• Hindi News
  • National
  • China blocks India's bid to designate Masood Azhar as global terrorist in UNSC, India disappointed with China. We are still working with members of sanction committee.There is no bigger statement, half of UNSC co sponsors proposal. Hold is not a block. We are optimistic.

मसूद अजहर को लेकर सुरक्षा परिषद में चीन की हुई घेराबंदी, निर्णायक लड़ाई के मूड में आए दुनिया के तीन बड़े देश

चीन को मनाने की आखिरी कोशिशें जारी, फिर भी नहीं माना तो उठाएंगे ये बड़ा कदम

dainikbhaskar.com

Mar 16, 2019, 12:55 PM IST
China blocks India's bid to designate Masood Azhar as global terrorist in UNSC, India disappointed with China. We are still working with members of sanction committee.There is no bigger statement, half of UNSC co-sponsors proposal. Hold is not a block. We are optimistic.

इंटरनेशनल डेस्क. जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकियों की सूची में डालने की कोशिश में बार-बार अड़ंगा लगा रहे चीन को समझाने की आखिरी कोशिश शुरू हो गई हैं। अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस उसे UNSC (संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद) में मनाने की कोशिशें कर रहे हैं, अगर इसके बाद भी वो नहीं मानता है तो तीनों देश इस बार निर्णायक लड़ाई के मूड में हैं। मसूद को लेकर सुरक्षा परिषद में ओपन वोटिंग भी कराई जा सकती है। हालांकि, तीनों देश फिलहाल कैसे भी करके चीन को मनाने की कोशिशें कर रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि चीन की मांग के मुताबिक मसूद के प्रस्ताव के भाषा में कुछ बदलाव भी किया जा सकता है।

सुरक्षा परिषद में हो रहा चीन का विरोध...

- मसूद को बचाने में जुटे चीन को इस बार सुरक्षा परिषद में ही विरोध का सामना करना पड़ रहा है। ज्यादातर सदस्य उसके रवैये से हैरान हैं। उनका सवाल है कि चीन आखिर आतंकी सरगना को बचाना क्यों चाहता है? सूत्रों का कहना है कि कुछ सदस्य देशों ने इस मुद्दे पर चीन से निजी तौर पर बात भी की है।
- सुरक्षा परिषद के एक राजनयिक ने चीन के रवैये पर निराशा जताते हुए कहा कि अगर इस बार भी वो नहीं मानता है तो मसूद को वैश्विक आतंकी की सूची में डालने के लिए दूसरी रणनीति अपनाई जाएगी।
- फिलहाल चीन के अनुरोध पर मसूद के प्रस्ताव की भाषा को कुछ बदला जा सकता है। चीन की आपत्ति आतंकी शब्द की परिभाषा को लेकर है। सूत्रों का कहना है कि सुरक्षा परिषद के सदस्य देशों ने चीन को सुझाव भी भेजे हैं।
- सूत्रों का कहना है कि मसूद मामले में चीन के रवैये में पहले से कुछ बदलाव है, लेकिन अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन अब भी आश्वस्त नहीं हैं कि चीन पूरी तरह से उनकी बात मानेगा। उनका कहना है कि इसी वजह से सुरक्षा परिषद में ओपन वोटिंग कराने के विकल्प पर भी विचार किया जा रहा है।

धैर्य के साथ सारे मामले पर नजर रख रहा है भारत

- उधर मसूद मामले में भारत धैर्य के साथ नजर रखे हुए है। उसे उम्मीद है कि अजहर का नाम वैश्विक आतंकियों की सूची में जरूर डाला जाएगा। सुरक्षा परिषद के 14 सदस्यों का समर्थन उसके साथ है। चीन पाकिस्तान में आर्थिक निवेश कर रहा है, यही वजह है कि वो अजहर मामले में लगातार उसका साथ दे रहा है। चीन को पता है कि पाकिस्तान में कुछ आतंकी संगठन उसके खिलाफ काम कर रहे हैं।
- भारत जानता है कि पाकिस्तान में बहुत से भारतीय हैं। पाक उन लोगों को भारत के हवाले कर सकता है जो उसके यहां मोस्ट वांटेड माने जाते हैं। दाऊद इब्राहिम और सैयद सलाउद्दीन ऐसे ही कुछ नाम हैं। अगर पाक समझता है कि भारत अपने आरोपों को साबित नहीं कर सकता तो वह यह काम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कर सकता है।
- भारत ने अमेरिका के साथ भी हथियारों को लेकर अपनी चिंता साझा की है। अमेरिका ने इस बात के लिए उसकी सराहना भी की कि उसने सही समय पर बात उठाई। उधर, पाक के इस आरोप की पैरवी करने वाला अमेरिका में कोई नहीं है, जिसमें वह भारत को अपने लिए खतरा बताता है।

मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित होने से 4 बार बचा चुका है चीन

- पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका 27 फरवरी को अजहर के खिलाफ सुरक्षा परिषद में प्रस्ताव लेकर आए थे। लेकिन आखिरी वक्त पर चीन ने वीटो लगाते हुए कहा कि वो बिना सबूतों के कार्रवाई के खिलाफ है।
- ये चौथा मौका था जब चीन ने मसूद को बचा लिया। इससे पहले संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में तीन बार (2009, 2016 और 2017) मसूद को ग्लोबल आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव आया था, लेकिन तब भी चीन ने वीटो का इस्तेमाल करते हुए उसे गिरा दिया था।

X
China blocks India's bid to designate Masood Azhar as global terrorist in UNSC, India disappointed with China. We are still working with members of sanction committee.There is no bigger statement, half of UNSC co-sponsors proposal. Hold is not a block. We are optimistic.
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना