7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली. दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल के बीच चल रही खींचतान पर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बयान दिया है। बुधवार को राष्‍ट्रपति से मिल कर निकलने के बाद उन्‍होंने मीडिया से कहा, ''मुझे उम्मीद है कि एलजी और दिल्ली के मुख्यमंत्री मिल बैठकर समस्या का समाधान निकालेंगे।'' हालांकि, उन्होंने यह साफ किया कि राष्ट्रपति से मुलाकात इस मुद्दे को लेकर नहीं थी।
और बढ़ा झगड़ा
इससे पहले बुधवार को एक ओर जहां मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सरकारी अफसरों के साथ बैठक कर रहे थे तो दूसरी ओर उपराज्यपाल नजीब जंग ने पिछले चार दिनों में सरकार द्वारा किए गए सभी ट्रांसफर-पोस्टिंग रद्द करने का आदेश दे दिया। जंग ने सभी अफसरों को निर्देश दिया है कि पहले की तरह सरकार के पास ले जाने से पहले फाइलें उनके पास लाई जाएं।
केजरीवाल ने लिखा पीएम को पत्र, लगाया दिल्ली सरकार चलाने का आरोप
दिल्ली में अफसरों की नियुक्ति को लेकर एलजी और मुख्यमंत्री के बीच चल रही तनातनी के बीच सीएम अरविंद केजरीवाल ने पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है। चिट्ठी में केजरीवाल ने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार एलजी के जरिए दिल्ली में शासन चला रही है। केजरीवाल ने पीएम से मांग की है कि दिल्ली सरकार को कानून के मुताबिक मिली आजादी के तहत काम करने दिया जाए।
सीएम, डिप्टी सीएम ने की अफसरों के साथ बैठक
दिल्ली सचिवालय में दिल्ली सरकार के अफसरों के साथ सीएम और डिप्टी सीएम ने बैठक की। बैठक में कार्यवाहक सचिव गैमलीन भी मौजूद रहीं। सूत्रों के मुताबिक़, इस बैठक में सभी विभागों के प्रमुख, सचिव और प्रधान सचिव शामिल थे। बता दें कि इससे पहले डिप्टी सीएम सिसोदिया ने सभी अफसरों को बैठक में संविधान और नौकरी का शपथ पत्र पढ़ के आने को कहा था।
छुट्टी पर गए अनिंदो मजुमदार
उधर, बताया जा रहा है कि प्रधान सचिव(सेवा), अनिंदो मजुमदार केजरीवाल द्वारा अपने दफ्तर पर ताला जड़वाए जाने से नाराज होकर छुट्टी पर चले गए हैं। गौरतलब है कि मजुमदार और सरकार के बीच संबंध खराब रहे हैं। मजुमदार ने कार्यवाहक सचिव शकुंतला गैमलिन की नियुक्ति का आदेश जारी किया था जिसकी वजह से दिल्ली सरकार ने उनका महकमा छीन लिया। सोमवार को उनके दफ्तर पर ताला भी लगवा दिया था। बाद में एलजी ने उनकी नियुक्ति बहाल की।
अफसरों के छुट्टी पर जाने की बात को डिप्टी सीएम ने किया खारिज
बुधवार की सुबह डिप्टी सीएम सिसोदिया ने ट्वीट करके उन खबरों का खंडन किया, जिनमें कहा जा रहा था कि दिल्ली सरकार के कई अफसर छुट्टी पर चले गए हैं। सिसोदिया ने लिखा, ''टीवी चैनल खबर चला रहे हैं कि 45 अफसर विरोध में छुट्टी पर चले गए हैं। दिल्ली सरकार के पास किसी भी अफसर की छुट्टी का एक भी आवेदन नहीं आया है। अगर चैनलों के पास अफसरों ने छुट्टी के लिए आवेदन किया है तो हमें भेज दें ताकि हम उस पर निर्णय ले सकें।''