--Advertisement--

बुजुर्ग दंपती की गिरवी प्रॉपर्टी को धोखे से कराया अपने नाम, केस दर्ज

फाइनांस कंपनी के पास प्रॉपर्टी गिरवी रखकर 87 लाख रुपए लोन लेने वाले बुजुर्ग दंपती की प्रॉपर्टी फाइनेंसरों ने धोखे...

Dainik Bhaskar

Feb 03, 2018, 02:00 AM IST
बुजुर्ग दंपती की गिरवी प्रॉपर्टी को धोखे से कराया अपने नाम, केस दर्ज
फाइनांस कंपनी के पास प्रॉपर्टी गिरवी रखकर 87 लाख रुपए लोन लेने वाले बुजुर्ग दंपती की प्रॉपर्टी फाइनेंसरों ने धोखे से अपने ही लोगों के नाम करवा ली। अब फाइनेंसरों की ओर से उन्हें घर खाली करने की धमकियां दी जा रही हैं, जबकि उनसे घर खाली कराने के लिए खरड़ अदालत में केस भी डाल दिया गया है। इस बारे में एसएसपी द्वारा कराई गई जांच के बाद सिटी पुलिस ने मुंडी खरड़ की 73 वर्षीय कंवजीत कौर की शिकायत पर सोहाना के प्रकाश ठाकुर, डेराबस्सी के दीपक गुप्ता उर्फ दीपक लखानी, पलसौरा के कुनाल धामी और जीरकपुर के सचिन मित्तल पर धारा 420, 506 और 120 बी के तहत केस दर्ज कर लिया है।

कंवलजीत कौर ने 30 अक्टूबर 2017 को एसएसपी को दी शिकायत में बताया था कि उन्होंने शिवा कॉलोनी पिंजौर के मान सिंह के माध्यम से एक फाइनांस कंपनी के पास अपने शोरूम गिरवी रखकर 4 प्रतिशत बयाज पर 75 लाख रुपए और मकान गिरवी रखकर 3 प्रतिशत बयाज पर 12 लाख रुपए लोन लिया था। उन्होंने बताया कि वे अनपढ़ हैं। उनके बेटे एनआरआई हैं और वे अपने पति दलजीत सिंह के साथ मुंडी खरड़ में रहती हैं। उनके पति बीमार रहते हैं। वे समय पर उक्त कंपनी में बयाज जमा करवाती रहीं, जिसकी रसीदें और बैंक दस्तावेज उन्होंने पुलिस को दिखाए। बाद में उन्हें पता चला कि लोन दिलवाने वाले व्यक्ति ने भी उक्त कंपनी से 25 लाख रुपए लोन ले रखा था। इसकी बयाज सहित रकम 33 लाख होने के बाद कंपनी के लोगों ने उन्हें घर आकर यह कहकर तंग करना शुरू कर दिया कि यह 33 लाख रुपए भी वही जमा कराएं। इसकी अंतिम तिथि 30 अक्टूबर 2017 बताई गई। कंवलजीत को इस बात की जानकारी नहीं थी कि मान सिंह ने भी कोई लोन ले रखा है। उन्होंने बताया कि उन्हें अपना खुद का कर्ज उतारने के लिए भी अभी दो महीने बाकी थे। इसके बावजूद कंपनी के लोग उन्हंे मकान खाली करने को धमका रहे थे। इस पर उन्होंने एसएसपी को शिकायत दी।

यह कहती है पुलिस जांच: एसएसपी द्वारा करवाई गई जांच में यह बात स्पष्ट हुई कि बुजुर्ग महिला के शोरूम खाली करवाने के लिए आरोिपयों ने खरड़ अदालत में केस डाल दिया है। इस बारे में महिला को समन जारी होने पर पता चला कि उसके मकान व शोरूम के िगरवी रखे दस्तावेजों के आधार पर धोखे से आरोपी प्रकाश व दीपक ने उक्त संपत्ति की अपने नाम रजिस्ट्री करवा ली। जांच में सामने आया कि एक ही दिन में 6 जून 2017 को 8 चेक प्रकाश ने अपने खाते के िशकायतकर्ता को जारी किए, जबकि दीपक ने 10 मार्च 2017 को अपने खाते के चार चेक दिए, िजससे साबित हो गया कि उक्त लोगों ने प्राॅपर्टी िगरवी रख कर 87 लाख रुपए लोन दिया। अब प्रकाश व दीपक बुजुर्ग महिला की संपत्ति अपने कब्जे में लेना चाहते हैं।

X
बुजुर्ग दंपती की गिरवी प्रॉपर्टी को धोखे से कराया अपने नाम, केस दर्ज
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..