नतीजे / विप्रो को जनवरी-मार्च में 2494 करोड़ रु. का मुनाफा, 10500 करोड़ रु. के शेयर बायबैक करेगी



Wipro Q4 net up 38pc to Rs 2494 cr announces Rs 10500 cr buyback plan
X
Wipro Q4 net up 38pc to Rs 2494 cr announces Rs 10500 cr buyback plan

  • 325 रुपए की कीमत पर 32.3 करोड़ शेयर खरीदेगी
  • जनवरी-मार्च में रेवेन्यू 8.9% बढ़कर 15006 करोड़ रुपए रहा

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2019, 05:24 PM IST

बेंगलुरु. आईटी कंपनी विप्रो को जनवरी-मार्च तिमाही में 2,493.9 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है। सालाना आधार पर यह 38.4% ज्यादा है। 2018 की जनवरी-मार्च तिमाही में कंपनी को 1,800.8 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ था। रेवेन्यू 8.9% बढ़कर 15,006.3 करोड़ रुपए हो गया है। पिछले साल की जनवरी-मार्च तिमाही में 13,768.6 करोड़ रुपए था। 

 

पूरे वित्त वर्ष (2018-19) में विप्रो ने 9,017.9 करोड़ रुपए का मुनाफा कमाया। यह 2017-18 के 9,017.9 करोड़ रुपए की तुलना में 12.6% ज्यादा है। पूरे साल में रेवेन्यू 7.5% बढ़कर 58,584.5 करोड़ रुपए रहा। 

 

कंपनी के बोर्ड ने 10,500 करोड़ रुपए की शेयर बायबैक योजना को भी मंजूरी दे दी है। इसके तहत 325 रुपए के भाव पर 32.3 करोड़ शेयर खरीदे जाएंगे। मंगलवार को विप्रो का शेयर 2.45% गिरावट के साथ 281.10 रुपए पर बंद हुआ।

 

क्या होता है बायबैक ? 
कोई कंपनी जब अपने ही शेयर निवेशकों से खरीदती है तो इसे बायबैक कहते हैं। कंपनियां कई वजहों से इसका फैसला लेती हैं। सबसे बड़ी वजह कंपनी की बैलेंसशीट में अतिरिक्त नकदी का होना है। शेयर बायबैक के जरिए कंपनी अतिरिक्त नकदी का इस्तेमाल करती है। सबसे पहले कंपनी का बोर्ड शेयर बायबैक के प्रस्ताव को मंजूरी देता है। इसके बाद कंपनी बायबैक के लिए कार्यक्रम का ऐलान करती है। इसमें रिकॉर्ड डेट और बायबैक की अवधि का जिक्र होता है। रिकॉर्ड डेट का मतलब यह है कि उस दिन तक जिन निवेशकों के पास कंपनी के शेयर होंगे, वो बायबैक के तहत अपने शेयर बेच सकते हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना