• Hindi News
  • National
  • Uttarakhand Kerala Rain News Update; Badrinath National Highway Rescue Video Goes Viral

जारी है बारिश का कहर:उत्तराखंड में अब तक 16 लोगों की मौत, उफान में बह गया नदी का पुल; केरल में खोले गए बांध के गेट

नई दिल्लीएक महीने पहले

देशभर में बारिश का कहर जारी है। उत्तराखंड से लेकर केरल तक भारी बारिश के चलते लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बाढ़ और भूस्खलन के चलते कई लोगों की जिंदगी खतरे में आ गई है। इसी बीच उत्तराखंड के बद्रीनाथ नेशनल हाईवे से एक वीडियो सामने आया है। राज्य में दो दिन में 16 लोगों की मौत हुई है।

सोमवार शाम हाईवे के पास उफनते लामबगड़ नाले में फंसी एक कार को क्रेन की मदद से निकाला गया। कार में यात्री भी सवार थे। भूस्खलन के चलते कार नाले में पत्थरों की वजह से फंस गई थी। बॉर्डर रोड्स ऑर्गेनाइजेशन ने इसका रेस्क्यू किया। वहीं उत्तराखंड के चंपावत में चल्थी नदी में पानी के तेज बहाव की वजह से अंडर कंस्ट्रक्शन ब्रिज गह गया।

आज भी उत्तराखंड में अलर्ट जारी
राज्य में तीन दिन से तेज बारिश हो रही है। इसमें नेपाल के तीन मजदूरों समेत पांच लोगों की मौत हुई है, जबकि दो लोग घायल हुए हैं। उत्तराखंड सरकार ने मौसम ठीक होने तक चारधाम यात्रा को भी रोक दिया है। हिमालय के मंदिरों की तरफ जाने वाले वाहनों की आवाजाही भी रोक दी गई है। नैनीताल जिले के रामगढ़ गांव में बादल फटने की खबरें हैं। यहां नैनीताल झील अपने स्तर से ऊपर बह रही है। झील का पानी सड़कों पर आ गया है और घरों-इमारतों में घुस रहा है।

रिजॉर्ट में भर गया नदी का पानी
उत्तराखंड के DGP अशोक कुमार ने बताया कि रामनगर-रानीखेत रूट पर लेमन ट्री रिजॉर्ट में कोसी नदी का पानी भर जाने से यहां आने-जाने का रास्ता बंद हो गया था। रिजॉर्ट में करीब 100 लोग फंसे हुए थे। सभी सुरक्षित हैं और उन्हें निकालने का काम जारी है।

लेमन ट्री रिजॉर्ट जहां कोसी नदी का पानी भर गया है। यहां 100 लोग फंसे हुए हैं, जिन्हें रेस्क्यू किया जा रहा है।
लेमन ट्री रिजॉर्ट जहां कोसी नदी का पानी भर गया है। यहां 100 लोग फंसे हुए हैं, जिन्हें रेस्क्यू किया जा रहा है।

केरल में खोले गए बांधों के गेट
केरल में बारिश के चलते तबाही का मंजर देखा जा सकता है। यहां 12 से 18 अक्टूबर के बीच बाढ़ और भूस्खलन में 38 लोगों की जान गई है, जबकि 90 घर पूरी तरह बर्बाद हो गए हैं। 702 घरों को भी क्षति पहुंची है। इस बारिश में बड़ी संख्या में लोग बेघर हो गए हैं। बांधों में पानी का स्तर बढ़ने के बाद मंगलवार सुबह 6 बजे एर्नाकुलम जिले में इदामलयार बांध के दो गेट खोले गए।