• Hindi News
  • New year 2020
  • Indian Army Vision 2020: Army Chief Manoj Mukund Naravane, Air Chief Marshal RKS Bhadauria, Navy Chief Admiral Karambir Singh On Army Vision 2020

सिर्फ भास्कर में / नए साल को लेकर तीनों सेना के प्रमुखों का विजन, भविष्य की चुनौतियों के लिए किस तरह तैयार हैं हम

Indian Army Vision 2020: Army Chief Manoj Mukund Naravane, Air Chief Marshal RKS Bhadauria, Navy Chief Admiral Karambir Singh On Army Vision 2020
X
Indian Army Vision 2020: Army Chief Manoj Mukund Naravane, Air Chief Marshal RKS Bhadauria, Navy Chief Admiral Karambir Singh On Army Vision 2020

Dainik Bhaskar

Jan 01, 2020, 11:02 AM IST
भविष्य की चुनौतियों को देखते हुए देश की थलसेना, नौसेना और वायुसेना की क्या तैयारियां हैं और इस बारे में तीनों सेना के प्रमुखों का क्या विजन है?

तीनों सेना के प्रमुखों का विजन

  1. भावी युद्ध की चुनौतियों के लिए एआई का इस्तेमाल : थलसेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे

    भारतीय थल सेना विभिन्न क्षेत्रों में अभियान चलाने के लिए तैयार और दृढ़ है। साथ ही पारंपरिक, उप-पारंपरिक और परमाणु सहित हर क्षेत्र में विभिन्न तरह के युद्ध के लिए भी तैयार है। हम भविष्य के लिए अपनी रक्षा आवश्यकताओं में आत्मनिर्भर बनने की दिशा में ‘मेक इन इंडिया’ की पहल में समान रूप से भागीदार हैं। हमने भावी युद्ध की चुनौतियों से निपटने के लिए 5 जी, एआई और बिग डेटा जैसी उन्नत तकनीकों के इस्तेमाल की संभावनाओं को तलाशना शुरू कर दिया है। मैं भारतीय आर्मी के बहादुर सैनिकों, उनके परिवारों, रिटायर्ड सैन्य कर्मियों और नागरिकों से कहना चाहता हूं कि हमें अधिक उत्साह, निष्ठा और ईमानदारी के साथ अपनी सभी जिम्मेदारियों को पूरा करना है।   

  2. हमारे महिला और पुरुष वाॅरियर अजेय बने रहेंगे : वायु सेना प्रमुख एयरचीफ मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया

    2020 के लिए सभी को बधाई और शुभकामनाएं। बीते 8 दशक से भारतीय वायुसेना अजेय रही है। मुझे यह कहते हुए गर्व होता है कि हमारी सेना के हर महिला और पुरुष वाॅरियर ने हर मौके पर अदम्य साहस का परिचय देते हुए हर मिशन में सफलता पाई है। वायुसेना अत्याधुनिक मशीनें और सैन्य साजो-सामान जुटा रही है, फिर भी हमारा मुख्य फोकस उन जांबाज जवानों पर ही होगा, जो इन मशीनों के पीछे रहते हैं। मेक इन इंडिया के तहत बने एलसीए तेजस और एचटीटी 40 ट्रेनर भी शामिल होंगे। भारतीय वायुसेना बाढ़ सहायता अभियान और अन्य बचाव कार्यों में त्वरित सहायता देने की अपनी प्रतिबद्धता और अधिक मजबूती से निभाती रहेगी। देश की रक्षा में डटी रहेगी। जय हिंद...!

  3. देश की समृद्धि का रास्ता समुद्री मार्ग से गुजरता है : नौसेना प्रमुख एडमिरल करमवीर सिंह

    सदी के दूसरे दशक के अंत की ओर बढ़ते हुए यह साथ नजर आ रहा है कि देश की खुशहाली में समुद्री माध्यम की अहम भूमिका है। आर्थिक मोर्चे पर 2024 तक भारत के 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी के रूप में उभरने का लक्ष्य काफी हद तक समुद्री मार्ग से हो रहे व्यापार से जुड़ा है। ‘इंडो पैसिफिक’ की परिकल्पना सागर से बखूबी जुड़ी है। भारत का कूटनीतिक प्रभाव समुद्री अवसरों का लाभ उठाकर समान सोच वाले राष्ट्रों से साझेदारी को बढ़ावा दे रहा है। सामुद्रिक शक्ति के रूप में हमारी कोशिश है कि हम सभी तरह के खतरों और चुनौतियों का सामना करते हुए मौकों को परिणामों में बदलें। नौसेना एक सुदृढ़, स्थिर और सुरक्षित समुद्री वातावरण के प्रति कटिबद्ध रहेगी। जय हिंद। शं नो वरुणः। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना