• Hindi News
  • International
  • WHO Approves Sinovac Biotech's Vaccine For Emergency Use, It Will Be Administered To People Above 18 Years Of Age

चीन की दूसरी वैक्सीन को मिला अप्रूवल:WHO ने सिनोवेक बायोटेक के टीके को इमरजेंसी यूज की मंजूरी दी, यह 18 साल के ऊपर के लोगों को लगाई जाएगी

जिनेवा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चीन की दूसरी कोरोना वैक्सीन को अप्रूव कर दिया है। WHO ने सिनोवेक बायोटेक के टीके कोरोनावैक (Coronavac) को इमरजेंसी यूज की मंजूरी दी है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, ये टीका 18 साल के ऊपर के लोगों पर लगाया जा सकेगा। फर्स्ट और सेकेंड डोज के बीच का अंतर 2 से 4 हफ्ते के बीच होगा।

कोरोना महामारी के बीच अब तक कई गरीब देशों में वैक्सीन नहीं पहुंच पाई है। ऐसे में इस फैसले से संकेत मिलते हैं कि WHO के वैश्विक वैक्सीन कार्यक्रम COVAX में भी इस टीके को शामिल किया जा सकता है। इससे गरीब देशों में वैक्सीन की जरूरतें पूरी हो सकेंगी।

बता दें कि भारत ने भी COVAX के 70 से ज्यादा देशों को टीके भेजे हैं, लेकिन कोरोना की दूसरी लहर के बाद सप्लाई रोक दी गई है। WHO अब चीन जैसे देशों की वैक्सीन से इस कमी को पूरा करना चाहता है।

इससे पहले सिनोफार्म की वैक्सीन को दी थी मंजूरी
इससे पहले WHO ने चीन में बनी सिनोफार्म की कोविड-19 वैक्सीन BBIBP-CorV को इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत दी है। इस वैक्सीन को चाइना नेशनल बायोटेक ग्रुप (CNBG) की सहायक कंपनी बीजिंग बायो-इंस्टीट्यूट ऑफ बायोलिॉजिकल प्रोडक्ट्स कंपनी लिमिटेड ने विकसित किया है।

सिनोफार्म की वैक्सीन भारत में बन रही 'कोवैक्सिन' जैसी ही है। यह दोनों वैक्सीन इनएक्टिवेटेड प्लेटफॉर्म पर बनी है। अच्छी बात यह है कि कोवैक्सिन कोरोना के कई वैरिएंट्स पर कारगर है, जबकि सिनोफार्म की वैक्सीन की वैरिएंट्स पर इफेक्टिवनेस के बारे में कोई जानकारी नहीं है। सिनोफार्म पश्चिमी देशों से ईतर पहली ऐसी वैक्सीन है, जिसे WHO ने समर्थन दिया है।

खबरें और भी हैं...