• Hindi News
  • National
  • West Bengal Assembly Election 2021 | Chief Minister Mamata Banerjee Conduct A Roadshow On A Wheelchair, CM Mamata Banerjee On Wheelchair, TMC Manifesto, BJP, PM Modi

बंगाल का सियासी घमासान:नंदीग्राम में घायल होने के 3 दिन बाद ममता का व्हील चेयर पर 5 किमी लंबा रोड शो; कहा- जख्मी शेर ज्यादा खतरनाक होता है

कोलकाता9 महीने पहले

तृणमूल कांग्रेस (TMC) की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार दोपहर व्हील चेयर पर करीब 5 किलोमीटर लंबा रोड शो किया। नंदीग्राम में घायल होने के बाद यह उनका पहला चुनावी कार्यक्रम था। इस दौरान ममता के समर्थक एक नारा लगाते रहे- भोंगो पाये खेला होबे! (टूटे पैर से खेलेंगे)।

बंगाल की सियासत में इन दिनों 'खेला होबे' शब्द काफी इस्तेमाल हो रहे हैं। 10 मार्च को नंदीग्राम में नामांकन के बाद प्रचार करते वक्त ममता के बाएं पैर, सिर और सीने में चोट लगी थी। बदले हालात में ममता समर्थकों ने नया नारा गढ़ दिया है। इस दौरान ममता ने भी कहा कि घायल शेर ज्यादा खतरनाक होता है।

वहीं, अब BJP ने मुख्य चुनाव अधिकारी को एक पत्र लिखा है। इसमें BJP की तरफ से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की ट्रीटमेंट हिस्ट्री सार्वजनिक करने की मांग की है। BJP ने लिखा, सच्चाई को सार्वजनिक करना आवश्यक है, जिससे आगे इस तरह की नाटकीय घटनाओं से वोटर्स के साथ धोखा न हो पाए और उनके वोट का हेरफेर न कर सके।

व्हील चेयर पर ही पूरे प्रदेश में प्रचार करेंगी
पार्टी के सीनियर नेताओं और समर्थकों की भीड़ के साथ ममता ने दक्षिण कोलकाता के मेयो रोड पर गांधी मूर्ति से मार्च शुरू किया। 1 घंटे चले रोड शो के बाद ममता ने हजरा में रैली की। उन्होंने कहा कि मुझे रोकने के लिए नाकाम कोशिशें की गईं। मैं TMC के लिए व्हील चेयर पर ही पूरे प्रदेश में प्रचार करूंगी। मैंने अपने जीवन में कई हमलों का सामना किया है, लेकिन कभी किसी के सामने आत्मसमर्पण नहीं किया। मैं कभी अपना सिर नहीं झुकाऊंगी।

सोमवार को दुर्गापुर में 2 रैलियां
ममता ने बताया कि डॉक्टरों ने उन्हें सलाह दी थी कि मैं आज प्रचार के लिए न जाऊं, लेकिन मुझे लगा कि यह रैली करनी चाहिए। मेरी चोट की वजह से हम पहले ही कुछ दिन गंवा चुके हैं। उन्होंने कहा कि वह रविवार की शाम को दुर्गापुर के लिए रवाना होंगी। वहां वे सोमवार को 2 रैलियां करेंगी।

रोड शो से पहले ममता ने सोशल मीडिया पर लिखा कि हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे, हम निडर होकर लड़ेंगे। अब भी मुझे काफी दर्द हो रहा है, लेकिन मैं लोगों का दर्द ज्यादा महसूस कर रही हूं। हमने अपनी जमीन की इस लड़ाई में बहुत नुकसान उठाया है। हम और भी बहुत तकलीफ झेलनी पड़ेगी, लेकिन हम फिर भी लड़ेंगे। हम डरपोक लोगों के सामने कभी नहीं झुकेंगे।

शुक्रवार को ही अस्पताल से डिस्चार्ज हुईं ममता
ममता बनर्जी नंदीग्राम में बुधवार शाम को घायल हो गई थीं। उन्हें पैर में चोट लगी है। ममता को शुक्रवार को अस्पताल से छुट्टी मिली थी। चोट लगने के बाद होने के बाद यह उनका पहला चुनावी कार्यक्रम है। इस बीच, TMC ने एक बार फिर अपने चुनावी घोषणा-पत्र का ऐलान टाल दिया है। अगली तारीख की घोषणा जल्द की जाएगी।

ममती की रैली के लिए मंच पर खास रैम्प बनाए गए हैं, ताकि व्हील चेयर के जरिए उन्हें आसानी से मंच पर लाया जा सके।
ममती की रैली के लिए मंच पर खास रैम्प बनाए गए हैं, ताकि व्हील चेयर के जरिए उन्हें आसानी से मंच पर लाया जा सके।

लगातार रैलियां करेंगी ममता
सूत्रों के मुताबिक, ममता 15 मार्च से लगातार चुनावी रैलियों में हिस्सा लेंगी। वे 15 मार्च को पुरुलिया, 16 मार्च को बांकुरा और 17 मार्च को झारग्राम में चुनावी रैली को संबोधित करेंगी।

स्पेशल ऑब्जर्वर्स ने चुनाव आयोग को सौंपी रिपोर्ट
ममता पर नंदीग्राम में कथित हमले को लेकर शनिवार देर शाम स्पेशल ऑब्जर्वर विवेक दुबे और अजय नायक ने अपनी जांच रिपोर्ट चुनाव आयोग (EC) को सौंप दी। इसमें बताया गया कि ममता के साथ हुई घटना एक हादसा थी। उनके काफिले पर किसी भी तरह के हमले के कोई सबूत नहीं मिले। ममता के साथ उस दिन पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था थी।

सूत्रों के मुताबिक, बंगाल के मुख्य सचिव और चुनाव आयोग द्वारा नियुक्त दो विशेष ऑब्जर्वर की रिपोर्ट पर इलेक्शन कमीशन रविवार को बयान जारी कर सकता है। अभी आयोग को बंगाल के मुख्य सचिव के विस्तृत रिपोर्ट का इंतजार है।

बंगाल में 8 फेज में चुनाव
पश्चिम बंगाल की कुल 294 विधानसभा सीटों के लिए इस बार 8 फेज में वोटिंग होगी। 294 सीटों वाली विधानसभा के लिए वोटिंग 27 मार्च (30 सीट), 1 अप्रैल (30 सीट), 6 अप्रैल (31 सीट), 10 अप्रैल (44 सीट), 17 अप्रैल (45 सीट), 22 अप्रैल (43 सीट), 26 अप्रैल (36 सीट), 29 अप्रैल (35 सीट) को होनी है। काउंटिंग 2 मई को की जाएगी।

खबरें और भी हैं...