• Hindi News
  • National
  • Weather Trend Is Changing In Rajasthan, Below 5° In 12 Cities Of The State; Madhya Pradesh, Chhattisgarh Also Remained Cold Day

ठंड के ठाठ:राजस्थान के 12 शहरों में 5° से नीचे; मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ भी रहा कोल्ड डे

5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फोटो | निधि उमट - Dainik Bhaskar
फोटो | निधि उमट

लगातार छठे राजस्थान के माउंट आबू यहां पारा माइनस में रहा, जयपुर का पारा भी 6 डिग्री पहुंचा
हिल स्टेशन माउंट आबू में गुरुवार रात को सर्दी ने सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए। पहली बार यहां पारा माइनस 5 डिग्री पहुंच गया। यह आबू के इतिहास में सबसे सर्द रात रही। इससे पहले 29 जनवरी 2021 को यहां पारा -4.6 डिग्री रहा था। पिछले 6 दिन से लगातार यहां तापमान माइनस में है। इसके अलावा प्रदेश के 12 शहरों भी पारा 5 डिग्री से नीचे रहा। जयपुर में तो यह 6 डिग्री पर पहुंच गया।

एक्सपर्ट : कोल्ड वेव से सर्दी, 2-3 दिन तक रहेगा असर रहेगा
मौसम विशेषज्ञ राधेश्याम शर्मा के अनुसार, पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी और वहां से आ रही कोल्ड वेव से प्रदेश व खासकर माउंट आबू में पारा गिरा है। अभी कोई वेदर सिस्टम नहीं बन रहा है। अगले 2-3 दिन ऐसा ही मौसम रहेगा।

भोपाल में पिछले 5 दिन में तीन कोल्ड डे रहे हैं। उत्तर की बर्फीली हवा ने शहर का तापमान गिरा दिया है।
भोपाल में पिछले 5 दिन में तीन कोल्ड डे रहे हैं। उत्तर की बर्फीली हवा ने शहर का तापमान गिरा दिया है।

भोपाल में 5 दिन में तीसरा कोल्ड-डे, आज भी आसार, तापमान फिर 20 डिग्री से नीचे
संक्रांति पर शुक्रवार को भोपाल में दिन का तापमान फिर 20 डिग्री से नीचे पहुंच गया। दिनभर छाए कुहासे ने सूरज की किरणों को रोका तो उत्तर की बर्फीली हवा ने फिजा में ठंडक घोले रखी। दिन का तापमान 19.9 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 5 डिग्री कम रहा। इसमें 0.9 डिग्री की गिरावट हुई। पिछले 5 दिन में यह तीसरा कोल्ड डे रहा। मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि कुहासा छाए रहने से दिनभर विजिबिलिटी 300 मीटर बनी रही।

इस कारण धूप निकलने के बावजूद तापमान नहीं बढ़ सका। हवा का रुख उत्तरी ही बना है। रात का तापमान 9.2 डिग्री दर्ज किया गया। इसमें 1.5 डिग्री का इजाफा हुआ। इसके बावजूद यह सामान्य से 2 डिग्री कम रहा। शाम को 16 किमी की रफ्तार से ठंडी हवा भी चली। साहा के मुताबिक इस बार शहर में कोल्ड डे का 10 साल पुराना रिकॉर्ड टूट सकता है। 2012 में जनवरी में 5 दिन कोल्ड डे रहा था।

आज ठंडी हवा का दौर भी चलेगा, 9 से 100 के बीच रहेगा रात का पारा
मौसम केंद्र द्वारा जारी किए गए पूर्वानुमान के मुताबिक शनिवार को भी कोल्ड डे रहने की संभावना है। रात का तापमान भी 9 से 10 डिग्री के बीच रहने का अनुमान है। ठंडी हवा का दौर जारी रह सकता है।

बदल रहा है ट्रेंड, क्योंकि अब जनवरी में रात के साथ दिन भी होने लगे हैं ठंडे
मौसम विशेषज्ञ एके शुक्ला ने बताया कि जनवरी में ठंड का ट्रेंड बदलने लगा है। रात के साथ दिन भी ठंडे होने लगे हैं। पिछले 1 हफ्ते से दिन का तापमान सामान्य से कम बना है। आगे भी ऐसा ही रह सकता है। वेस्टर्न डिस्टरबेंस फ्रीक्वेंसी बढ़ना इसकी खास वजह है।

-----------------------------------

Raipur

द्रोणिका और चक्रवात का असर कम, लेकिन बस्तर में होगी हल्की वर्षा

आज भी कोहरे की शाम, ठंड की रात

छत्तीसगढ़ में शुक्रवार को कई जगह बादल छटे हैं, लेकिन शाम को ठंडी हवा से फिर ठिठुरन बढ़ गई।
छत्तीसगढ़ में शुक्रवार को कई जगह बादल छटे हैं, लेकिन शाम को ठंडी हवा से फिर ठिठुरन बढ़ गई।

छत्तीसगढ़ में चक्रवात और द्रोणिका का असर कम होने लगा है। इस वजह से शुक्रवार को दोपहर के बाद मध्य और उत्तरी छत्तीसगढ़ में कई जगह बादल छंटे और थोड़ी-थोड़ी देर के लिए धूप निकली। लेकिन शाम को चली तेज ठंडी हवा से प्रदेश के अधिकांश हिस्से में ठिठुरन बढ़ गई है। मौसम विशेषज्ञों ने शनिवार को मौसम खुलने तथा रात की ठंड बढ़ने के आसार जताए हैं। हालांकि बस्तर में नमी ज्यादा रहेगी, इसलिए वहां कई जगह हल्की बारिश की संभावना है। मध्य और उत्तरी छत्तीसगढ़ के अधिकांश स्थानों में शनिवार और सुबह और शाम को घना कोहरा छा सकता है।

दिसंबर के आखिरी सप्ताह और जनवरी के दूसरे हफ्ते में बारिश से प्रदेश का मौसम बिगड़ा हुआ है। एक तरफ कोरोना के कारण लोगों में खौफ है वहीं मौसम के अचानक बदलने से लोगों में सर्दी-खांसी की तकलीफें बढ़ गई है। अब जल्द ही इससे राहत मिलेगी, क्योंकि मौसम खुलने में देर नहीं है। फिर भी मौसम विभाग का कहना है कि शनिवार को बस्तर संभाग के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है। रायपुर संभाग में भी थोड़ी-बहुत बारिश और बूंदाबांदी हो सकती है। इसके बाद मौसम साफ होगा। उत्तरी छत्तीसगढ़ में मौसम खुलना शुरू हो गया है और उम्मीद की जा रही है कि शनिवार को कहीं-कहीं पर घना कोहरा भी छाएगा।

दिन का तापमान अभी भी कम
मौसम विभाग के डाटा के अनुसार दिन का तापमान अभी भी सभी जगहों पर थोड़ा कम है। बिलासपुर, रायपुर, दुर्ग, राजनांदगांव, अंबिकापुर और पेंड्रारोड तथा जगदलपुर आदि जगहों पर यह 17 से 26 डिग्री के बीच है। सभी जगह तापमान सामान्य से दो से आठ डिग्री कम है। रात का तापमान 12 से 17 डिग्री के बीच है, जो सामान्य के बराबर या तीन से पांच डिग्री ज्यादा है। मौसम विभाग का कहना है कि उत्तरी कर्नाटक से आंतरिक उत्तरी ओडिशा तक एक द्रोणिका है। दक्षिण तमिलनाडु के आसपास एक चक्रवात बना हुआ है। इनके असर से समुद्र से नमी आ रही है।

ठंड के लिए मशहूर कबीरधाम जिले की चिल्फी घाटी में दोपहर तक कोहरा

कवर्धा में दिन भर रुक रुककर बारिश होती रही।
कवर्धा में दिन भर रुक रुककर बारिश होती रही।

