• Hindi News
  • National
  • Today History Aaj Ka Itihas 18 January | Harivansh Rai Bachchan Death Anniversary

आज का इतिहास:मधुशाला लिखने वाले हरिवंश राय बच्चन का निधन हुआ था, उन्होंने ताउम्र शराब को हाथ तक नहीं लगाया

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आज के समय में बहुत से लोग हरिवंशराय बच्चन को अमिताभ बच्चन के पिता के रूप में जानते हैं, लेकिन अमिताभ के जन्म से कई साल पहले उनकी गिनती हिंदी साहित्य के सबसे लोकप्रिय कवियों में होने लगी थी। आज उनकी पुण्यतिथि है।

हरिवंश राय बच्चन का जन्म 27 नवंबर 1907 को एक कायस्थ परिवार में हुआ। वह पिता प्रताप नारायण श्रीवास्तव और मां सरस्वती देवी के बड़े बेटे थे। उन्हें बचपन में प्यार से बच्चन कहा जाता था। बाद में हरिवंश ने अपने नाम से श्रीवास्तव हटाकर बच्चन लगा दिया और इसी नाम से मशहूर हुए।

कहा जाता है कि उनकी कालजयी रचना मधुशाला जब प्रकाशित हुई तो पाठकों ने अनुमान लगाया था कि इसका रचयिता तो शराब के नशे में चूर रहता होगा, लेकिन हकीकत ये है कि हरिवंशराय बच्चन ने ताउम्र शराब को हाथ नहीं लगाया।

कलम चुराने से कोई संकोच नहीं
हरिवंशराय बच्चन को तरह-तरह की कलम जमा करने का शौक था और अपने इस शौक को पूरा करने के लिए वे किसी भी हद तक जा सकते थे। बच्चन अपनी आत्मकथा 'दशद्वार से सोपान तक' में लिखते हैं, 'कोई अच्छी कलम देखकर उसे किसी न किसी तरह हथियाने की मेरे मन में ललक उठती है। मोल और मांगे से न मिले, तो चुराने में भी संकोच न करूंगा। मेरे बेटे जब विदेश जाते हैं तो पूछते हैं कि आपके लिए क्या लाएं। मैं कहता हूं, कोई नए तरह का कलम निकला हो, तो ले आना और वे ले आते हैं। मेरे पास कलमों का अच्छा भंडार है और मैं उसे कंजूस के धन की तरह रखता हूं।'

महज 20 मिनट के एनकाउंटर में मारा गया वीरप्पन
चंदन तस्कर वीरप्पन का जन्म 18 जनवरी 1952 को कर्नाटक के गांव गोपिनाथम में हुआ था। उसने 184 लोगों की हत्या की, जिसमें 97 पुलिसवाले थे। उसे पकड़ने के लिए सरकार ने 5 करोड़ रुपए का इनाम रखा था। साल 2003 में विजय कुमार को STF चीफ बनाया गया था। विजय कुमार ने STF चीफ बनते ही वीरप्पन को पकड़ने की रणनीति तैयार की। उन्होंने वीरप्पन की गैंग में अपने आदमी शामिल करा दिए।

एक साल बाद 18 अक्टूबर 2004 को वीरप्पन अपनी आंख का इलाज कराने जा रहा था। पपीरपट्टी गांव में उसके लिए एंबुलेंस खड़ी थी। वह उसमें सवार हो गया। एंबुलेंस पुलिस की ही थी और उसे STF का आदमी चला रहा था। पुलिस बल रास्ते में पहले से मौजूद था। अचानक ड्राइवर ने एंबुलेंस रोकी और उतरकर भाग गया। वीरप्पन कुछ समझ पाता, उससे पहले ही पुलिस ने उसे घेरकर एनकाउंटर कर दिया। एनकाउंटर 20 मिनट तक चला था।

भारत और दुनिया में 18 जनवरी की महत्वपूर्ण घटनाएं इस प्रकार हैंः

1996: आंध्र प्रदेश के मुख्‍यमंत्री एनटी रामाराव का निधन हुआ।

1995: आज ही के दिन याहू डॉट कॉम का डोमेन बनाया गया।

1991: ईस्‍टर्न एयरलाइन को आर्थिक कारणों से बंद कर दिया गया।

1955: उर्दू के मशहूर लेखक और कवि सआदत हसन मंटो का निधन हुआ।

1930: रवीन्द्रनाथ टैगोर ने साबरमती आश्रम की यात्रा की।

1912: ब्रिटिश यात्री रॉबर्ट फाल्कन स्कॉट और चार अन्य लोग दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचे।

1886: इंग्‍लैंड में हॉकी एसोसिएशन का गठन हुआ।