• Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • सड़क हादसे में मारे गए स्ट्रे डॉग्स का अंतिम संस्कार करती हैं मोहाली की बिंदू
--Advertisement--

सड़क हादसे में मारे गए स्ट्रे डॉग्स का अंतिम संस्कार करती हैं मोहाली की बिंदू

मोहित शंकर | मोहाली mohit.shanker@dhrsl.com पटियाला जाते हुए हाईवे पर सड़क के बीचों-बीच जब एक स्ट्रे डॉग के शव को गाड़ियों के नीचे...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:05 AM IST
मोहित शंकर | मोहाली mohit.shanker@dhrsl.com

पटियाला जाते हुए हाईवे पर सड़क के बीचों-बीच जब एक स्ट्रे डॉग के शव को गाड़ियों के नीचे कुचलते हुए देखा तो मन में एक अजीब सी चीस उठी और सोचा कि अगर उस डॉग के मरने के बाद अगर इसका कोई अंतिम संस्कार कर देता तो उस डॉग के शव की हालत यह नहीं होती। यह बात मोहाली निवासी बिंदू शर्मा ने कही। दरअसल बिंदू मूलरूप से पटियाला की रहने वाली हैं और मोहाली के झुझार नगर में रहती हैं वह ब्यूटीशियन का काम करती हैं। बिंदू ने बताया करीब 1 साल पहले वो अपने घर पटियाला जा रही थी तो उन्होंने ऐसे एक डॉग के शव को सड़क पर गाड़ियों के नीचे कुचलते हुए देखा था। जिसके बाद उन्होंने अपने मन में प्रण लिया कि वो सड़क पर ऐसे स्ट्रे डॉग्स का अंतिम संस्कार करेंगी जिनके बारे में सोचने वाला कोई नहीं है। उसके बाद से उन्होंने अपने स्तर पर ऐसे स्ट्रे डॉग्स का अंतिम संस्कार करना शुरू किया।


बिंदू शर्मा ने बताया कि अब वो जहां भी सड़क पर किसी स्ट्रे डॉग को मरा हुआ देखती हैं वो तुरंत वहां पर रूक कर उस स्ट्रे डॉग के शव का अंतिम संस्कार करने का काम करती है। उन्होंने बताया कि ऐसे डॉग्स को पहले किसी रस्सी से बांध कर वो आस-पास की खाली एरिया में ले जाकर कर गड्ढा खोद कर उस डॉग के शव को उसमें डाल कर उसके ऊपर नमक डाल कर उसका अंतिम संस्कार करती हैं और उसके बाद उस डॉग की आत्मा की शांति के लिए गुरुद्वारा साहिब और मंदिर में जाकर प्रार्थना भी करती हैं। बिंदू ने बताया कि जब वो ऐसे किसी डॉग का अंतिम संस्कार करने का काम करती है तो कई बार वो अकेली होने के कारण उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।