• Hindi News
  • National
  • Today History 20 April: Aaj Ka Itihas Facts Update | Marie Curie Inventions, Adolf Hitler Story

इतिहास में आज:1902 में आज ही के दिन मैरी और पियरे क्यूरी ने रेडियम को पिचब्लेंड से अलग किया, कैंसर के इलाज में वरदान साबित हुई ये खोज

7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आज ही के दिन 1902 में मैडम मैरी क्यूरी और उनके पति पियरे क्यूरी ने रेडियो एक्टिव पदार्थ रेडियम और पोलोनियम को पिचब्लेंड नामक खनिज से अलग किया था। उनकी इस खोज ने वैज्ञानिक जगत में नई क्रांति ला दी। उनकी यह खोज कैंसर के इलाज में वरदान साबित हुई।

मैरी क्यूरी का जन्म पोलैंड के वारसा शहर में हुआ था। केवल 11 साल की उम्र में ही मैरी क्यूरी ने अपनी मां को खो दिया था। उनकी मां टीबी रोग से पीड़ित थीं। वे आगे की पढ़ाई के लिए पेरिस आईं, जहां उनकी मुलाकात पियरे क्यूरी से हुई। पियरे क्यूरी फ्रांसीसी भौतिक विज्ञानी थे। उन्होंने मैरी को अपनी प्रयोगशाला में बतौर रिसर्चर काम और प्रयोग करने का मौका दिया। साथ काम करते-करते दोनों एक-दूसरे के करीब आए और 26 जुलाई 1895 को दोनों ने विवाह कर लिया। शादी के बाद भी दोनों ने अपना काम जारी रखा और विज्ञान के क्षेत्र में महत्वपूर्ण सफलता हासिल की।

मैरी और पियरे क्यूरी ने 20 अप्रैल, 1902 को पेरिस में अपनी प्रयोगशाला में रेडियम और पोलोनियम को खनिज पिचब्लेंड से अलग किया। अपनी इस खोज के लिए उन्हें भौतिक विज्ञान के क्षेत्र में 1903 के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। साल 1911 में रेडियम के शुद्धिकरण के लिए मैडम क्यूरी को दूसरा नोबेल पुरस्कार दिया गया।

पेरिस में 19 अप्रैल 1906 को एक सड़क दुर्घटना में पियरे क्यूरी की मृत्यु हो गई। इसके बाद भी मैरी क्यूरी शोध में लगी रहीं। लंबे समय तक विकिरणों के बीच काम करते रहने की वजह से उन्हें ल्यूकेमिया नामक बीमारी हो गई। 4 जुलाई 1934 को इस महान वैज्ञानिक का निधन हो गया।

रेडियम का चिकित्सीय इस्तेमाल

चिकित्सा के क्षेत्र में रेडियम का इस्तेमाल 19वीं सदी में शुरू किया गया। इससे गामा किरणें निकलती हैं, जिसका इस्तेमाल कैंसर के उपचार में किया जाता है।

साथ ही रेडियम और ब्रोमीन के यौगिक रेडियम ब्रोमाइड को भी चिकित्सा के क्षेत्र में काफी इस्तेमाल किया जाता है। कैंसर के लिए की जाने वाली रेडिएशन थेरेपी में रेडॉन का इस्तेमाल होता है। रेडॉन एक गैस है जो रेडियम के विघटन से पैदा होती है।

रेडियम की खोज क्यूरी दंपत्ति के लिए काफी मुनाफे का सौदा साबित हो सकती थी, लेकिन मानव-सेवा के लिए उन्होंने रेडियम को पेटेंट करने से मना कर दिया।

दुनिया के सबसे क्रूर तानाशाह का जन्म

तानाशाह शब्द सुनते ही दिमाग में सबसे पहले हिटलर का नाम आता है। बीसवीं सदी के सबसे चर्चित और संभवतः सबसे घृणित व्यक्तियों में से एक नाजी तानाशाह एडोल्फ हिटलर का जन्म 20 अप्रैल, 1889 को ऑस्ट्रिया में हुआ। उसकी प्रारंभिक शिक्षा लिंज नामक स्थान पर हुई। पिता के निधन के बाद 1907 में वो वियना चला गया।

इसके बाद हिटलर सेना में भर्ती हो गया और लड़ाइयों में भाग लिया। 1918 में जर्मनी की हार के बाद 1919 में हिटलर ने सेना छोड़ दी और नेशनल सोशलिस्टिक आर्बिटर पार्टी (नाजी पार्टी) का गठन किया। इसका उद्देश्य साम्यवादियों और यहूदियों से सब अधिकार छीनना था, क्योंकि उनका मानना था कि साम्यवादियों और यहूदियों के कारण ही जर्मनी की हार हुई।

1923 में हिटलर ने जर्मन सरकार को उखाड़ फेंकने की कोशिश की, लेकिन इसमें कामयाब नहीं मिली। फरवरी, 1924 को हिटलर पर “राष्ट्रद्रोह” का मुकदमा चलाया गया और पांच साल के कैद की सजा सुनाई गई। हालांकि 9 महीने ही जेल में रहा।

जेल से रिहा होने के कुछ ही समय बाद हिटलर ने देखा कि जर्मनी भी विश्वव्यापी आर्थिक मंदी की मार झेल रहा है। हिटलर ने जनता के असंतोष का फायदा उठाकर फिर से लोकप्रियता हासिल की। उसने चुनाव लड़ने का फैसला किया। 1932 के चुनाव में हिटलर को राष्ट्रपति के चुनाव में सफलता नहीं मिली, लेकिन 1933 में वो जर्मनी का चांसलर बन गया।

इसके बाद शुरू हुआ हिटलर का दमन। उसने साम्यवादी पार्टी को अवैध घोषित कर दिया और यहूदियों के नरसंहार का सिलसिला शुरू कर दिया। जर्मन साम्राज्य की स्थापना का लक्ष्य लेकर हिटलर ने पड़ोसी देशों से की सभी संधि तोड़ दी और उन पर आक्रमण कर दिए। जिस वजह से 1939 में द्वितीय विश्व युद्ध भड़क उठा। 30 अप्रैल, 1945 को हिटलर ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली।

इतिहास में 20 अप्रैल को और किन-किन वजहों से याद किया जाता है-

2011: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के उपग्रह प्रक्षेपण यान 'PSLV' ने तीन उपग्रहों को सफलतापूर्वक अंतरिक्ष में स्थापित किया।

2008: महाराष्ट्र भाजपा के नेता और राष्ट्रीय महासचिव गोपीनाथ मुंडे ने अपने पद से इस्तीफा दिया।

2006: भारत ने अपना पहला विदेशी सैन्य अड्डा ताजिकिस्तान में स्थापित करने की घोषणा की।

1999: अमेरिकी शहर डेनवर के कोलंबाइन स्कूल में हाई स्कूल के दो छात्रों ने अंधाधुंध गोलीबारी में 25 लोगों को मार दिया था।

1970: भारतीय गीतकार और शायर शकील बदायूंनी का निधन।

1965: मेघालय के पूर्व मुख्यमंत्री मुकुल संगमा का जन्म।

1960: भारत के प्रसिद्ध बांसुरी वादक पन्नालाल घोष का निधन।

1950: तेलुगू देशम पार्टी के प्रमुख और आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू का जन्म।

1947: भारत के प्रसिद्ध इतिहासकार गौरीशंकर हीराचंद ओझा का निधन।

1920: अलबामा और मिसीसीपी में आए तूफान से 220 लोगों की मौत।

1777: न्यूयॉर्क ने एक स्वतंत्र राज्य के रूप में नया संविधान अपनाया।