• Hindi News
  • National
  • West Bengal Teacher Scam Update; Mamata Banerjee Minister | Partha Chatterjee, Arpita Mukherjee

भास्कर एक्सक्लूसिवपार्थ के 15 और ठिकानों पर छापे की तैयारी:पूर्व मंत्री बोले- साजिश के तहत फंसाया गया; अस्पताल ले जाते वक्त अर्पिता बेहोश

कोलकाता4 महीने पहले
कोलकाता के जोका स्थित ESIC हॉस्पिटल में अर्पिता कार से पहुंची थीं। वहां पहुंचते ही गाड़ी में बैठकर रोने लगीं, उन्हें जवानों ने गाड़ी से नीचे उतारा तो रोड पर बैठ कर रोने लगीं।

शिक्षक भर्ती घोटाले में पश्चिम बंगाल के पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट्स पर छापे के बाद अब पार्थ के घरों पर भी जांच एजेंसी दबिश दे सकती है। बताया जा रहा है कि पार्थ के बीरभूम जिले के शांतिनिकेतन में तीन घर और एक गेस्ट हाउस पर ED की टीम जल्दी पहुंच सकती है। पार्थ का इन जगहों पर बराबर आना जाना था।

इधर, पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी को शुक्रवार को तीसरी बार चेकअप के लिए अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल पहुंचने पर अर्पिता कार में जोर-जोर से रोने लगीं और बेहोश हो गईं। नीचे उतारा गया तो सड़क पर ही बैठ गईं। इसी दौरान पार्थ ने मीडिया से कहा कि उन्हें साजिश के तहत फंसाया गया है।

पार्थ-अर्पिता से जुड़े बड़े अपडेट्स

  1. ED ने रायगंज से TMC विधायक कृष्णा कल्याणी को भी शिक्षक भर्ती घोटाले में नोटिस भेजा है। उनकी कंपनी कल्याणी शॉल्वेक्स पर इस घोटाले में मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है।
  2. अर्पिता ने कबूल कर लिया है कि पार्थ उनके फ्लैट्स में कैश रखते थे, लेकिन इतना ज्यादा कैश की उम्मीद अर्पिता को नहीं थी।
  3. ED अर्पिता और पार्थ को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ कर सकती है। इसमें सोने की अंगूठी समेत कई चीजों पर सवाल होंगे। इस अंगूठी पर अंग्रेजी में P लिखा है।
  4. विधायक माणिक भट्टाचार्य ने तबीयत खराब होने का हवाला देकर शुक्रवार को ED के सामने पेश होने से इनकार कर दिया। घोटाले के समय वे वेस्ट बंगाल स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (WBSS) के चेयरमैन थे।

पार्थ ने 5 दिन बाद खाना खाया
ED सूत्रों ने बताया कि पार्थ चटर्जी शनिवार को हुई गिरफ्तारी के बाद 5 दिन तक केवल ग्रीन टी और बिस्कुट लेते रहे। उन्होंने बुधवार रात को दाल-रोटी खाई थी। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उन्हें गुरुवार को मंत्री पद से हटा दिया था। उन्हें पार्टी से भी निलंबित कर दिया गया है।

रियल एस्टेट से जुड़े दस्तावेज भी मिले
गुरुवार शाम उनके चिनार पार्क और नयाबाद के फ्लैटों की भी तलाशी ली गई। सूत्रों के मुताबिक इन जगहों से 2 रियल एस्टेट से जुड़े दस्तावेज मिले हैं। जांच में सामने आया है कि शिक्षक भर्ती घोटाले से मिली रकम रियल एस्टेट में लगाई जा रही थी।

अर्पिता के घर पर ED ने 23 जुलाई और 28 जुलाई को छापेमारी की थी। पहले दिन 26 घंटे और दूसरे दिन 18 घंटे तक ED की कार्रवाई चली थी।
अर्पिता के घर पर ED ने 23 जुलाई और 28 जुलाई को छापेमारी की थी। पहले दिन 26 घंटे और दूसरे दिन 18 घंटे तक ED की कार्रवाई चली थी।

120 करोड़ रुपए का है शिक्षक भर्ती घोटाला
ED ने 25 जुलाई को PMLA कोर्ट में दायर हलफनामे में कहा था कि यह घोटाला 120 करोड़ रुपए का है। इसमें सिर्फ टीचर्स रिक्रूटमेंट के पैसे हैं। अभी ED की टीम 15 जगह और छापे मार सकती है।

2 बड़े बयान....
1. ममता बनर्जी- पार्थ ने अगर गलती की है और उसे उम्रकैद भी होगी, तो मुझे फर्क नहीं पड़ने वाला है। हमने उन्हें कैबिनेट से हटा दिया है। बाकी जानकारी पब्लिक में अभी नहीं दी जा सकती है।

2. अभिषेक बनर्जी- पार्थ चटर्जी मामले में अब तक हुआ जो है, उस पर हमारी नजर थी। हमने उन्हें पार्टी से सस्पेंड कर दिया है। अगर वे निर्दोष साबित होते हैं तो पार्टी में वापसी होगी।

ED सूत्रों का कहना है कि 2012 में अर्पिता और पार्थ संपर्क में आए। दोनों ने उस वक्त जॉइंट प्रॉपटी खरीदी थी, जिसके कागजात भी मिले हैं।
ED सूत्रों का कहना है कि 2012 में अर्पिता और पार्थ संपर्क में आए। दोनों ने उस वक्त जॉइंट प्रॉपटी खरीदी थी, जिसके कागजात भी मिले हैं।

अर्पिता के कबूलनामे के बाद बढ़ीं पार्थ की मुश्किलें
ED सूत्रों के मुताबिक अर्पिता ने अब तक उसके फ्लैट से मिले 50 करोड़ रुपए की नगदी के बारे में पहली बार चुप्पी तोड़ी। अर्पिता ने गुरुवार को जांच एजेंसी के सामने कबूल किया कि ये सारे पैसे पार्थ के हैं, लेकिन कितने हैं यह जानकारी नहीं है। ED अर्पिता के बयान को ही आधार बनाकर पार्थ के खिलाफ आगे की कार्रवाई करेगी।

खबरें और भी हैं...