• Hindi News
  • National
  • Visakhapatnam Gas Leak Pictures | Visakhapatnam LG Polymers Gas Leakage News Updates In Pictures From Andhra Pradesh Visakhapatnam LG Polymers Plant

विशाखापट्टनम गैस लीक हादसे की तस्वीरें / चश्मदीदों ने बताया- लोग सांस नहीं ले पा रहे थे, जो जहां खड़ा था, वहीं गिर गया; पुलिस बोली- पीड़ितों तक पहुंचना बेहद मुश्किल था

वेंकटपुरम में गुरुवार को जहरीली गैस से एक किशोर बेहोश हो गया। इस हादसे में 2 बच्चे की मौत हो चुकी है। 15 बच्चों की हालत नाजुक है।
X

दैनिक भास्कर

May 08, 2020, 06:26 AM IST

विशाखापट्टनम. आंध्रप्रदेश के विशाखापट्टनम के वेंकटपुरम गांव में गुरुवार तड़के करीब 3 बजे केमिकल फैक्ट्री से स्टाइरीन गैस लीक होने से 11 लोगों की मौत हो गई। इनमें दो बच्चे भी शामिल हैं। गैस एलजी पॉलिमर्स के प्लांट से लीक हुई। स्टाइरीन गैस प्लास्टिक, फाइबर ग्लास, रबर और पाइप बनाने में इस्तेमाल होती है। 

गांव के लोगों ने बताया कि गैस का असर प्लांट के आसपास तीन से चार किमी इलाके में रहा। जो जहां था, वहीं गिर गया। गोपालपट्टनम सर्किल की पुलिस ने बताया कि उन्हें करीब 50 लोग सड़क पर बेहोश मिले। घटनास्थल तक पहुंचने में काफी दिक्कत हुई।

यह तस्वीर गैस लीक के बाद की है। वेंकटपुरम में एलजी पॉलीमर्स इंडस्ट्री 1961 में स्थापित की गई थी। प्लांट लॉकडाउन की वजह से बंद था। हादसे के वक्त कुछ ही लोग मौजूद थे। 
यह तस्वीर वेंकटपुरम के नजदीक एक गांव की है। जहरीली गैस की वजह से बच्चा बीमार हुआ तो एक व्यक्ति गोद में लेकर अस्पताल की तरफ भागा। गैस का असर आसपास के 5 छोटे गांव पर रहा। 
वेंकटपुरम में सुबह जहरीली गैस की वजह से एक महिला को अपनी स्कूटर सड़क पर ही रोकनी पड़ी और बच्ची को गोद में लेकर अस्पताल की तरफ भागी।
वेंकटपुरम में कई लोग चलते-चलते सड़क पर ही बेहोश हो गए। उन्हें दूसरों लोगों ने संभाला और अस्पताल तक पहुंचाया।
गैस लीक से बीमार लोगों की मदद स्थानीय लोगों ने की। इन्हें टेम्पो और दूसरे वाहनों से अस्पताल तक ले गए।
पुलिस को लोग सड़क के किनारे और पुल के नीचे गिरे और बेहोशी की हालत में मिले। 
कुछ लोग बेहोशी की वजह से नाले में गिर गए। मौके पर ही इनकी मौत हो गई।
हादसे की खबर लगते ही कई लोग प्लांट के पास पहुंचे, लेकिन वहीं बेहोश होकर गिर गए।
जहरीली गैस से कई लोग घरों में ही बेहोश हो गए। प्रशासन और रेस्क्यू टीम ने अस्पताल पहुंचाया।
 स्टाइरीन दम घोंट देने वाली गैस है। यह सांसों के जरिए शरीर में चली जाए तो 10 मिनट में ही असर दिखाना शुरू कर देती है। यही वजह रही कि कई लोगों के  मुंह से झाग भी निकला। 
अस्पताल में करीब 200 लोगों को भर्ती किया गया है। इनमें 25 से ज्यादा बच्चे हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना