बिखलते परिवार के साथ पत्नी ने पति को दी आखिरी विदाई, पुलवामा हमले में हुए थे शहीद, जवान की शहादत को सलाम करने उमड़ी सैकड़ों लोग

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

मांडया. पुलवामा हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के कॉन्स्टेबल गुरू एच का शनिवार शाम को कर्नाटक में अंतिम संस्कार किया गया। उन्हें आखिरी विदाई देने के वक्त सैकड़ों लोग जुटे और लोगों की आंखों में आंसू छलक उठे। वहीं, शहीद जवान की पत्नी ने मुखाग्नि दिए जाने से पहले हाथों में चूड़ी पहन और माथे पर बिंदी लगा पति को आखिरी सलाम किया। इस मौके पर वहां मौजूद स्थानीय प्रशासन के अफसर भी भावुक हो उठे।

पत्नी का शहीद पति को आखिरी सलाम
- मांडया के रहने वाले कॉन्स्टेबल गुरू एच 14 फरवरी को पुलवामा के लेथीपोरा इलाके में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए थे। वो जम्मू से श्रीनगर आ रहे सीआरपीए के उसी काफिले में शामिल थे, जिस पर आतंकियों ने आत्मघाती हमला किया था।
- शहादत के बाद कॉन्स्टेबल गुरू एच को उनके साथियों के साथ शुक्रवार को श्रीनगर और फिर दिल्ली में श्रद्धांजली दी गई। इसके बाद इनके पार्थिव शरीर को कर्नाटक के लिए रवाना किया गया था।
- इसके बाद उनके गृह नगर मांडया ने उनका अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान शहीद कॉन्स्टेबल की पत्नी ने जब उन्हें आखिरी सलाम किया तो वहां मौजूद सभी लोगों की आंखे नम हो गईं।

पुलवामा हमले में 40 जवान हुए शहीद
- अवंतिपोरा के गरीपोरा के पास आंतकी 14 फरवरी की शाम करीब 3 बजे घात लगाकर बैठे थे। इस इलाके में हाईवे से गुजर रही सीआरपीएफ जवानों की बस के काफिले में एक आतंकी विस्फोटकों से भरी गाड़ी लेकर घुस गया। ब्लास्ट इतना भीषण था कि एक पूरी बस उड़ गई थी। इस घटना में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए।