पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गाय ले जाने के लिए मिलेगी सुरक्षा, गौ सेवा आयोग देगा सर्टिफिकेट

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • मॉब लिंचिंग की घटनाओं को रोकने के लिए सीएम की पहल
  • गौ सेवा आयोग चोरी छुपे हो रही गायों की तस्करी पर भी लगाएगा लगाम

लखनऊ. उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मॉब लिचिंग की घटनाओं पर रोकथाम के लिए गोसेवा आयोग के साथ मिलकर एक रोडमैप तैयार किया है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने सोमवार को बताया कि यदि कोई व्यक्ति एक स्थान से दूसरे स्थान पर गोवंश ले जाता है, तो गोसेवा आयोग उसे प्रमाणपत्र देगा। सुरक्षा की जिम्मेदारी भी आयोग की ही होगी, ताकि लिंचिंग जैसी घटनाओं को रोका जा सके। 

 

योगी ने आयोग को यह भी सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि चोरी-छिपे चल रही गो-तस्करी की घटनाओं को रोका जाए। पहले से चल रही गोशालाओं के निरीक्षण का भी आदेश दिया। 

 

दो गाय रखने वाले पालकों को 30 रुपए प्रतिदिन पैसे देने का सुझाव

योगी ने आयोग के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि गोशालाओं को आत्मनिर्भर बनाने पर काम करें। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि दो गाय रखने वाले किसानों को चारे के लिए 30 रुपए रोज के हिसाब से पैसे मुहैया कराएं। सीएम ने गायों और गोपालकों की सुरक्षा और गोशालाओं को बेहतर बनाने के लिए कई सुझाव भी पेश किए। यह भी कहा कि मवेशियों को एक जगह से दूसरे जगह ले जाते समय क्रूरता न हो, इसके लिए लोगों को भी जागरूक करने की जरूरत है।