मशक्कत के बाद सुरक्षाबलों ने 5 आतंकियों को ढेर कर दिया।

पिछले साल भी दो ऐसी घटनाएं हुईं
एक जुलाई 2020 को सोपोर में छिपे आतंकियों ने CRPF की टीम पर फायरिंग शुरू कर दी थी। इसमें एक जवान और एक नागरिक की जान चली गई थी। सुरक्षा बलों के 3 जवान गंभीर रूप से घायल भी हुए थे। वहीं, 19 जून 2020 को सोपोर में सुरक्षा बलों ने 3 आतंकियों को ढेर कर दिया था, जो यहां की जामिया मस्जिद में शरण लेने के लिए घुसे थे।

खबरें और भी हैं...