करतारपुर कॉरिडोर / बिना वीसा एंट्री, लेकिन पाकिस्तान हर श्रद्धालु से 20 डॉलर सेवा शुल्क लेने पर अड़ा

अटारी में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते पाक अधिकारी। अटारी में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते पाक अधिकारी।
X
अटारी में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते पाक अधिकारी।अटारी में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते पाक अधिकारी।

  • अगर पाक 5000 श्रद्धालुओं से इतनी राशि लेता है तो सालभर में 2660 करोड़ भारतीय रु. वसूल लेगा
  • भारत ने इस मांग का विरोध करते हुए पाक को दोबारा विचार करने को कहा है

दैनिक भास्कर

Sep 05, 2019, 06:32 AM IST

नई दिल्ली/अटारी. करतारपुर कॉरिडोर शुरू करने को लेकर भारत और पाकिस्तान के अधिकारियों की बुधवार को अमृतसर के अटारी में तीसरे दौर की बातचीत हुई। सूत्रों ने बताया कि कॉरिडोर के लिए श्रद्धालुओं को वीसा की जरूरत नहीं होगी। हालांकि बैठक में पाकिस्तान इस बात पर अड़ गया कि कॉरिडोर से होकर ननकाना साहिब के दर्शन करने वाले प्रत्येक भारतीय श्रद्धालु से वह 20 डॉलर (करीब 1440 रुपए) की फीस लेगा। हालांकि भारत ने इस मांग का विरोध करते हुए पाक को दोबारा विचार करने को कहा है।

 

इसके साथ ही पाक गुरुद्वारा परिसर में भारतीय दूतावास के अधिकारी अथवा प्रोटोकॉल अधिकारी को आने की अनुमति नहीं देना चाहता। पाक कॉरिडोर के जरिए खालिस्तानी एजेंडा चलाना चाहता है। इसीलिए वह भारतीय की मौजूदगी के खिलाफ है। हालांकि दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए कि श्रद्धालुओं को वीसा की जरूरत नहीं होगी। इसमें विदेशी नागरिकता का कार्ड रखने वाले भारतीय भी जा सकेंगे। रोजाना 5000 और विशेष त्योहारों पर इससे ज्यादा श्रद्धालुओं को इजाजत मिलेगी। यह भी तय हुआ है कि रावी नदी पर दोनों ओर पुल बनाया जाएगा। इस पर क्रॉसिंग प्वाइंट के लिए फिलहाल सर्विस लेन बनाई जाएगी।

 

20 डॉलर लिए तो पाक सालभर में 2660 करोड़ रु. वसूल लेगा
फीस के रूप में भले ही 20 डॉलर छोटी रकम लग रही हो, पर पाक रोज 5000 श्रद्धालुओं से इतनी राशि लेता है तो सालभर में वह 2660 करोड़ भारतीय रुपए वसूल लेगा। पाकिस्तानी रुपए में तो यह रकम 5700 करोड़ रुपए बैठती है। पाकिस्तान की आबादी 19 करोड़ है। इस हिसाब से प्रत्येक पाकिस्तानी की जेब में सालभर में 300 रुपए पहुंच जाएंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना