ट्विटर पर चौतरफा हमला:देश का गलत नक्शा दिखाने पर MP और UP में ट्विटर के MD के खिलाफ FIR, दिल्ली पुलिस ने चाइल्ड पॉर्नोग्राफी का मामला दर्ज किया

4 महीने पहले

देश के नए IT कानून न मानने पर अड़े ट्विटर की घेराबंदी तेज हो गई है। अपनी साइट पर देश का गलत नक्शा दिखाने के मामले में मध्य प्रदेश पुलिस के सायबर सेल ने ट्विटर इंडिया के MD मनीष माहेश्वरी के खिलाफ IT एक्ट के सेक्शन 505 के तहत केस दर्ज कर लिया है। इसी मामले में उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में भी माहेश्वरी के खिलाफ केस दर्ज हुआ है।

इधर, दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने चाइल्ड पोर्नोग्राफिक कंटेट के मामले में ट्विटर के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर लिया है। यह मामला राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) की शिकायत पर दर्ज किया गया है। उत्तर प्रदेश में इस महीने माहेश्वरी पर यह दूसरी FIR दर्ज हुई है। इससे पहले दर्ज हुए एक केस में माहेश्वरी को पिछले हफ्ते कर्नाटक हाईकोर्ट से राहत मिल गई थी, लेकिन UP पुलिस ने इसे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे दी है।

ट्विटर ने एक कानून नहीं माना, अब 4 जगह FIR
देश में लागू हुए नए IT ट्विटर ने मानने से इनकार कर दिया था। संसदीय समिति के सामने भी ट्विटर ने अपनी पॉलिसी मानने की बात कही थी। इसके बाद से ही ट्विटर और सरकार के बीच तनाव बरकरार है। अमेरिकी कानून को मानने की दलील देने वाले ट्विटर पर एक के बाद एक देशी कानूनों के तहत कार्रवाई हुई:

  • गाजियाबाद पुलिस ने मुस्लिम बुजुर्ग से मारपीट और अभद्रता के मामले में ट्विटर के खिलाफ IPC की धारा 153, 153-A, 295-A, 505, 120-B, और 34 के तहत FIR दर्ज की थी। पुलिस ने 17 जून को ट्विटर इंडिया के MD मनीष माहेश्वरी को 7 दिन में पुलिस के सामने पेश होने के लिए समन भेजा था।
  • ट्विटर के MD मनीष माहेश्वरी पर दूसरी FIR भी उत्तर प्रदेश में ही मंगलवार को दर्ज हुई। अपनी साइट पर देश का गलत झंडा दिखाने पर बुलंदशहर में मामला दर्ज किया गया। इस मामले में बजरंग दल के नेता प्रवीण भाटी की तरफ से शिकायत की गई थी।
  • ट्विटर पर तीसरी FIR मंगलवार को दिल्ली पुलिस के सायबर सेल ने दर्ज की। चाइल्ड पोर्नोग्राफिक कंटेट के मामले में यह केस राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की शिकायत पर दर्ज किया गया है।
  • अपनी साइट पर देश का गलत नक्शा दिखाने के मामले में मंगलवार को ही मध्य प्रदेश पुलिस के सायबर सेल ने ट्विटर इंडिया के MD मनीष माहेश्वरी के खिलाफ IT एक्ट के सेक्शन 505 के तहत केस दर्ज किया।

जांच के दौरान NCPCR को गलत जानकारी दी
NCPCR के अध्यक्ष प्रियांक कानूनगो ने कहा कि ट्विटर इंडिया यह मानने को तैयार नहीं है कि उसका पोर्नोग्राफिक कंटेंट बच्चों के लिए ठीक नहीं है। इसके अलावा उन्होंने हमसे ट्विटर इंक से न जुड़े होने के बारे में झूठ बोला। इसके 2 डायरेक्टरों को ट्विटर इंक से सैलरी मिलती है।

जांच करने पर हमने यह भी पाया कि ट्विटर इंक के ट्विटर इंडिया में 99% शेयर हैं। उनके खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। उसी हिसाब से हम अदालत में अपील करेंगे।

UP पुलिस ने माहेश्वरी को समन भेजकर हाजिर होने को कहा था
इससे पहले, गाजियाबाद पुलिस ने ट्विटर इंडिया के MD माहेश्वरी को 17 जून को समन भेजा था। पुलिस ने उन्हें 7 दिन के अंदर पेश होने को कहा था। ये मामला एक मुस्लिम बुजुर्ग से मारपीट और अभद्रता से जुड़ा था। इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद माहेश्वरी समेत 9 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की गई थी। इन सभी पर घटना को गलत तरीके से पेश करने और उसे सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश करने का आरोप है।

हालांकि इस मामले में माहेश्वरी को पिछले हफ्ते कर्नाटक हाईकोर्ट से राहत मिल चुकी है। कोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। साथ ही कहा है कि बेंगलुरू में रह रहे माहेश्वरी को UP जाने की जरूरत नहीं है। अगर UP पुलिस उनसे पूछताछ करना चाहती है तो वर्चुअली कर सकती है।

अब UP पुलिस और ट्विटर आमने-सामने
कर्नाटक हाईकोर्ट के इस आदेश को UP पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। वहीं माहेश्वरी ने भी सुप्रीम कोर्ट में कैविएट दायर कर कहा है कि UP सरकार की पिटीशन लिस्ट करते वक्त उनका पक्ष भी सुना जाए।

MP के गृह मंत्री ने ट्वीट कर ट्विटर पर कार्रवाई के आदेश की जानकारी दी
मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मंगलवार दोपहर को ट्वीट करके ही ट्विटर पर कारवाई का आदेश जारी करने की जानकारी दीथी। मिश्रा ने राज्य के DGP विवेक जौहरी को ट्विटर पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मिश्रा ने ट्विटर पर देश विरोधी रवैया अपनाने का आरोप लगाया है।

ट्विटर ने पिछले हफ्ते IT मंत्री का हैंडल ब्लॉक किया था
ट्विटर ने IT मंत्री रविशंकर प्रसाद का हैंडल शुक्रवार सुबह एक घंटे के लिए ब्लॉक कर दिया था। इसकी वजह ये बताई गई कि प्रसाद ने अमेरिका के डिजिटल मिलेनियम कॉपीराइट एक्ट का उल्लंघन किया है। हालांकि बाद में ट्विटर ने चेतावनी देते हुए रविशंकर प्रसाद का हैंडल फिर से खोल दिया था। इस मुद्दे को लेकर भी सरकार और ट्विटर में टकराव सामने आया था।

खबरें और भी हैं...