पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Weather Today Updates: Cold Wave, Temperature Weather Latest News On New Delhi, Madhya Pradesh, Rajasthan, Himachal Pradesh, Haryana, Punjab, Bihar, Uttar Pradesh, Sikkim

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दिल्ली में सर्दी का 119 साल का रिकॉर्ड टूटा, दिन में 9.4° से ऊपर नहीं चढ़ पाया पारा, उत्तर भारत के 8 राज्यों में शीतलहर

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
देश के उत्तरी हिस्से में पहाड़ों पर लगातार बर्फबारी हो रही है।
  • कोल्ड डे और सीवियर कोल्ड डे: पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली, उत्तरी राजस्थान, उत्तर प्रदेश
  • तीव्र शीतलहर: उत्तर-पश्चिम और उत्तर भारत के 8 राज्यों में अगले दो दिनों तक तीखी सर्दी
  • कोहरा: पंजाब हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली, उत्तरी राजस्थान, उत्तर प्रदेश और उत्तरी मध्यप्रदेश
  • बारिश: मध्य और उत्तर-पश्चिम भारत में बारिश की संभावना, 1 और 2 जनवरी को ओले भी गिर सकते हैं

नई दिल्ली/जयपुर/भोपाल/चंडीगढ़/शिमला/श्रीनगर. दिल्ली में सर्दी ने 119 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। दिल्ली के तीनों केंद्रों पर सोमवार (30 दिसंबर) को दिन का अधिकतम तापमान 9.4° रहा, जो 1901 के बाद सबसे कम है। सोमवार को दोपहर 2:30 बजे पालम में 9.0°, आया नगर में 7.8°, रिज में 8.4° और लोधी रोड में 9.2° अधिकतम तापमान रिकॉर्ड किया गया। दिल्ली में 28 दिसंबर, 1997 सबसे ज्यादा सर्दी पड़ी थी। उस समय दिन का अधिकतम तापमान 11.3° सेल्सियस रहा था, लेकिन सोमवार को यह रिकॉर्ड टूट गया। सोमवार सुबह दिल्ली का न्यूनतम तापमान 3° से नीचे दर्ज हुआ था। वहीं, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, दिल्ली-एनसीआर, मध्यप्रदेश, बिहार, पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश में शीतलहर चल रही है। घने कोहरे के कारण दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट से 16 उड़ानें डायवर्ट हुईं और 4 को रद्द कर दिया गया। यहां 530 फ्लाइटों ने देरी से उड़ान भरी।


लद्दाख की द्रास घाटी और जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में तापमान लगातार माइनस में बना हुआ है। राजस्थान के जयपुर में सर्दी ने 55 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। सोमवार को जयपुर में न्यूनतम तापमान 1° रहा। एक सप्ताह से जारी सर्दी से फिलहाल राहत मिलने के आसार नहीं हैं। मौसम विभाग ने 30 दिसंबर से 02 जनवरी तक देश के कई राज्यों में बारिश की चेतावनी जारी की है, जिसके बाद तापमान में और गिरावट आ सकती है। सिक्किम, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और लद्दाख में बर्फबारी की संभावना भी जताई गई है।

दिल्ली: तेज सर्दी के साथ घना कोहरा
दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में सोमवार का न्यूनतम तापमान 3° सेल्सियस ने नीचे दर्ज किया गया। लोधी रोड में 2.2°, आया नगर में 2.5°, सफदरजंग में 2.6° और पालम में न्यूनतम तापमान 2.9° दर्ज हुआ। दिल्ली हवाई अड्डे पर कम दृश्यता के चलते केवल कंप्यूटर संचालित लैंडिंग प्रणाली ही काम कर पा रही है। केट-III B (कंप्यूटर की मदद से विमान को लैंड कराने की प्रक्रिया) तकनीक से लैस विमान और प्रशिक्षित पायलट ही यहां से टेक ऑफ और लैंडिंग कर पा रहे हैं। कैट-III B का मतलब है कि रनवे पर विजुअल रेंज (आरवीआर) 50 मीटर और 175 मीटर के बीच है। दिल्ली की एयर क्वालिटी भी बेहद खराब श्रेणी में आ गई है।

दिल्ली के इलाकेसोमवार दोपहर तापमान सोमवार सुबह तापमान
पालम9.02.9
आया नगर7.82.5
सफदरजंग9.42.6
लोधी रोड9.2°2.2

राजस्थान: लगातार रिकॉर्ड तोड़ रही सर्दी
जयपुर में सर्दी ने 55 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। सोमवार सुबह का तापमान 1° दर्ज किया गया। इसके साथ ही रविवार की रात दिसंबर की सबसे ठंडी रात रही। जोबनेर में लगातार तीसरी रात पारा माइनस में बना रहा। बीती रात यहां न्यूनतम पारा -1 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ। रविवार को कोहरे के चलते जयपुर से 3 फ्लाइट डायवर्ट की गईं और एक को रद्द करना पड़ा।

राजस्थान के शहरसोमवार सुबह तापमान
फतेहपुर0.0
सीकर0.0
माउंटआबू1.0
जयपुर

1.0

जोबनेर-1.0

जम्मू-कश्मीर/लद्दाख: घाटी में हर जगह माइनस में पारा
सोमवार को लेह का न्यूनतम तापमान -20° दर्ज किया गया, जो रविवार के -19° से एक डिग्री कम है। वहीं श्रीनगर, द्रास, गुलमर्ग समेत घाटी के लगभग सभी इलाकों में न्यूनतम तापमान माइनस में ही बना हुआ है। कई जगह नदियां, झीलें और झरने तक जम गए। आगे भी बर्फबारी की चेतावनी दी गई है।

