Hindi News »Chandigarh Zilla »Mohali» आज से शराब की एक बोतल खरीदें या पेटी, मिलेगा बिल

आज से शराब की एक बोतल खरीदें या पेटी, मिलेगा बिल

हाईकोर्ट के निर्देश के बाद 1 अप्रैल से शराब बेचने वाले शराब के ठेकों पर आपको बिल मिलेगा। भले ही आप एक क्वार्टर खरीद...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:05 AM IST

आज से शराब की एक बोतल खरीदें या पेटी, मिलेगा बिल
हाईकोर्ट के निर्देश के बाद 1 अप्रैल से शराब बेचने वाले शराब के ठेकों पर आपको बिल मिलेगा। भले ही आप एक क्वार्टर खरीद रहे हो या फिर पूरी पेटी क्यों न खरीद रहे हों। पहली बार कोर्ट के निर्देश पर शराब के बिल देने की शुरुआत की गई है। बिल का मकसद शराब की क्वालिटी खराब होने पर आप बिल के आधार पर कंज्यूमर कोर्ट व अन्य लीगल कार्रवाई कर सकते हैं। पहले शराब खरीदने पर बिल नहीं दिया जाता था और अगर आप किसी ठेके से शराब ले गए हैं और वापस करनी हो तो भी वे वापस नहीं करते थे। लेकिन अब बिल मिलने के बाद यह सारी परेशानियां दूर हो जाएंगी। एक्साइज एंड टेक्सेशन विभाग की ओर से सभी वाइन वेंडर्स को साफ हिदायतें दी गई हैं कि वे शराब देते समय बिल दें। भले ही खरीददार बिल मांगे या न मांगे। खरीददार को आप शराब खरीदने के बाद तुरंत बिल देने की प्रक्रिया 1 अप्रैल से शुरू करें। शराब का बिल देने की शुरुआत का फायदा शराब से होने वाले किसी भी प्रकार के नुकसान से अदालत में चैलेंज करने में मददगार साबित होगा। यदि कोई व्यक्ति बिल सहित शराब खरीदता है और उसे यह शराब खराब करती है या शराब में कोई खामी पाई जाती है तो ऐसे में वह ग्राहक बिल के आधार पर शराब के ठेकेदार को कटघरे में खड़ा कर सकेगा और मुआवजा व सजा तक करवा सकता है। पहले ऐसे कोई बिल न मिलने के कारण ठेकेदार पर कोई कार्रवाई करना मुश्किल था।

फंक्शन के लिए खरीदी गई ज्यादा शराब भी हो सकेगी वापस...

यदि आप अपने किसी फंक्शन के लिए खराब की पेटियां खरीदते हैं तो और वे बच जाती है तो इन्हें भी अब बिल होने के कारण वापिस किया जा सकेगा। पहले उन लोगों की ही खरीदी गई शराब वापिस होती थी जो रसूखदार व जान पहचान वाले होते थे। फंक्शन में किस ठेके से शराब आई है इसका पता भी अब एक्साइज टीम को चल सकेगा कि परमिट लिया है या नहीं तथा बाहरी राज्य की शराब का इस्तेमाल तो नहीं हो रहा चैक करने के लिए टीम हमेशा ही फंक्शन में जाती है।

पहले दिन नहीं दिया किसी भी वैंडर ने बिल

1 अप्रैल से सभी शराब के ठेके नए ठेकेदारों द्वारा चलाए जाएंगे। पहले दिन ठेकों के सैटअप में वाइन वेंडर्स जुटे रहे। जहां भी शराब बिकी वहां पर बिल नहीं दिया गया है। सभी ने कहा कि आने वाले एक या दो दिन में प्रक्रिया दुरुस्त कर दी जाएगी।

मनोज जोशी | मोहाली

हाईकोर्ट के निर्देश के बाद 1 अप्रैल से शराब बेचने वाले शराब के ठेकों पर आपको बिल मिलेगा। भले ही आप एक क्वार्टर खरीद रहे हो या फिर पूरी पेटी क्यों न खरीद रहे हों। पहली बार कोर्ट के निर्देश पर शराब के बिल देने की शुरुआत की गई है। बिल का मकसद शराब की क्वालिटी खराब होने पर आप बिल के आधार पर कंज्यूमर कोर्ट व अन्य लीगल कार्रवाई कर सकते हैं। पहले शराब खरीदने पर बिल नहीं दिया जाता था और अगर आप किसी ठेके से शराब ले गए हैं और वापस करनी हो तो भी वे वापस नहीं करते थे। लेकिन अब बिल मिलने के बाद यह सारी परेशानियां दूर हो जाएंगी। एक्साइज एंड टेक्सेशन विभाग की ओर से सभी वाइन वेंडर्स को साफ हिदायतें दी गई हैं कि वे शराब देते समय बिल दें। भले ही खरीददार बिल मांगे या न मांगे। खरीददार को आप शराब खरीदने के बाद तुरंत बिल देने की प्रक्रिया 1 अप्रैल से शुरू करें। शराब का बिल देने की शुरुआत का फायदा शराब से होने वाले किसी भी प्रकार के नुकसान से अदालत में चैलेंज करने में मददगार साबित होगा। यदि कोई व्यक्ति बिल सहित शराब खरीदता है और उसे यह शराब खराब करती है या शराब में कोई खामी पाई जाती है तो ऐसे में वह ग्राहक बिल के आधार पर शराब के ठेकेदार को कटघरे में खड़ा कर सकेगा और मुआवजा व सजा तक करवा सकता है। पहले ऐसे कोई बिल न मिलने के कारण ठेकेदार पर कोई कार्रवाई करना मुश्किल था।

खरीददार बिल लेकर ही खरीदे शराब

सरकार की ओर से जो शराब के ठेकों पर बिल देने के नियम को लागू किया गया है वो सराहनीय है। कंज्यूमर प्रोटेक्शन फैडरेशन के अध्यक्ष पीएस विरदी ने सभी अपील की कि वे यदि शराब के ठेके से खरीदते हैं तो पहले बिल ले और उसके बाद पैसे अदा करें।

शराब पीने से कोई बीमार हुआ तो दर्ज करवा सकेंगे शिकायत...

शराब पीने के कारण यदि किसी प्रकार की कोई बडी घटना होती है जिसमें ग्राहक या शराब पीने वाली की मौत, या शराब पीने से भारी संख्या में लोगों का बीमार होकर अस्पताल पहुंचना आदी ऐसे मामले है। जिनमें पहले बिल न होने के कारण कार्रवाई करना मुश्किल था और अब बिल मिलने के बाद यदि शराब से कोई बीमार होता है या किसी की मौत होती है। इस पर भी ठेकेदार पर कार्रवाई करना आसान हो जाएगा।

सभी वाइन वेंडर्स को शराब का बिल देने की हिदायतें जारी कर दी गई हैं। जो सरकार के निर्देश हंै उनके अनुसार बिल दिया जाना अनिवार्य है। कोई भी वेंडर्स बिल देने से इंकार नहीं कर सकेगा। -परमजीत सिंह, एडिशनल एक्साइज एंड टेक्सेशन कमिश्नर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mohali

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×