पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Mamta Banerjee Tapas Pal | West Bengal CM Mamta Banerjee On Narendra Modi Govt Over Former TMC MP Tapas Pal Death

ममता बनर्जी का आरोप- केंद्र सरकार के दबाव के कारण पूर्व टीएमसी सांसद तापस पॉल की मौत हुई

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बुधवार को कोलकाता में टीएमसी समर्थकों को संबोधित करतीं ममता बनर्जी। - Dainik Bhaskar
बुधवार को कोलकाता में टीएमसी समर्थकों को संबोधित करतीं ममता बनर्जी।
  • ममता ने कहा- अगर कोई जुर्म करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई जरूर होनी चाहिए
  • पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के मुताबिक, केंद्रीय जांच एजेंसियों के पास सबूत नहीं होते

कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने टीएमसी के पूर्व सांसद तापस पॉल की मौत के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया। ममता ने बुधवार को कहा कि केंद्रीय जांच एजेंसियों के दबाव और बदले की राजनीति के कारण तृणमूल सांसद और एक्टर तापस पॉल की मौत हुई। उन्होंने कहा कि जांच एजेंसियों की वजह से तीन लोगों की मौत हुई। इनमें सुल्तान अहमद (टीएमसी के पूर्व सांसद), टीएमसी के ही सांसद प्रसून बनर्जी की पत्नी और तापस पॉल शामिल हैं। तापस का मंगलवार को मुंबई में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। पॉल की बेटी मुंबई में रहती हैं, वो उनसे मिलने यहां आए थे। 


ममता का आरोप है कि केंद्रीय जांच एजेंसियां किसी को भी जेल में डाल देती हैं लेकिन वो उनका अपराध साबित नहीं कर पातीं। 

जांच एजेंसियों का दबाव
ममता ने आगे कहा, “जांच एजेंसियों के दबाव में तीन लोगों की मौत तो यहीं हो चुकी है। सुल्तान अहमद (तृणमूल कांग्रेस के पूर्व सांसद), टीएमसी सांसद प्रसून बनर्जी की पत्नी और अब तापस का निधन हुआ। लोगों को जेल में डाला जा रहा है लेकिन जांच एजेंसियां ये साबित नहीं कर पा रही हैं कि इन लोगों का जुर्म क्या है? अगर किसी ने अपराध किया है तो उसे सजा जरूर मिलनी चाहिए। लेकिन, हमें अब तक यह नहीं पता कि तापस और बाकी लोगों का अपराध आखिर क्या था?” 

दो बार सांसद रहे तापस
61 साल के तापस हिंदी फिल्म ‘अबोध’ में भी नजर आए थे। यह फिल्म 1984 में आई थी। फिल्म के लीड एक्टर तापस और माधुरी दीक्षित थे। कृष्णानगर से दो बार सांसद रहे। परिवार में पत्नी नंदिनी और बेटी सोहिनी पाल हैं। सोहिनी भी अभिनेत्री हैं। कुछ दिन पहले वे बेटी से मिलने मुंबई गए थे। वहां उन्हें दिल का दौरा पड़ा। जुहू के एक निजी अस्पताल ले जाया गया। वो 6 फरवरी से वेंटिलेटर पर थे। दो साल पहले पश्चिम बंगाल में रोज वैली चिट फंड घोटाला सामने आया था। तापस पर इसमें शामिल होने का आरोप था। वे एक साल जेल में भी रहे थे। बाद में उन्हें जमानत मिल गई थी।  

ट्वीट कर ममता ने जताया शोक
मंगलवार को ममता बनर्जी ने एक ट्वीट में कहा, “पाल के निधन से फिल्मों और राजनीति में एक कमी हो गई है। तापस के निधन से मैं दुखी और स्तब्ध हूं। वो बंगाली सिनेमा के सुपरस्टार और तृणमूल परिवार के सदस्य थे। तापस ने सांसद और विधायक के रूप में लोगों की सेवा की। वो हमेशा हमारे दिलों में जिंदा रहेंगे।