कवर्धा में मौसम में आए बदलाव के चलते कबीरधाम जिले में बीते 5 दिन से बारिश का दौर चल रहा है। शुक्रवार को भी जिले के अधिकांश इलाकों में बारिश हुई। कवर्धा में दिनभर रुक- रुककर बारिश होती। पंडरिया में भी लगभग यही हालात रहे। चिल्फी में दोपहर के वक्त कोहरा छाया हुआ था। इसके चलते विजिबिलिटी 100 मीटर से कम रही।

-----------------------------------

शिमला में अब भी नहीं लौटा पटरी पर जीवन: 224 सड़कें बंद, 157 खंभे टूटे; 16 जनवरी से फिर बर्फबारी

शिमला | प्रदेश में हुई बर्फबारी से जनजीवन अभी पूरी तरह से पटरी पर नहीं लाैट पाया है, इधर माैसम विभाग ने 16 जनवरी से प्रदेश में फिर से बारिश और बर्फबारी का पूर्वानुमान जारी किया है। प्रदेश में हुई भारी बर्फबारी से 224 सड़कें अभी भी यातायात की आवाजाही के लिए बंद है। 157 बिजली के खंभे अभी भी टूटे हुए हैं, पानी की 47 स्कीमें ठप हैं। प्रदेश के डलहाैजी, सलूणी, भरमाैर और पांगी सब डिविजन में 6, कल्पा और पूह में 4, बंजार, कुल्लू और आनी में 27, एनएच-305 जलाेडी के पास और एनएच- 3 राेहतांग पास , लाहाैल, उदयपूर, स्पीति में 130, एनएच-505 ग्राम्फू और एनएच-3 दारचा से सारचू के पास बंद है। इसी तरह मंडी और सिराज में 22, शिमला के कुमारसैन, राेहडू, काेटखाई, चाैपाल, ठियाेग, रामपुर और डाेडरा क्वार में 35 सड़कें बंद है। चंबा में 80, कुल्लू में 18, लाहाैल स्पीति में 1, मंडी में 7 और शिमला में 51 बिजली के खंभे अभी भी खराब चल रहे हैं। माैसम विभाग ने 16 जनवरी से पश्चिमी विक्षोभ के एक बार फिर सक्रिय हाेने की बात कही है। 17-18 जनवरी को भी इन इलाकों में बर्फबारी की संभावना जताई है। शिमला सहित राज्य के मध्यपर्वतीय क्षेत्रों में 17 जनवरी को बारिश व बर्फबारी हाे सकती है। इस दौरान राज्य के मैदानी हिस्सों में मौसम साफ बना रहेगा। अगले 24 घंटों में मैदानी भागों में घने कोहरे की चेतावनी है।

तस्वीर हरियाणा के गुड़गांव की है।
तस्वीर हरियाणा के गुड़गांव की है।

2021 इतिहास का पांचवां सबसे गर्म साल रहा
नई दिल्ली | जलवायु परिवर्तन का असर साफ दिखने लगा है। बीते साल यानी 2021 में भारत में हवा का औसत तापमान सामान्य से 0.44 डिग्री सेल्सियस ज्यादा रहा। यह 1901 से अब तक पांचवां सबसे गर्म वर्ष रहा। विशेषज्ञों के मुताबिक ऐसा सर्दियों के दौरान जनवरी-फरवरी और मानसून के बाद अक्टूबर से दिसंबर के बीच औसत तापमान ज्यादा रहने से हुआ है। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के सालाना क्लाइमेट स्टेटमेंट के मुताबिक पिछले साल जनवरी-फरवरी (सर्दी) में औसत तापमान सामान्य से 0.78 डिग्री सेल्सियस अधिक था। प्री-मानसून (मार्च से मई) के वक्त औसत तापमान सामान्य से 0.35 डिग्री सेल्सियस और मानसून के दौरान (जून से सितंबर) औसत तापमान सामान्य 0.34 डिग्री अधिक रहा।