• Hindi News
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Kurali
  • जिले के 14 गांवों के लोगों ने पीएलपीए 1900 के विरोध में डीसी ऑफिस के बाहर दिया धरना
--Advertisement--

जिले के 14 गांवों के लोगों ने पीएलपीए 1900 के विरोध में डीसी ऑफिस के बाहर दिया धरना

जिले के कई गांवों के लोगों की ओर से अपनी मांगों को लेकर शुक्रवार को डीसी कार्यालय के बाहर रोष धरना दिया गया। लोगों...

Dainik Bhaskar

Feb 03, 2018, 02:00 AM IST
जिले के 14 गांवों के लोगों ने पीएलपीए 1900 के विरोध में डीसी ऑफिस के बाहर दिया धरना
जिले के कई गांवों के लोगों की ओर से अपनी मांगों को लेकर शुक्रवार को डीसी कार्यालय के बाहर रोष धरना दिया गया। लोगों की मांग थी कि जंगलात विभाग की ओर से उन्हें कई तरीकों से परेशान किया जा रहा है। जिले के 14 गांवों पर गैरकानूनी तरीके से पीएलपीए 1900 एक्ट लगाने के प्रयासों का विरोध करते हुए पीड़ित गांववासी शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष हरजीत सिंह ग्रेवाल और सचिव विनीत जोशी की अगुअाई में डीसी कार्यालय के बाहर पहुंचे और धरना दिया। इस मौके पर डीसी गुरप्रीत कौर सपरा को एक ज्ञापन भी दिया गया। धरने पर बैठे गांववासियों ने बताया कि पंजाब सरकार का फॉरेस्ट डिपार्टमेंट कोर्ट के आदेशों की अवहेलना करते हुए मोहाली के अधीन आते 14 गांवों सिसवां, छोटी-बड़ी नग्गल, माजरा, पल्लनपुर, ढुलवां, माजरियां, स्यूंक, तारापुर, मिर्जापुर, गौचर, बुरवाणा, नाडा व पड़छ पर गैरकानूनी तरीके से पीएलपीए 1900 एक्ट लगाने का प्रयास कर रहा है। ग्रेवाल व जोशी ने कहा कि हाईकोर्ट के स्पष्ट आदेश हैं कि अगर पीएलपीए 1900 इन गांवों पर लगाना है तो सबसे पहले सरकार वैज्ञानिक व कानूनी तरीके से अध्यन करवाकर इस निर्णय पर पहुंचे कि इन गांवों में भूमि/मिट्टी का कटाव या फिर भू-स्खलन हो रहा है तथा पानी का ग्राफ गिर रहा है। दूसरा इस निर्णय पर पहुंचे कि पीएलपीए लगाकर ही इसे रोका जा सकता है। तीसरा अगर पीएलपीए लगाना है तो पीएलपीए की धारा 7 के तहत निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार लगाया जाए, लेकिन फॉरेस्ट डिपार्टमेंट के अफसर सरकार को गुमराह कर गैरकानूनी तरीके से यह एक्ट लगवाने का प्रयास कर रहे हैं। गांववासियों ने मांग की है कि पीएलपीए 1900 के तहत नई नोटिफिकेशन करते हुए सरकार पीएलपीए 1900 की धाराओं के अनुसार विस्तृत प्रक्रिया का पालन सुनिश्चित करें।

पावरकॉम मुलाजिमों को नहीं मिली सैलरी, सरकार को कोसा कुराली| पॉवरकाम के मुलाजिमों ने उन्हें सैलरी न मिलने पर शुक्रवार को बिजली दफतर के आगे पंजाब सरकार को कोसा और नारेबाजी की। मोरिंडा रोड पर उप-मंडल दफ्तर के आगे इस रोष रैली को संबोधित करते हुए पीएसईबी इम्पलाॅइज फेडरेशन (ऐटक) और टेक्निकल सर्विसिज यूनियन के सांझे तौर पर प्रदर्शन में मल सिंह, सुखवीर सिंह, भूपेंद्र सिंह, निर्मल सिंह, सुरेंद्र शर्मा ,रणजीत सिंह और अन्य ने संबोधित किया।


मोहाली। टेक्निकल सर्विसेज यूनियन और पीएसईबी इम्प्लॉइज फेडरेशन एटक मोहाली के सदस्यों ने इस महीने वेतन न देने के विरोध में बिजली बोर्ड के डिवीजन ऑफिस के बाहर धरना दिया। उन्होंने कई अन्य मांगें भी रखीं।


मोरिंडा | शुगर मिल मोरिंडा में भारतीय किसान यूनियन लक्खोवाल की ओर से किसान पंचायत लगाई गई। इसमें जिला रूपनगर और फतेहगढ़ साहिब से किसानों और गन्ना उत्पादकों ने हिस्सा लिया। नंबरदार रणधीर सिंह ने बताया कि इस दौरान कर्ज माफी, गन्ने की बकाया रकम, अावारा पशुओं की समस्या और अन्य मांगों को लेकर पंजाब सरकार के खिलाफ रोष जताया गया। यूनियन के प्रदेश महासचिव हरिंदर सिंह ने कहा कि बड़े-बड़े वादे कर सत्ता में आई कैप्टन सरकार ने किसानों के कर्जे तो क्या माफ करने थे, उनकी मोटरों पर भी बिल लगाने का फैसला कर किसान विरोधी होेने का सबूत दिया है।

X
जिले के 14 गांवों के लोगों ने पीएलपीए 1900 के विरोध में डीसी ऑफिस के बाहर दिया धरना
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..