• Hindi News
  • नेपाल में 7.4 तीव्रता के भूकंप के झटके, काठमांडू एयरपोर्ट बंद किया गया।

नेपाल: भूकंप से मरने वालों की संख्या 36, 1000 से ज्यादा घायल

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
काठमांडू. नेपाल-भारत समेत दक्षिण एशिया में मंगलवार को भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। 25 अप्रैल को आए भूकंप की त्रासदी से उबरने की कोशिश कर रहा नेपाल भी इन झटकों से हिल उठा। नेपाल गृह मंत्रालय के मुताबिक, अब तक 58 लोग की मौत हो चुकी है। वहीं, घायलों की संख्या करीब 1000 बताई जा रही है। स्थानीय समयानुसार पहला झटका 7.3 तीव्रता का दोपहर 12.35 मिनट पर महसूस किया गया। इसका केंद्र नेपाल और चीन की सीमा पर स्थित कोडारी था। ये झटके पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश तक झटके महसूस किए गए।
नेपाल के दोलख इलाके में 90 फीसदी मकान ढह चुके हैं। वहीं, काठमांडू में पीएम ऑफिस की इमारत में दरार देखी गई है। चौतारा में एक इमारत गिरने से चार लोगों की मौत हो गई। सिंधुपालचक में जमीन खिसकने से 12 लोग घायल हो गए। नेपाल में तीन जगह भूस्खलन की खबर है। उधर, नुकसान से बचने के लिए काठमांडू एयरपोर्ट को बंद कर दिया गया है। काठमांडू जा रही जेट एयरवेज की फ्लाइट को लखनऊ डायवर्ट कर दिया गया है। एवरेस्ट बेस कैंप भी खाली कर लिया गया है। काठमांडू के घंटाघर में दरार आ गई है और घड़ी बंद हो गई है। बता दें कि 25 अप्रैल को आए 7.9 तीव्रता के भूकंप से नेपाल में 8,000 से ज्यादा लोग मारे गए। अब तक नेपाल में छह भूकंप के झटके महसूस किए जा चुके हैं। इसी बीच, काठमांडू में भारतीय दूतावास ने अपनी हेल्पलाइन +977 985-110-7021, +977 985-113-5141 जारी की है।
केंद्रसमयतीव्रता
कोडारी12.35 PM7.3
कोडारी12.47 PM5.6
रामेछाप01.06 PM6.3
कोडारी01.36 PM5.0
कोडारी01.43 PM5.1
कोडारी (15 किमी. नीचे)01.51 PM5.2
आगे की स्लाइड्स में देखें, नेपाल भूकंप से जुड़े फोटोज...