घाटी के शहरसोमवार सुबह तापमान
श्रीनगर-6.5
द्रास-27
लेह-20
गुलमर्ग-7.8

मध्यप्रदेश: ग्वालियर और दतिया सबसे ठंडे
रविवार को 8 शहरों में सीवियर कोल्ड डे और 2 में कोल्ड डे रहा। लगभग पूरे प्रदेश में शीतलहर चली। घने कोहरे ने खजुराहो, ग्वालियर समेत कई शहरों में जनजीवन बुरी तरह प्रभावित किया। खजुराहो में रविवार सुबह विजिबिलिटी शून्य रही, यानी एक फीट दूर देखना भी मुश्किल था। प्रदेश में ग्वालियर और दतिया सबसे ठंडे रहे। ग्वालियर में तापमान गिरकर 2.0 पर पहुंच गया।

मप्र के शहरसोमवार सुबह तापमान
भोपाल7.0
ग्वालियर2.0
जबलपुर6.2
इंदौर10.8
पचमढ़ी3.8

हिमाचल प्रदेश: लाहौल स्पीति में -22° सेल्सियस
लाहौल-स्पीति में तापमान -22° सेल्सियस रहा। रोहतांग दर्रा और केलांग में भी तापमान शून्य से काफी नीचे बना हुआ है। हालांकि राजधानी शिमला और पर्यटन स्थल मनाली में हालात कुछ बेहतर हुए हैं, लेकिन कड़ाके की सर्दी बरकरार है। मौसम विभाग ने 48 घंटों के बाद बर्फबारी और बारिश की संभावना जताई है। 

हिमाचल के शहरसोमवार सुबह तापमान
शिमला3
रोहतांग दर्रा-8
केलांग-11
कल्पा2
मनाली1
लाहौल-स्पीति-22

उत्तर प्रदेश: 8 शहरों में पारा 2° सेल्सियस पहुंचा
रविवार को कानपुर देहात, उन्नाव, चित्रकूट, हमीरपुर, महोबा, फतेहपुर, सहारनपुर और सुलतानपुर सबसे अधिक ठंडे रहे, यहां न्यूनतम तापमान 2° सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि सोमवार रात को कानपुर, उन्नाव, लखनऊ, बिजनौर, आगरा और बांदा में तापमान में और भी कमी आ सकती है।

उप्र के शहरसोमवार सुबह तापमान
लखनऊ6.7
वाराणसी2.3
प्रयागराज4.1
गोरखपुर5.2

30 ट्रेनें लेट, कई गाड़ियों का समय बदला
कोहरे ने रेल सेवाओं पर भी असर डाला है। केवल उत्तर रेलवे ने ही 30 गाड़ियों के देरी से चलने की सूचना दी है। इसके अलावा अलग-अलग जोन से उत्तर और पूर्वी भारत की तरफ जाने वाली गाड़ियां भी देरी से चल रही हैं। कम दूरी की कई गाड़ियों के समय में बदलाव किया गया है। 

इस साल दिसंबर इतना सर्द क्यों?

बादलों का 300 मीटर ऊंचाई पर होना: वैज्ञानिकों के मुताबिक, पाकिस्तान से लेकर बांग्लादेश तक 500-800 किमी के इलाके में बादल काफी नीचे हैं। इसकी वजह से ठंड बढ़ गई है और इसका प्रभाव पूरे उत्तर भारत पर पड़ रहा है। 1997 के बाद से अब तक भारत में बादलों की इस तरह की स्थितियां विशेष हैं। इनकी ऊंचाई समुद्र तल से 300-400 मीटर तक है। ऐसे में ये सूर्य की रोशनी को रोक रहे हैं, जिससे सर्दी बढ़ रही है।

पश्चिमी विक्षोभ और उत्तर-पश्चिमी हवाएं: लगातार पश्चिमी विक्षोभ के चलते पूरे उत्तर भारत में ठंड बढ़ी है। उत्तर-पश्चिम भारत में उत्तर-पश्चिमी हवाएं भी आ रही हैं और यह सामान्य से काफी नीचे बह रही हैं। इसकी वजह से भी सर्दी बढ़ी। इसके चलते आमतौर पर दिसंबर में जितना तापमान रहता है, उससे कम दर्ज किया जा रहा है।

पर्यावरण परिवर्तन: इस तथ्य को नजरंदाज नहीं किया जा सकता। ज्यादा सर्द दिसंबर इस बात का सबूत है। पिछले कुछ साल से पूरी दुनिया में शीत लहर और गर्म हवाओं की तीव्रता और आवृत्ति बढ़ी है। ऐसा अनुमान है कि यह आगे भी बढ़ता ही रहेगा। ऐसा ही मामला भीषण सूखे और अति वर्षा का भी है। इस साल भारत में अगस्त और सितंबर में आमतौर पर होने वाली बारिश से ज्यादा वर्षा हुई। सितंबर में 100 साल बाद ऐसी बारिश हुई। वैज्ञानिकों का कहना है कि पर्यावरण परिवर्तन मौसम के व्यवहार में अनिश्चितता को बढ़ा रहा है। इसका अनुमान लगाना और मुश्किल होता जा रहा है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें