• Hindi News
  • जिस बॉलर को चंडीगढ़ ने ठुकराया वह अब ऑस्ट्रेलिया में खेलेगा फर्स्ट क्लास क्रिकेट

जिस बॉलर को चंडीगढ़ ने ठुकराया उसे गिलक्रिस्ट ने दिया क्रिकेट खेलने का मौका

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
चंडीगढ़। चंडीगढ़ के गेंदबाज अजय दलाल, जिसे डिस्ट्रिक्ट में कुछ मैच खेलने क बाद साइड कर दिया गया था, उसको अॉस्ट्रेलिया में उसी खेल के दम पर डॉन ब्रैडमैन स्कॉलरशिप मिली है। 2013 में भी भारतीय क्रिकेट बोर्ड के बॉलर्स हंट में चंडीगढ़ के गेंदबाज अजय दलाल चुने गए थे। लेकिन उसके बाद भारत में तो उनके हुनर की पहचान नहीं हुई। इसके बाद यूनिवर्सिटी ऑफ फॉलंगगॉन्ग, ऑस्ट्रेलिया में बिजनेस स्टडीज के स्टूडेंट अजय दलाल को वहां पर शानदार प्रदर्शन करने के बाद दी गई है। उनका खर्च अब फाउंडेशन उठाएगी और उन्हें इसी के साथ फर्स्ट क्लास क्रिकेट में खेलने का भी मौका मिलेगा। अजय वहां अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो वे कंगारू टीम में जा सकते हैं। अजय को ये स्कॉलरशिप दिग्गज कंगारू खिलाड़ी एडम गिलक्रिस्ट ने दी। डिस्ट्रिक्ट मैचों में भी दरकिनार होने पर अजय ऑस्ट्रेलिया पढ़ने चले गए थे। वहीं उन्हें अपना सपना सच करने का मौका मिल गया।
लीडर्स क्रिकेट एकेडमी में कोचिंग
अजय 2010 में क्रिकेटर बनने का सपना लिए जींद से चंडीगढ़ आए। उन्होंने गवर्नमेंट स्कूल सेक्टर-26 की लीडर्स इन क्रिकेट एकेडमी में कोचिंग शुरू की। उनके कोच राजेश पाठा थे और एकेडमी के सचिव दपिंदर सिंह छाबड़ा ने भी उन्हें हमेशा मदद की। छबड़ा के अनुसार वो एक शानदार खिलाड़ी था जो भारत के लिए महत्वपूर्ण साबित होता।
2012 में शुरू हुई थी स्कॉलरशिप
यूओडब्ल्यू ब्रैडमैन फाउंडेशन स्कॉलरशिप 2012 में भारत में लॉन्च हुई। जो भी भारतीय यहां पर पढ़ाई, खेल, सोशल स्किल्स और व्यवहार में अच्छा होता है उसे ये स्कॉलरशिप मिलती है। उसकी 50 प्रतिशत तक फीस माफ होती है। अजय ने कहा कि ये स्कॉलरशिप मेरे लिए अभी तक की सबसे बड़ी कामयाबी है।
गिलक्रिस्ट बोले : चंडीगढ़ मेरे लिए खास
गिलक्रिस्ट बोले कि अजय एक अच्छा खिलाड़ी है। वे चंडीगढ़ रीजन के हैं और इससे मुझे काफी लगाव है। मैं किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से खेला हूं और वहीं पर टीम का होम ग्राउंड था। इस स्कॉलरशिप को इसलिए देते हैं क्योंकि सर डॉन ब्रैडमैन हमेशा कहते थे कि एक युवा को मोटीवेट करो।
आगे की स्लाइड्स में देखें संबंधित फोटोज