फ्लैश बैक / जब गेस्ट हाउस में थीं मायावती और बाहर खुले में थी जान की प्यासी सपाइयों की भीड़



When Mayawati's assault with sp workers
X
When Mayawati's assault with sp workers

 

  • सपा-बसपा आज साथ, पर 95 की वो शाम कोई नहीं भूलेगा

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 06:23 AM IST

2 जून, 1995 की शाम। लखनऊ का वीआईपी गेस्ट हाउस। मायावती अपने सिपहसालारों के साथ बैठक कर रही थीं। दरअसल, उत्तरप्रदेश में बसपा ने मुलायम सिंह सरकार से समर्थन वापस ले लिया था। माया को सीएम बनाने की तैयारी थी।

 

माया दावा पेश कर चुकी थीं। मुलायम सिंह सत्ता हाथ से फिसलने नहीं देना चाहते थे। बैठक के बाद माया रूम नंबर 1 में चली गईं। अचानक सपाइयों की दो सौ से ज्यादा लोगों की भीड़ ने हमला कर दिया। बसपा विधायकों को पीटा जाने लगा। पांच बसपा विधायकों को घसीटते हुए मुख्यमंत्री आवास ले जाया गया।

 

इधर, मायावती की तलाश होने लगी। भीड़ उनके कमरे तक जा पहुंची। बाहर गालियां देती, दरवाजा पीटती उन्मादी भीड़ और अंदर मायावती। कुछ भी हो सकता था। गेस्ट हाउस की बिजली काट दी गई। तभी अचानक डीएम वहां पहुंचे और उन्होंने भीड़ पर लाठीचार्ज के निर्देश दिए। तब जाकर मायावती को बचाया जा सका।

 

घटना की कोई तस्वीर मौजूद नहीं है। इसलिए भारतीय राजनीति की इस शर्मनाक घटना को इलस्ट्रेशन से समझाया गया है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना