पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Vaccine Controversy Arvind Kejriwal News And Updates | Allegations Between The Center And Delhi Government On The Supply Of Vaccine

दिल्ली में वैक्सीन पर सियासत:मनीष सिसोदिया ने कहा- केंद्र से टीके नहीं मिल रहे, हर्ष वर्धन बोले- झूठ की राजनीति कर रही केजरीवाल सरकार

नई दिल्ली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दिल्ली में कोरोना वैक्सीन की सप्लाई पर केजरीवाल सरकार और केंद्र में ठन गई है। दिल्ली के डिप्टी CM मनीष सिसोदिया का कहना है कि केंद्र से वैक्सीन नहीं मिल रही है। इसके जवाब में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि जून में दिल्ली सरकार ने वैक्सीन के 5.6 लाख डोज खरीदे थे। इसके अलावा केंद्र की खरीद के तहत अतिरिक्त 8.8 लाख मुफ्त डोज दिए गए हैं। बाकी सप्लाई जून के आखिर तक पूरी की जाएगी।

डॉ. हर्ष वर्धन के मुताबिक, दिल्ली सरकार के पास पर्याप्त डोज हैं। इसके बावजूद लगातार दो दिन से यहां एक लाख से कम लोगों को टीका लगाया जा रहा है। 21 जून को जब देश में 86 लाख से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगी, इसमें दिल्ली की हिस्सेदारी महज 76 हजार थी। मंगलवार को भी देश भर में 53 लाख से ज्यादा टीके लगे। इस दौरान दिल्ली में 84 हजार लोगों को ही वैक्सीन लगी।

दिल्ली के पास अब भी 9.9 लाख डोज
केंद्रीय मंत्री ने बताया दिल्ली के पास अब भी 9.9 लाख डोज बचे हुए हैं। 21 जून के बाद चाहे केंद्र सरकार की ओर से दिए डोज हों या फिर खुद राज्य के खरीदे हुए सभी डोज 18+ को लगाई जा सकती हैं।हर्ष वर्धन ने कहा कि टीकाकरण को लेकर दिल्ली सरकार झूठ की राजनीति कर रही है। 21 जून को सरकार के पास 11 लाख वैक्सीन थीं, लेकिन दिल्ली के डिप्टी CM कह रहे थे कि वैक्सीन नहीं है।

उधर, आम आदमी पार्टी की विधायक आतिशी का कहना है कि 21 जून को दिल्ली को वैक्सीन का सिंगल डोज नहीं मिला। सरकार ने केंद्र के फर्जी वैक्सीनेशन कैम्पेन के खिलाफ आवाज उठाई तो केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने सोशल मीडिया पर लिखा कि दिल्ली सरकार 18+ को टीका लगाने के लिए 45 साल से ज्यादा उम्र वालों के टीके का इस्तेमाल कर सकती है।

सिसोदिया के दावे से शुरू हुआ विवाद
ये पूरा विवाद मनीष सिसोदिया के एक वीडियो के बाद शुरू हुआ। इसमें उन्होंने कहा था कि मैंने पता किया है जून महीने में दिल्ली को एक भी वैक्सीन नहीं आ रही है। इसके जवाब में डॉ. हर्षवर्धन ने मंगलवार को सोशल मीडिया पर लिखा कि झूठई लेना, झूठई देना, झूठई भोजन, झूठ चबेना। यानि कुछ लोग झूठ ही स्वीकार करते हैं, झूठ ही दूसरों को देते हैं, झूठ का ही भोजन करते हैं और झूठ ही चबाते हैं। रामचरित मानस की यह चौपाई दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्रियों पर सटीक बैठती है।

हर्ष वर्धन बोले- भ्रम की वैक्सीन न लगाएं
हर्ष वर्धन के जवाब देते हुए सिसोदिया ने कहा कि डॉक्टर साहब! क्या भारत सरकार दिल्ली के लिए 21 जून के बाद वैक्सीन की कोई सप्लाई देने जा रही है या दिल्ली सरकार ने जो वैक्सीन खरीदी थीं, जून में केवल उतनी ही मिलेंगी? जुलाई के महीने में भी दिल्ली के लिए केवल 15 लाख वैक्सीन? आप खुद ही सोचिए इस दर से तो अभी 15-16 महीने लगेंगे।

डॉ. हर्ष वर्धन ने देर रात इसका जवाब दिया। उन्होंने लिखा कि दिल्ली की जनता को भ्रम की वैक्सीन न लगाएं और न ही मन के कैल्कुलेटर से आकलन करें। जून में दिल्ली सरकार ने जो 5.6 लाख डोज वैक्सीन खरीदी थीं, उसके अलावा केंद्र से दिल्ली को अतिरिक्त 8.8 लाख मुफ्त डोज दिए गए हैं।