पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • वैश्विक नरमी से सोना और सस्ता, चांदी में भी गिरावट V

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वैश्विक नरमी से सोना और सस्ता, चांदी में भी गिरावट - v

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर। राजस्‍थान के दौसा में गुरुवार रात हुए सड़क हादसे के बाद बीजेपी एमपी हेमा मालिनी शनिवार को चार्टर्ड प्‍लेन से मुंबई पहुंच गई (देखें PHOTOS)। लेकिन, उस रात उनकी मर्सडीज और एक साइकिल कारोबारी की ऑल्टो कार में हुई टक्कर से घायल हुईं शिखा और उनके परिवार के बाकी सदस्‍यों की हालत अभी भी खराब है। शिखा को अभी भी नहीं पता कि उनकी डेढ़ साल की बेटी चिन्नी इस दुनिया में नहीं रही। उसने रोती हुई बेटी से वादा किया था कि वह उसे कभी अकेला नहीं छोड़ेगी। यह कहते हुए उसने चिन्‍नी को गोद में उठाया था और गोद में लिए ही कार में बैठ गई थी। पति हनुमान खंडेलवाल कार ड्राइव कर रहे थे। उनकी बगल वाली सीट पर शिखा और चिन्‍नी बैठी थी। अचानक जैसे हवा का झोंका आया और मां की गोद से बेटी छिटक गई। एसएमएस अस्पताल के बिस्तर पर बेसुध-सी लेटी शिखा बार-बार पूछ रही हैं- मेरी चिन्नी कहां है। उसकी शक्ल तो दिखाओ, मेरे बिना वह रो रही होगी। लेकिन उन्‍हें कोई नहीं बता रहा कि अब चिन्‍नी हमेशा के लिए खामोश हो गई है।
शिखा के पति हनुमान दौसा के लालसोट में पिता से विरासत में मिली साइकिल की दुकान चलाते हैं। तीन साल पहले उनके पिता की मौत हो गई थी। तब से पूरे परिवार की जिम्मेदारी उन्हीं पर है। उनकी तीन बहनें हैं। सबसे छोटी बहन की शादी उन्‍होंने ही करवाई थी। इस बहन के बेटे के जन्म से जुड़े कार्यक्रम के लिए खरीददारी करने वह जयपुर आए थे। गुरुवार को बेटे शोमिल और बेटी चिन्नी को बुआ के घर छोड़कर वह और शिखा बाजार चले गए थे। लौटे तो चिन्नी सिसक-सिसक कर रोने लगी। मां शिखा ने उसे गोद में उठाया और बोली, "चिंता मत कर, आज के बाद कभी अकेला नहीं छोड़ूंगी। हमेशा अपनी गोद में ही रखूंगी।" चिन्नी इसके बाद गोद से नहीं उतरी और गोद में ही बैठे-बैठे परिवार के साथ कार में बैठी थी। कार जयपुर से दौसा की ओर चली। रास्‍ते में हेमा मालिनी की मर्सडीज से टकरा गई। इसमें पूरा परिवार घायल हो गया और बच्‍ची की मौत हो गई।
शिखा का इलाज जयपुर के एसएमएस हॉस्पिटल के ट्रॉमा सेंटर में चल रहा है। हादसे के बाद वह बेहोश हो गई थीं। हालांकि, अभी उन्हें होश आ गया है, लेकिन घरवालों ने उनसे बच्ची की मौत की बात नहीं बताई है। उन्हें यही बताया गया है कि दोनों बच्चे सुरक्षित हैं और उनका इलाज चल रहा है। घरवाले हर संभव यही कोशिश कर रहे हैं कि शिखा को शक न हो। हनुमान का कहना है कि टक्कर के बाद उनकी बेटी कार से निकलकर बाहर गिर गई, जिससे उसे गहरी चोटें आई थीं।
हनुमान का कहना है कि हादसे के बाद 20-25 मिनट तक वे घटनास्थल पर ही मदद का इंतजार करते रहे। अगर उनकी बेटी को वक्त पर अस्पताल पहुंचा दिया गया होता तो उसकी जान बच सकती थी। (हादसे के बारे में विस्तार से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)
हनुमान ने बताया कि हादसे में घायल उनके बेटे सोमिल की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है। वह आईसीयू में है। (घायलों की फोटो आगे की स्‍लाइड्स में दी गई हैं और हादसे में घायल हेमा मालिनी की फोटोज देखने के लिए यहां क्लिक करें)

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

और पढ़ें