सुप्रीम कोर्ट / युवती ने कहा- मेरी शादी है, सरेंडर की तारीख बढ़ा दें; जेल गई तो कोई हाथ नहीं थामेगा



Woman appeal to Supreme Court
X
Woman appeal to Supreme Court

  • सुप्रीम कोर्ट में मेंशनिंग के दौरान दहेज प्रताड़ना के मामले में आरोपी महिला की अपील
  • सीजेआई ने कहा कि इसकी इजाजत नहीं देंगे और आपने हमें तो न्योता दिया ही नहीं

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2019, 05:25 PM IST

नई दिल्ली. अदालत में लोग अक्सर अटपटे बहाने करके अपने लिए राहत की मांग करते रहते हैं। सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को दहेज प्रताड़ना के मामले में आरोपी महिला ने अपनी शादी को आधार बनाते हुए सरेंडर के लिए और समय मांगा। मगर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच ने महिला की मांग काे खारिज कर दिया। 

 

दरअसल, सोमवार सुबह सुप्रीम कोर्ट में मेंशनिंग के दौरान दहेज प्रताड़ना के मामले में आरोपी महिला ने बताया, मैं मेरी सगाई 22 अप्रैल को और उसके बाद शादी है। ऐसे में सरेंडर करने की अवधि को बढ़ाया जाए। अगर जेल चली गई तो कोई शादी नहीं करेगा। 

 

ये सवाल-जवाब हुए 
चीफ जस्टिस-
तो आप शादी के बाद सरेंडर करना चाहती हैं?
महिला- जी हां, मैं यही चाहती हूं।
चीफ जस्टिस- हम इसकी अनुमति नहीं देंगे। जिससे कि दूसरा पक्ष अचंभित न हो। और आपने हमें तो न्योता दिया ही नहीं है।
 

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना