पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Uddhav Thackeray Govt Vs Center On Mumbai Outage; Updates From Maharashtra Energy Minister Nitin Raut

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

साइबर अटैक पर केंद्र vs महाराष्ट्र:महाराष्ट्र सरकार बोली- मुंबई पावर कट से जुड़ी सभी रिपोर्ट विधानसभा में रखेंगे, केंद्र ने कहा- चीनी साइबर अटैक के सबूत नहीं

नई दिल्ली/मुंबई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

महाराष्ट्र पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी पर चीनी हैकर्स के साइबर हमले की रिपोर्ट पर अब केंद्र और महाराष्ट्र सरकार आमने-सामने आ गई हैं। महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री नितिन राउत ने इस साइबर हमले को सही बताया है। उन्होंने कहा कि हम इस मामले से जुड़ी सभी रिपोर्ट बुधवार को विधानसभा में रखेंगे। इस बीच, केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने कहा कि हमारे पास चीनी साइबर अटैक के सबूत नहीं। मुंबई में 10-12 घंटे बिजली का गुल रहना मानवीय भूल थी।

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने केंद्र सरकार को चेताया कि साइबर हमले का मुद्दा सिर्फ मुंबई तक ही सीमित नहीं है, बल्कि यह पूरे देश में फैल सकता है। हमें इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए। न्यूयॉर्क टाइम्स ने एक रिपोर्ट में दावा किया था कि गलवान हिंसा के बाद चीनी हैकर्स ने महाराष्ट्र पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी पर हमला किया था। इसकी वजह से पिछले साल 12 अक्टूबर को मुंबई में 10-12 घंटे बिजली गुल रही थी।

केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने सफाई में दिए 3 तर्क ...

पहला तर्क: दो टीमों की जांच में ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं
आरके सिंह ने मंगलवार को कहा कि दो टीमों ने मुंबई पावर आउटेज की जांच की है। पहली टीम ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि घटना मानवीय चूक के कारण हुई थी। यह साइबर हमला नहीं था। दूसरी टीम ने अपनी जांच रिपोेर्ट में बताया है कि साइबर हमला हुआ था, लेकिन यह मुंबई ग्रिड के बंद होने से संबंधित नहीं था।

दूसरा तर्क: डिस्पैच सेंटर पर हमले हुए, लेकिन सिस्टम तक नहीं पहुंचे
सिंह ने कहा कि हमारे उत्तरी और दक्षिणी क्षेत्र के लोड डिस्पैच सेंटर पर साइबर हमले हुए थे, लेकिन मॉलवेयर हमारे ऑपरेटिंग सिस्टम तक नहीं पहुंच पाए। केंद्रीय ऊर्जा मंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने उन्हें जानकारी दी है कि मुंबई में उनके SCADA सिस्टम पर साइबर हमले हुए हैं।

तीसरा तर्क: साइबर हमलों के पीछे चीन या पाक, इसके सबूत नहीं
केंद्रीय ऊर्जा मंत्री ने बताया कि हमारे पास इस बात के सबूत नहीं हैं कि हम यह कह सकें कि ये साइबर हमले चीन या पाकिस्तान की ओर से करवाए गए थे। कुछ लोग कह रहे हैं कि इन हमलों के पीछे जो गिरोह है, वह चीन का है। लेकिन हमारे पास यह साबित करने के लिए सबूत नहीं हैं। चीन निश्चित तौर पर इससे इनकार कर देगा।

1 मार्च को महाराष्ट्र के दो मंत्रियों का दावा
न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के बाद 1 मार्च को महाराष्ट्र के दो मंत्रियों के बयान आए। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने राज्य की साइबर सेल की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि पिछले साल मुंबई में 12 अक्टूबर को बड़े पैमाने पर बिजली गुल होने की घटना का कारण साइबर हमला हो सकता है। देशमुख ने कहा था कि महाराष्ट्र साइबर सेल ने अपनी शुरुआती रिपोर्ट में संभावना जताई थी कि किसी विदेशी सर्वर से डाटा MSEB (राज्य विद्युत बोर्ड) के सर्वर में ट्रांसफर किया गया। हालांकि, देशमुख ने उस देश का नाम नहीं बताया जहां से डाटा स्थानांतरित किया गया होगा।

राज्य के ऊर्जा मंत्री नितिन राउत ने भी मीडिया रिपोर्ट को सही बताते हुए इसे खतरनाक कदम करार दिया था।

न्यूयॉर्क टाइम्स का दावा- मुंबई पावर कट के पीछे चीन का RedEcho ग्रुप
अमेरिका के प्रतिष्ठित अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपनी एक रिपोर्ट में यह खुलासा किया कि चीन के RedEcho ग्रुप ने मुंबई पावर सिस्टम और APT10 ग्रुप ने वैक्सीन मेकर्स पर साइबर अटैक किया था। रिपोर्ट के मुताबिक, गलवान में भारतीय सेना के साथ हुई झड़प के बाद चीनी हैकरों ने पिछले साल 12 अक्टूबर को मुंबई के पावर सप्लाई सिस्टम पर साइबर अटैक किया था। इस घटना के बाद महानगर में करीब 10-12 घंटे तक बिजली सप्लाई ठप रही थी। दो घंटे बाद रेलवे सर्विस तो शुरू कर ली गई थी, लेकिन पूरी तरह दिक्कत को दूर करने में 10-12 घंटे लगे थे। इसे दशक का सबसे खराब पावर फेल्योर बताया गया था।

मीडिया रिपोर्ट में इस बात का दावा किया गया कि मुंबई पावर आउटेज के साथ-साथ चीनी हैकरों ने कोरोना वैक्सीन बनाने वाले पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट पर भी साइबर अटैक किया था। इसमें हैकरों ने IT सिस्टम को निशाना बनाया था।

पूरी खबर पढ़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें...

चीन ने कहा, बिना सबूत आरोप लगाना लापरवाही
चीन ने इन आरोपों पर बयान जारी किया है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है कि चीन हर तरह के साइबर हमलों का विरोध करता है। ऐसे मामले में अंदेशा लगाने का कोई स्थान नहीं है। बिना सबूत के किसी पर आरोप लगाना बहुत ही लापरवाही भरा रवैया है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

और पढ़ें