आंकड़े / थोक महंगाई दर फरवरी में बढ़कर 2.93% रही, प्राथमिक वस्तुओं के दाम बढ़ने का असर



WPI inflation stood at 2.74 per cent during february 2018
X
WPI inflation stood at 2.74 per cent during february 2018

  • थोक महंगाई दर में 4 महीने में पहली बार इजाफा, जनवरी में 2.76% था आंकड़ा
  • प्राथमिक वस्तुओं की थोक महंगाई दर बढ़कर 4.84% रही, जनवरी में 3.54% थी

Dainik Bhaskar

Mar 14, 2019, 01:12 PM IST

नई दिल्ली. थोक महंगाई दर फरवरी में बढ़कर 2.93% रही है। जनवरी में यह 2.76% थी। यह 10 महीने में सबसे कम थी। प्राथमिक वस्तुओं, ईंधन और बिजली की कीमतों में बढ़ोतरी होने की वजह से फरवरी में थोक महंगाई दर में इजाफा हुआ। सरकार ने गुरुवार को इसके आंकड़े जारी किए।

ईंधन-बिजली सेगमेंट की थोक महंगाई दर 2.23% हुई

  1. प्राथमिक वस्तुएं जैसे आलू, प्याज, फल और दूध की थोक महंगाई दर फरवरी में बढ़कर 4.84% रही। जनवरी में यह 3.54% थी। ईंधन और बिजली सेगमेंट की थोक महंगाई दर 1.85% (जनवरी) से बढ़कर 2.23% (फरवरी) पहुंच गई।

  2. थोक महंगाई दर में 4 महीने में पहली बार इजाफा हुआ है। नवंबर से जनवरी तक यह लगातार कम हुई थी। दिसंबर 2018 में 3.46%, नवंबर में 4.64% और अक्टूबर में 5.28% थी।

  3. खुदरा महंगाई दर में भी इजाफा

    खाने-पीने की चीजों के दाम बढ़ने से फरवरी में खुदरा (रिटेल) महंगाई दर 2.57% दर्ज हुई है। यह चार महीने में सबसे अधिक है। खुदरा महंगाई दर के आंकड़े मंगलवार को आए थे। 

  4. खुदरा महंगाई हाल के महीनों में लगातार रिजर्व बैंक (आरबीआई) के लक्ष्य 4% से नीचे बनी हुई है। इसलिए माना जा रहा है कि 4 अप्रैल को मौद्रिक नीति समीक्षा में रिजर्व बैंक रेपो रेट 0.25% घटा सकता है। रिजर्व बैंक ब्याज दरें तय करने के लिए खुदरा महंगाई पर गौर करता है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना