पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • फिल्म में एक्ट्रेस सोनम कपूर एयर होस्टेस नीरजा भनोट का रोल प्ले कर रही हैं

PHOTOS: इस एयर होस्टेस ने आतंकियों से बचाई थी 360 पैसेंजर्स की जान

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली. प्लेन के पैसेंजर्स को आतंकियों से बचाने वाली इंडियन एयर होस्टेस नीरजा भनोट की कहानी जल्द ही आपको सिल्वर स्क्रीन पर देखने को मिलेगी। इस बायोपिक्स के अलाबा सरबजीत सिंह की बहन दलबीर और कुश्ती क्वींस गीता और बबीता फोगाट के पिता महावीर फोगाट पर भी फिल्म बनाई जा रही है। अशोक चक्र से सम्मानित चंडीगढ़ शहर में जन्मी नीरजा का रोल एक्ट्रेस सोनम कपूर को मिला हैं, जिनका आज जन्मदिन है।
17 घंटे तक हाईजैक रहा था प्लेन
पाकिस्तान के कराची एयरपोर्ट पर आतंकियों ने 5 सितम्बर 1986 को मुंबई से अमेरिका जा रहे Pan Am 73 एयरलाइंस के प्लेन को हाईजैक कर लिया था। उस वक्त प्लेन में क्रू मेंबर्स के अलाबा 380 पैसेंजर्स मौजूद थे। हथियार बंद 4 आतंकियों ने करीब 17 घंटे तक प्लेन को अपने कब्जे में रखा। इस दौरान आतंकी सभी यात्रियों के पासपोर्ट चेक कर रहे थे। शायद वह प्लेन में सवार 40 अमेरिकी यात्रियों की पहचान कर उन्हें मारना चाहते थे। 23 साल की सीनियर एयर होस्टेस नीरजा ने सभी यात्रियों के पासपोर्ट लेकर प्लेन में छिपा दिए। केबिन क्रू के सारे मेंबर भाग निकले। इसी दौरान नीरजा ने चुपके से प्लेन का इमरजेंसी गेट खोल दिया, उनके पास बाहर निकलकर अपनी जान बचाने का मौका था लेकिन उन्होंने जान पर खेलकर 3 बच्चों को प्लेन से बाहर निकाला। इसी दौरान आतंकियों की गोलियों से उनकी मौत हो गई।
'हीरोइन ऑफ हाईजैक' नाम से मशहूर
हाइजैक प्लेन के अंदर बहादुरी से 360 यात्रियों की जान बचाने वाली नीरजा दुनिया के लिए कर्तव्यनिष्ठा की मिशाल हैं। आज इंटरनेशनल लेवल पर नीरजा का नाम 'हीरोइन ऑफ हाईजैक' के तौर पर मशहूर है। वह सबसे कम उम्र में मरणोपरान्त अशोक चक्र सम्मान पाने वाली पहली भारतीय हैं। 2004 में उनके सम्मान में एक डाक टिकट भारत सरकार ने जारी किया। इसके अलावा अमेरिका ने 2005 में उन्हें जस्टिस फॉर क्राइम अवार्ड दिया है। नीरजा के पिता हरीश भनोट मुंबई में एक अंग्रेजी अखबार में पत्रकार थे। फिलहाल उनका परिवार चंडीगढ़ में रहता है।
आगे की स्लाइड्स में देखिए, संबंधित खबर के फोटोज...
खबरें और भी हैं...