• Hindi News
  • National
  • There Will Be Talk On Energy And Food Crisis, White House Said Our Relationship Is Important

भारत-अमेरिका 2+2 समिट 11 अप्रैल से:ऊर्जा और खाद्य संकट पर होगी बात,  व्हाइट हाउस बोला-हमारे रिश्ते अहम

नई दिल्ली10 महीने पहले

यूक्रेन युद्ध से बदली स्थितियों के बीच भारत- अमेरिका के बीच 11 अप्रैल से 2+2 बातचीत शुरू होने जा रही है। यह वार्ता रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री स्तरीय है। भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर अमेरिका जाएंगे और सोमवार को इस समिट में भाग लेंगे। अमेरिका का प्रतिनिधित्व विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और रक्षा मंत्री लायड आस्टिन करेंगे। इस बीच व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने कहा कि, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन का मानना है कि भारत-अमेरिका के रिश्ते दुनिया में सबसे अहम हैं और उम्मीद है कि होने वाली वार्ता हमारे रिश्तों को और बेहतर बनाएगी।

राजनाथ-जयशंकर पहुंचे अमेरिका

राजनाथ सिंह रविवार को वाशिंगटन पहुंच गए। वे 15 अप्रैल तक अमेरिका में रहेंगे।
राजनाथ सिंह रविवार को वाशिंगटन पहुंच गए। वे 15 अप्रैल तक अमेरिका में रहेंगे।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 2+2 बातचीत में हिस्सा लेने के लिए रविवार को वाशिंगटन डीसी पहुंच गए। विदेश मंत्री एस जयशंकर भी बातचीत में शामिल होने के लिए अमेरिका पहुंच गए हैं

यह होंगे मुद्दे
दोनों देशों के बीच बातचीत हिंद-प्रशांत क्षेत्र में साझा लक्ष्यों को आगे बढ़ाने में बड़ी भूमिका निभाएगी। जेन साकी ने कहा कि, 2+2 वार्ता के दौरान रूस-यू्क्रेन युद्ध के कारण ऊर्जा और खाद्य संकट पर भी दोनों देशों के बीच बातचीत होगी।

भारत ने दिया साफ संकेत
भारत ने गत दो हफ्तों के दौरान साफ तौर पर दिखाया है कि वह अपने हितों के मुताबिक ही काम करेगा। गुरुवार को विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची से जब रूस से रिश्तों पर अमेरिकी दबाव की बात पूछी गई तो बागची ने कहा कि, रूस के साथ भारत के आर्थिक रिश्ते काफी व्यवस्थित रहे हैं लेकिन मौजूदा परिवेश में उसे स्थिर बनाने की कोशिश की जा रही है।