• Hindi News
  • National
  • Haldwani Uttarakhand । Elephant Stranded । Gaula River । Heavy Rainfall । Halduchaur And Lalkuan । Wildlife Team । Divisional Forest Officer DFO

उफनती नदी में फंसे हाथी का VIDEO:उत्तराखंड के हल्द्वानी की गौला नदी में फंसा हाथी, रेस्क्यू टीम ने मशक्कत के बाद बचाकर जंगल में छोड़ा

हल्द्वानीएक महीने पहले

उत्तराखंड के हल्द्वानी में बारिश के बाद उफनती गौला नदी में फंसे एक हाथी को मंगलवार को रेस्क्यू किया गया। वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से राज्य में तेज बारिश जारी है। प्रदेश की कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं।

बारिश के कारण गौला नदी का जलस्तर बढ़ गया है। मंगलवार को यहां हल्दुचौर और लालकुआं के बीच एक हाथी फंस गया था। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें हाथी नदी के बीच में जमीन के छोटे से टुकड़े पर यहां-वहां दौड़ता नजर आ रहा है।

हाथी को जंगल में छोड़ा
वीडियो को वन विभाग की टीम ने कन्फर्म किया है। DFO संदीप कुमार ने ANI को बताया कि हमें हाथी के नदी के बीचों-बीच फंसे होने की सूचना मिली थी। हमने रेस्क्यू टीम को मौके पर भेजकर किसी तरह उसे बचा लिया। हाथी को जंगल में छोड़ दिया गया है। वन विभाग की टीम उस पर नजर रख रही है।

उत्तराखंड में अब तक 34 की मौत
उत्तराखंड में बाढ़-बारिश से अब तक 34 लोगों की मौत हो चुकी है। यहां मंगलवार को 21 और लोगों की मौत हो गई। सबसे ज्यादा कुमाऊं क्षेत्र प्रभावित है, जहां कई मकान जमींदोज हो गए हैं और मलबे में कई लोग दबे हुए हैं।

नैनीताल का संपर्क राज्य के बाकी हिस्सों से कट गया है। यहां तक आने वाली तीनों सड़कें भूस्खलन के चलते ब्लॉक हो गई हैं। वहीं भारी बारिश के चलते नैनीताल जिले में काठगोदाम रेलवे स्टेशन को जोड़ने वाली रेलवे लाइन भी बह गई है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बाढ़ से मौत होने पर परिवार को 4 लाख रु. और जिनका घर तबाह हो गया है, उन्हें 1.9 लाख रुपए देने की घोषणा की है।

NDRF ने 300 लोगों को रेस्क्यू किया
नेशनल डिजास्टर रिस्पॉन्स फोर्स (NDRF) ने उत्तराखंड में 300 लोगों को रेस्क्यू किया है। NDRF ने राज्य में 15 टीमें तैनात की हैं। इनमें से 6 टीम उधम सिंह नगर में, 2 टीम उत्तराकाशी और 2 चमोली में वहीं एक-एक टीम देहरादून, हरिद्वार और पिथौरागढ़ में तैनात की गई हैं।