• Hindi News
  • National
  • Woman Commits Suicide With Two Daughters, Burns Fireplace, Turns Room Into Poison Gas Chamber

दिल्ली में अंगीठी से सुसाइड:महिला ने दो बेटियों के साथ आत्महत्या की, अंगीठी जला कमरे को जहरीली गैस का चैंबर बनाया

नई दिल्लीएक महीने पहले

दिल्ली के वसंत विहार इलाके में शनिवार रात एक महिला ने अपने दो बेटियों के साथ आत्महत्या कर ली। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, 50 साल की महिला ने सुसाइड के लिए फ्लैट में अंगीठी जलाई और उसे एक गैस चैंबर में तब्दील कर दिया। पुलिस को कमरे से ढेर सारे सुसाइड नोट्स भी मिले हैं।

फ्लैट के सभी दरवाजे और खिड़कियां पॉलीथिन से पैक थे और सिलेंडर की नॉब खुली हुई थी। पास में एक जलती हुई अंगीठी भी मिली। माना जा रहा है कि कोयले के धुएं की वजह से कमरे में जहरीली कार्बन मोनोऑक्साइड गैस बनी और तीनों का दम घुट गया। मृतक महिला की पहचान मंजू के तौर पर हुई है। वह काफी दिनों से बीमार थी और बिस्तर से उठ भी नहीं पाती थी।

सुसाइड नोट में लिखा- कमरे में जानलेवा गैस भरी है

मौके पर मिले एक सुसाइड नोट में चेतावनी लिखी गई थी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
मौके पर मिले एक सुसाइड नोट में चेतावनी लिखी गई थी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मौके पर मिले सुसाइड नोट में से एक में, फ्लैट में घुसने वाले लोगों के लिए इंस्ट्रक्शन लिखे गए थे। इसमें लिखा था- कमरे में बहुत ही जानलेवा कार्बन मोनोऑक्साइड गैस भरी हुई है, यह ज्वलनशील है। कृपया खिड़की खोलकर और पंखा खोलकर कमरे को वेंटिलेट करें। माचिस, मोमबत्ती या कुछ भी न जलाएं। पर्दा हटाते समय सावधान रहें, क्योंकि कमरा खतरनाक गैस से भरा है, सांस न लें।

काम वाली बाई ने पड़ोसियों को सूचना दी

वसंत विहार में मौजूद वह फ्लैट, जहां महिला ने बेटियों के साथ सुसाइड की।
वसंत विहार में मौजूद वह फ्लैट, जहां महिला ने बेटियों के साथ सुसाइड की।

फ्लैट में पहले काम करने वाली एक महिला के मुताबिक, अंजू पैसे की तंगी की वजह से परेशान थीं। अंजू के घर में काम करने वाली बाई सुबह से कई बार फ्लैट पर गई, लेकिन किसी ने दरवाजा नहीं खोला और न ही फोन उठाया। बाई ने पड़ोसियों को इस बात की जानकारी दी।

पड़ोसियों ने खिड़की के जरिए फ्लैट में अंदर झांकने की कोशिश की तो उन्हें गैस का एहसास हुआ। पुलिस को शनिवार रात करीब 9 बजे इस बात की सूचना मिली।

पिछले साल हुई थी पति की मौत

सभी दरवाजे और खिड़कियां पॉलीथिन से पैक थे, ऐसा गैस को बाहर निकलने से रोकने के लिए किया गया था।
सभी दरवाजे और खिड़कियां पॉलीथिन से पैक थे, ऐसा गैस को बाहर निकलने से रोकने के लिए किया गया था।

पड़ोसियों ने पुलिस को बताया है कि महिला के पति की पिछले साल कोरोना से मौत हो गई थी। तभी से यह परिवार परेशान था। पुलिस ने बताया कि शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। इनकी मौत दम घुटने से हुई है या किसी जहरीले पदार्थ को खाने की वजह ये इसका खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट में होगा।