• Hindi News
  • National
  • Cyclonic Storm Vayu: Gujarat on alert, Cyclonic Vayu to hit Gujarat on June 13, 650 km away from Sourth Veraval coast

अलर्ट / गुजरात तट से 13 जून को टकरा सकता है चक्रवात वायु, 9 जिलों पर तूफान का खतरा; अलर्ट जारी



X

  • कच्छ, जामनगर, जूनागढ़, द्वारका, पोरबंदर, राजकोट, अमरेली, भावनगर, और सोमनाथ जिलों को प्रभावित कर सकता है चक्रवात
  • गुजरात के पोरबंदर, महुवा, वेरावल और दियु में 165 किमी/घंटे की रफ्तार से हवा चलने की चेतावनी
  • कच्छ से लेकर दक्षिण गुजरात के तटीय इलाकों में हाई अलर्ट

Jun 12, 2019, 07:53 AM IST

नई दिल्ली. मौसम विभाग ने मंगलवार को चेतावनी दी कि अरब सागर में कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। गुरुवार (13 जून) को गुजरात के तट से चक्रवात वायु टकरा सकता है। वायु से निपटने के लिए गुजरात प्रशासन हाई अलर्ट पर है। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि तटीय इलाकों मेें रहने वाले लोगों कोे सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जाएगा। 

 

सरकार ने तूफान से निपटने के लिए हर प्रकार की तैयारियां कर ली हैं। वायुसेना के सी-17 एयरक्राफ्ट एनडीआरएफ टीम के साथ जामनगर पहुंचा। सरकार ने मछुआरों को 12 से 15 जून तक समुद्र में न जाने की हिदायत दी है।

 

ये जिले हो सकते  हैं प्रभावित

मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 24 घंटे में वायु और तेज हो सकता है। फिलहाल वायु मंगलवार दोपहर तक वेरावल से 650 किमी दूर था। अफसरों के मुताबिक, चक्रवात कच्छ, जामनगर, जूनागढ़, देवभूमि-द्वारका, पोरबंदर, राजकोट, अमरेली, भावनगर, और गिर-सोमनाथ जिलों को प्रभावित कर सकता है। 

 

ओडिशा सरकार से मदद ले रहा गुजरात प्रशासन

रूपाणी ने बताया कि कच्छ से लेकर दक्षिण गुजरात तक पूरे तटीय इलाकों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। प्रशासन ओडिशा सरकार के साथ संपर्क में है, जिससे तूफान से होने वाले नुकसान से बचने के तरीकों के बारे में जानकारी मिल सके, जिन्हें फैनी के वक्त ओडिशा सरकार ने अपनाया था।  

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि बुधवार को कैबिनेट बैठक के बाद सभी मंत्री राहत और रेस्क्यू ऑपरेशन का जायजा लेने के लिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि सभी कर्मचारियों की छुट्टी रद्द कर दी गई है और उनसे ड्यूटी पर लौटने को कहा गया। तटीय इलाकों में सभी स्कूल, कॉलेज और आंगनवाड़ी केंद्रों को 13 और 14 जून को बंद रखा गया है।

 

एनडीआरएफ की 36 टीमें रहेंगी तैनात

रूपाणी ने कहा- 13-14 जून हमारे लिए अहम है। हमने सेना, एनडीआरएफ, कोस्ट गार्ड और अन्य एजेंसियों को राहत के लिए तैनात किया है। जनहानि को कम करने के लिए हम बुधवार से तटीय इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना शुरू कर देंगे। एनडीआरएफ की 36 टीमें बचाव कार्य के लिए तैनात रहेंगी।

 

उधर, भारतीय वायुसेना ने एक सी-17 एयरक्राफ्ट मंगलवार को नई दिल्ली से विजयवाड़ा के लिए रवाना किया। यह एनडीआरएफ के 160 लोगों को विजयवाड़ा से जामनगर ले जाएगा। ये सभी चक्रवात वायु से प्रभावित लोगों की मदद करेंगे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना