• Hindi News
  • National
  • Indigo Flight Did Not Deliver The Luggage, The Girl Was Upset, Union Minister Scindia Carried The Luggage To The Gate Of The Hostel

इंडिगो फ्लाइट से नहीं मिला छात्रा का लगेज:सिंधिया ने हॉस्टल के गेट तक पहुंचवाया; लड़की ने ट्विटर में टैग कर की थी शिकायत

3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

इंडिगो की फ्लाइट में देरी के कारण और अलग-अलग एयरपोर्ट बदलने से परेशान छात्रा का लगेज उसके हॉस्टल पहुंच गया है। हॉस्टल तक सामान पहुंचाने में सेंट्रल मिनिस्टर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बड़ी भूमिका निभाई है।

दरअसल, अनुष्का नाम की छात्रा फ्लाइट IndiGO6E में सफर कर रही थी। छात्रा को फ्लाइट की लेट-लतीफी की वजह से 24 घंटे के अंदर 4 अलग-अलग एयरपोर्ट का सहारा लेना पड़ा। जब वह अपने गंतव्य स्थल पर पहुंची तो उसका सामान नहीं मिला और बिना लगेज के ही घर जाना पड़ा।

छात्रा ने गुस्सा किया जाहिर
इंडिगो की फलाइट में सफर के दौरान परेशानी होने वाली छात्रा अनुष्का ने 3 जुलाई को ट्वीट कर अपना गुस्सा जाहिर किया। छात्रा ने कहा कि इंडिगो के साथ मेरा बुरा अनुभव रहा है। उनकी वजह से मुझे कई एयरपोर्ट बदलने पड़े और लगेज न मिलने के कारण परेशान होना पड़ा। जब मैंने इसकी शिकायत की तो मुझे अगले दिन एयरपोर्ट आने को कहा गया।

अनुष्का ने आगे कहा कि मेरा कॉलेज शहर के बाहर है और एयरपोर्ट पहुंचने के लिए 700 से 800 रुपए खर्च करने पड़ते हैं। अब कभी भी मैं इस फ्लाइट में सफर नहीं करूंगी।

लोगों ने सामान वापस लौटाने की कही बात
देखते ही देखते अनुष्का का गुस्से वाला वीडियो सोशल मीडया में वायरल हो गया है। कई लोगों ने इंडिगो के लेट-लतीफी की आलोचना की और छात्रा को सपोर्ट किया। ब्यूरोक्रेट्स इंडिया के ए़डिटर डॉ. नवीन आनंद ने भी इंडिगो को लड़की का सामान लौटाने को कहा।

सिंधिया बोले, आपका सामान हॉस्टल पहुंच गया
सिविल एविएशन मिनिस्टर ज्योतिरादित्य सिंधिया की दखल के बाद छात्रा का लगेज उनके हॉस्टल तक पहुंचा दिया गया। सिंधिया ने ट्वीट कर छात्रा को कहा कि आपका सामान आपको हॉस्टल के गेट के पास पहुंचा दिया है। ख्याल रखिए।

इसके बाद कई लोग सिंधिया के काम की तारीफ करने लगे। ट्वीटर में एक यूजर ने कहा कि सच में सिंधिया पब्लिक सर्वेंट हैं। एक अन्य यूजर ने कहा कि इसे कहते हैं-चट मंगनी, पट ब्याह। कोई समस्या हुई और आपने तुरंत समाधान कर दिया।

ट्विटर के माध्यम से सिंधिया करते हैं लोगों की मदद
ये कोई पहली बार नहीं है, जब सिंधिया ने सोशल मीडिया में की गई शिकायत का समाधान किया है बल्कि इसके पहले इंडिगो एयरलाइंस की ओर से दिव्यांग बच्चे को विमान में चढ़ने से रोका गया था। इसके बाद सिंधिया ने कहा था कि ऐसा व्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके बाद एयरलाइन के CEO ने माफी मांगी थी।

इसके अलावा यूक्रेन और रूस में जारी जंग के बीच भारत ने अपने नागरिकों को एयरलिफ्ट करने के लिए ऑपरेशन गंगा चलाया था। उस दौरान रोमानिया से लौटते समय सिंधिया ने एक घायल छात्रा को फ्लाइट की पीछे की सीट से उठाया और सबसे आगे लाकर बैठा दिया था।

सिंधिया ने घायल छात्रा को इकोनॉमी से बिजनेस क्लास में बैठाया था।
सिंधिया ने घायल छात्रा को इकोनॉमी से बिजनेस क्लास में बैठाया था।