• Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • नियमित शारीरिक गतिविधि महत्वपूर्ण होती है : डॉ. राहुल
--Advertisement--

नियमित शारीरिक गतिविधि महत्वपूर्ण होती है : डॉ. राहुल

मोहाली| इंटरनेशनल डीप वीन थ्रोम्बोसिस (डीवीटी) जागरूकता महीने के एक हिस्से के रूप में डॉ. राहुल जिंदल ने एक हेल्थ...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:05 AM IST
मोहाली| इंटरनेशनल डीप वीन थ्रोम्बोसिस (डीवीटी) जागरूकता महीने के एक हिस्से के रूप में डॉ. राहुल जिंदल ने एक हेल्थ कैंप में शामिल 100 से अधिक लोगों को संबोधित किया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि डीप वेन थ्रोम्बोसिस (डीवीटी) एक गंभीर स्थिति है, जो सामान्यतः पैर की नसों या पेल्विक नसों में खून का थक्का बनती है और ये मुख्य तौर पर गुर्दे की शिरा (गुर्दा नस), पोर्टल शिरा (यकृत नस), मेजेन्ट्रीक नस (आंत्र नस), अवर गंजा, रेटिना नस (आंख की शिरा), और कॉर्टिकल नस (मस्तिष्क नस) में समस्या पैदा करती है। डॉ. राहुल जिंदल ने कहा कि डीवीटी को रोकने के लिए नियमित शारीरिक गतिविधि बेहद जरूरी है और बेहद महत्वपूर्ण है। डीवीटी के उपचार के बारे में बात करते हुए डॉ. जिंदल ने कहा कि इन रोगियों में से अधिकांश को अत्यधिक दर्द के साथ पैर की सूजन और त्वचा में विभिन्न जगहों पर गर्मी महसूस होने की स्थिति में अस्पताल में लाया जाता है। दवाओं के साथ उनके इस रोग का सफल उपचार एवं प्रबंधन होता है और कुछ मरीजों में खून के थक्के को हटाने के लिए सर्जरी प्रक्रिया या इन नसों में स्टेंटिंग की प्रक्रिया में से गुजरना पड़ता है। उपचार के साथ, इन लक्षणों को दो से तीन सप्ताह के भीतर दूर हो जाते हैं। उन्हें 1-2 दिनों के भीतर घूमने की अनुमति दी जाती है। वे खूनी पतले होने की दवाएं लेते हैं और वे 6 महीनों से लेकर जीवनभर खानी पड़ सकती है।