राजीव गांधी हत्याकांड मामले में नलिनी श्रीहरन बोली:जब पूर्व प्रधानमंत्री की मौत हुई तो वे कई दिनों तक रोई

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजीव गांधी हत्याकांड में रिहा हुए दोषियों में से एक नलिनी श्रीहरन ने कहा कि जब पूर्व प्रधानमंत्री की हत्या हुई थी तो वह कई दिनों तक रोई थीं। बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि वह निर्दोष है, लेकिन यह जवाब देने से इनकार कर दिया कि क्या वह जानती है कि पूर्व PM की हत्या के पीछे कौन था।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद राजीव गांधी हत्याकांड के 6 दोषियों को शनिवार को जेल से रिहा कर दिया गया। इसमें सबसे चर्चित नाम नलिनी का है।

मै कांग्रेस परिवार से हूं- नलिनी
नलिनी ने कहा- मैं कांग्रेस परिवार से हूं। जब इंदिरा गांधी की मृत्यु हुई, तो हमने पूरे दिन खाना नहीं खाया। हम चार दिन से रो रहे थे। जब राजीव गांधी की मृत्यु हुई, तब भी हम तीन दिनों तक रोते रहे, लेकिन मुझ पर उनकी हत्या का आरोप लगा। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता कि राजीव गांधी की हत्या के पीछे कौन है और न ही मैं इस तरह किसी की ओर इशारा नहीं कर सकती। मुझे चुगली करने की आदत नहीं है। अगर मैंने ऐसा किया होता तो मैं 32 साल तक जेल में नहीं रहती।

नलिनी ने कहा कि वह कांग्रेस परिवार से हैं, लेकिन उन पर राजीव गांधी की हत्या का आरोप है। नलिनी कहा कि वे तभी आराम कर सकती हैं, जब इस आरोप से पूरी तरह से बरी हो जाएंगी।

नलिनी की प्रतिक्रिया से नाराज हुई पूर्व SI
नलिनी की प्रतिक्रिया से अनुसूया अर्नेस्ट डेजी नाराज हो गईं, जो उस समय एक सब-इंस्पेक्टर (SI) थीं और विस्फोट के दौरान घायल हो गईं थीं। उन्होंने विस्फोट में अपनी कई अंगुलियां गंवा दीं थी। अनुसूया ने कहा- नलिनी सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ बोल रही हैं। अगर वह कहती है कि वह निर्दोष है और दलाल नहीं है, तो शायद अदालत को आदेश की समीक्षा करनी चाहिए और असली दोषियों का पता लगाने के लिए एक और जांच शुरू करनी चाहिए।

नलिनी पहले ही पैरोल पर बाहर थी। रिहाई का आदेश आने के बाद पिछले शनिवार को उसने महिला जेल जाकर कागजी कार्रवाई पूरी की।
नलिनी पहले ही पैरोल पर बाहर थी। रिहाई का आदेश आने के बाद पिछले शनिवार को उसने महिला जेल जाकर कागजी कार्रवाई पूरी की।

संथान श्रीलंका जाना चाहते हैं- नलिनी
नलिनी ने केंद्र और राज्य सरकारों से आग्रह किया कि वे उन्हें उन देशों में भेजें, जहां वे जाना चाहते हैं। उसने कहा कि मैंने कलेक्टर से मुरुगन (उनके पति) को उस देश में भेजने के लिए कहा है जहां हमारी बेटी हरिता रहती है। संथान श्रीलंका जाना चाहतें हैं, जबकि अन्य दो ने अभी तक फैसला नहीं किया है।

राजीव हत्याकांड की दोषी से जेल में मिली थीं प्रियंका गांधी

नलिनी ने पिछले रविवार को बताया कि राजीव गांधी की बेटी प्रियंका 2008 में मुझसे वेल्लोर सेंट्रल जेल में मिलने आई थीं। उन्होंने पिता की हत्या के बारे में सवाल किया। मैं जो कुछ भी जानती थी, सारी जानकारी प्रियंका को दी, जिसे सुन वह रो पड़ीं।

नलिनी से मुलाकात में बातचीत के बारे में पूछा गया तो उन्होंने पूरी जानकारी देने से इनकार कर दिया। नलिनी का कहना था कि उस मुलाकात में और क्या बातें हुईं, इसका खुलासा नहीं किया जा सकता। ये प्रियंका के निजी विचार थे, जिन्हें मैं नहीं बता सकती। पूरी खबर यहां पढ़ें...

मां की देखभाल के लिए पैरोल पर थी नलिनी
नलिनी को दिसंबर 2021 में अपनी मां पद्मावती की देखभाल के लिए एक महीने की पैरोल दी गई थी, जिसे राज्य सरकार समय-समय पर बढ़ाती रही। रिहाई के बाद नलिनी ने मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि हमारा परिवार बहुत खुश है, मैं अपनों के साथ नया जीवन शुरू करने जा रही हूं। इससे पहले कोर्ट ने इस साल 18 मई को मामले के दोषी​​​ पेरारिवलन को रिहा कर दिया था। पेरारिवलन सहित सभी दोषी मामले में 31 साल उम्रकैद की सजा काट चुका है।

राजीव गांधी हत्याकांड और उसकी जांच से जुड़ी यह खास खबर भी पढ़ें...

राजीव हत्याकांड के सभी दोषी रिहा:SC का आदेश; जेल से निकलकर नलिनी बोली- आतंकी नहीं हूं

राजीव गांधी हत्याकांड के सभी 6 दोषी शुक्रवार को रिहा हो गए। इससे पहले सुबह सुप्रीम कोर्ट ने नलिनी और आरपी रविचंद्रन समेत सभी दोषियों की रिहाई का आदेश दिया। सुप्रीम कोर्ट ने 18 मई को इसी केस में दोषी पेरारिवलन को रिहा करने का आदेश दिया था। बाकी दोषियों ने भी उसी आदेश का हवाला देकर कोर्ट से रिहाई की मांग की थी। पढ़ें पूरी खबर...