पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • पाकिस्तान से मंगाना पड़ता इंजन, इसलिए यात्रियों ने धक्का देकर ट्रैक से हटा दी ट्रेन

पाकिस्तान से मंगाना पड़ता इंजन, इसलिए यात्रियों ने धक्का देकर ट्रैक से हटा दी ट्रेन

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बाड़मेर। पाकिस्तान की सीमा में प्रवेश करने वाले रेलवे ट्रैक पर ठीक दो स्टेशनों के बीच इंजन फेल होने पर एक ट्रेन फंस गई। फंसी ऐसी कि उसे हटाने के लिए दूसरा इंजन भारत की ओर से आ रहे ट्रैक से लाना संभव नहीं था। विकल्प केवल पाकिस्तान का ही था कि इंजन वहां से मंगाया जाए। रेलवे को कुछ सूझ नहीं रहा था तो यात्रियों ने ही रास्ता निकाल लिया। वे उतरे और सभी ने एक साथ धक्का देकर ट्रेन को डेड एंड तक पहुंचाया। क्यों नहीं मंगाया जा सका दूसरा इंजन...
- बाड़मेर से मुनाबाव होकर पाकिस्तान की सीमा में प्रवेश करने वाला रेलवे ट्रैक सिंगल है। इसी ट्रेक से बाड़मेर की ओर से ज्यादातर ट्रेन भारत की सीमा के अंतिम स्टेशन मुनाबाव तक जाती हैं।
- दोनों स्टेशनों के बीच से एक अन्य ट्रैक कट रहा है। यह बाड़मेर स्टेशन के समानांतर है जो आगे डेड एंड से खत्म हो रहा है। यह वाशिंग ट्रैक है। जहां ट्रेनों की धुलाई-सफाई होती है।
- 13 कोच वाली ट्रेन वॉश होकर मुनाबाव स्टेशन के ट्रैक की ओर आगे बढ़ी, यहीं से बीच से कट कर रहे बाड़मेर स्टेशन की ओर जाने वाले ट्रेक पर ले जाया जाना था। इसी को बाड़मेर से मुनाबाव जाना था।
- हुआ यह कि इस ट्रैक के जंक्शन वाले हिस्से पर कालका एक्सप्रेस ट्रेन अाधी आगे और अाधी पीछे रह गई। यहीं इंजन फेल हो गया। यह सुबह 6:45 बजे बाड़मेर से चंडीगढ़ जाती है।
- न ट्रेन आगे बढ़ सकती थी और न ही पीछे वाले हिस्से पर बाड़मेर स्टेशन से कोई इंजन लाकर लगाया जा सकता था। मुनाबाव स्टेशन पर कोई एक्स्ट्रा इंजन नहीं था।
- अब एक ही विकल्प बचा था-पाकिस्तान। मुनाबाव के आगे पाकिस्तान की सीमा थी और वहीं से इंजन लाया जा सकता था।
- रेलवे पसोपेश में थी, क्या किया जाए। करीब ढाई घंटे तक कोई हल नहीं निकला।
यात्रियों ने यूं कर दी पहेली हल
- स्टेशन पर ट्रेन का इंतजार करते परेशान यात्री अटकी ट्रेन के पास पहुंच गए। वे भी रेलवे की ओर से किए जा रहे प्रयासों को ताकते रहे।
- परेशान एक महिला जोर से चिल्लाई- इतने सारे आदमी हो, बस खराब हो जाती है तो भी तो धक्का देते हो, ट्रेन को नहीं दे सकते क्या धक्का।
- कुछ लोग हंसे भी, लेकिन एक-एक कर कई लोगों के समझ में आ गया, अब यही विकल्प है। पाकिस्तान तो हमारी बात मानेगा नहीं, हम खुद ही इस महिला की बात मान लें।
- फिर सभी में जोश आया और लगे ट्रेन को धक्का लगाने। महिलाएं भी फिर पीछे कहां रहतीं, वे भी धक्का लगाती रहीं।
- कुछ देर की मशक्कत रही और ट्रेन के दो-दो डिब्बों को अलग कर फिर से वाशिंग ट्रैक पर लाकर खड़ा कर दिया गया। ऐसे ही पूरी ट्रेन यहां पहुंच गई।
- रेलवे की सांस में सांस आई। ट्रैक का जंक्शन खाली हुआ तो बाड़मेर से दूसरा इंजन लाया गया और उससे ट्रेन को फिर बाड़मेर स्टेशन पहुंचाया।
दो ट्रेन नहीं चल पाई समय पर
वॉशिंग ट्रैक पर फंसी ट्रेन कालका चंडीगढ़ एक्सप्रेस थी तो इसके कारण बाड़मेर स्टेशन पर फंसी ट्रेन बाड़मेर-मुनाबाव पैसेंजर ट्रेन थी। इसी ट्रेन के यात्रियों ने ट्रेन को धक्का लगाया।
फोटो-वीडियो : लाखाराम जाखड़
आगे वीडियो और फोटोज में देखिए कैसे यात्रियों को करनी पड़ी मशक्कत...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें