पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मोगा में दो बदमाशों की करतूत:डीसी ऑफिस की चौथी मंजिल पर फहराया खालिस्तानी झंडा, रस्सी काटकर राष्ट्रध्वज साथ ले गए बदमाश

मोगाएक महीने पहले
मोगा में डीसी ऑफिस की चौथी मंजिल पर खालिस्तानी झंडा फहराते दो शरारती तत्व और घटना से पहले आफिस में घुसते आरोपी सीसीटीवी कैमरे में कैद हुए (दाएं)।
  • डिप्टी कमिश्नर के ऑफिस में थी 3 एएसआई की तैनाती, घटना के समय एक ही मौजूद था
  • पंद्रह दिन पहले आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू ने दी थी खालिस्तानी झंडा फहराने की धमकी
  • सीसीटीवी फुटेज में 8 बजकर 13 मिनट पर 25 से 30 साल के दो आरोपी घुसते दिखे
  • दो घंटे बैठक के बाद राष्ट्रध्वज का अपमान करने के अलावा धारा 121, 121ए, 124ए, 153 और 153ए के तहत केस दर्ज

मोगा में शुक्रवार को आजादी दिवस से ठीक एक दिन पहले देश की एकता-अखंडता को ठेस पहुंचाने की कोशिश की गई है। यहां सुबह जब लोग रोजमर्रा के काम को निकल ही रहे थे, दो युवकों ने डिप्टी कमिश्नर ऑफिस में घुसकर न सिर्फ हमारे राष्ट्र ध्वज का अपमान किया, बल्कि बिल्डिंग की चौथी मंजिल पर जाकर खालिस्तानी झंडा भी लगा दिया। केसरी रंग के झंडे में खंडा (सिख पंथ में मान्यता प्राप्त निशान) छपा हुआ था और साथ ही खालीस्तान लिखा हुआ था। इसके बाद प्रशासन को हाथों-पैरों की पड़ गई। आनन-फानन में पुलिस ने खालिस्तान के प्रतीक केसरी झंडे को उतारकर वहां फिर से नया तिरंगा फहराया। साथ ही केस दर्ज करके छानबीन का क्रम शुरू हुआ।

डीसी ऑफिस की छत पर फहराया गया विवादित केसरी झंडा, जिसमें खंडा (सिख पंथ में मान्यता प्राप्त निशान) छपा हुआ था और साथ ही खालीस्तान लिखा हुआ था।
डीसी ऑफिस की छत पर फहराया गया विवादित केसरी झंडा, जिसमें खंडा (सिख पंथ में मान्यता प्राप्त निशान) छपा हुआ था और साथ ही खालीस्तान लिखा हुआ था।

सीसीटीवी फुटेज में दिखे 25 से 30 साल के दोनों आरोपी, लोगों ने भी झंडा लगाते देख वीडियो बनाकर वायरल किया: डिप्टी कमिश्नर (डीसी) ऑफिस में तीन एएसआई मक्खन सिंह, तलविंदर सिंह और निर्मल सिंह की तैनाती थी, लेकिन घटना के समय उनमें से एक ही वहां मौजूद था। उसे किसी ने इस घिनौनी हरकत के बारे में बताया और जब उसने आरोपियों को राष्ट्रध्वज को ले जाते देखा तो पूछा भी, पर दोनों बिना कुछ बोले ही आगे बढ़ते रहे। एएसआई ने पीछा तो जरूर किया, लेकिन दोनों आरोपी भागने में कामयाब रहे। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में 8 बजकर 13 मिनट पर 25 से 30 साल की उम्र के दो आरोपियों को कॉम्पलेक्स में घुसते देखा जा सकता है। इनमें ये खालिस्तानी समर्थक एक युवक सिख वेशभूषा में तो दूसरा हिंदू परिधान में नजर आ रहा है। दोनों बेखौफ ऊपर तक पहुंचे और जिस वक्त खालिस्तानी झंडा लगा रहे थे, फ्लाईओवर पर मौजूद कुछ लोगों ने वीडियो बनाकर इसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

खालिस्तानी झंडा उतारने के बाद नया राष्ट्रध्वज फहराते पुलिस अधिकारी।
खालिस्तानी झंडा उतारने के बाद नया राष्ट्रध्वज फहराते पुलिस अधिकारी।

एसएसपी बोले-पकड़ में आ जाएं, फिर बताएंगे खालिस्तान क्या होता है: घटना के बारे में पता चलने के बाद डिप्टी कमिश्नर संदीप हंस और एसएसपी हरमनबीर सिंह गिल समेत तमाम आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। वहां पुलिस ने विवादित केसरी झंडे को उताकर नया तिरंगा लगाया। साथ ही दो घंटे बैठक करने के बाद दो अज्ञात आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रध्वज का अपमान करने के अलावा धारा 121, 121ए, 124ए, 153 और 153ए के तहत केस दर्ज किया है। इस बारे में एसएसपी हरमनबीर सिंह गिल ने कहा कि शरारती तत्वों की यह हरकत बहुत ही कायराना है। चंद रुपयों के लालच में भूल कर बैठे। सिर्फ चोरी-छिपे झंडा लगाने से खालिस्तान नहीं बन जाएगा। पुलिस ने आरोपियों को पकडऩे के लिए टीमें बना दी है। पकड़ में आने पर बताएंगे खालिस्तान क्या होता है।

आतंकी पन्नू ने 2500 डॉलर देने का किया था वादा: अब भले ही प्रशासन सुरक्षा बढ़ाने और आज हुई घटना की जांच की बात कर रहा है, पर असल में यह बहुत बड़ी लापरवाही का नतीजा है। बता दें कि 15 दिन पहले ही भारत विरोधी संगठनों ने ऐसी घटना की चेतावनी दी थी। दूसरी ओर कुछ ही दिन पहले देश की सरकार की तरफ से ब्लैक लिस्टेड किए गए खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत पन्नू ने एक ऑडियो वायरल करके कहा था कि 15 अगस्त को लोग अपने घरों पर खालिस्तानी झंडा लहराएं। इसके बदले उन्हें 2500 अमेरिकन डॉलर दिए जाएंगे।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें