Hindi News »Chandigarh Zilla »Mohali »Zirakpur» गाजीपुर में मोना ग्रीन के अपार्टमेंट में फ्लैट में सो रहे परिवार पर रात 4 बजे हमला नाकाम

गाजीपुर में मोना ग्रीन के अपार्टमेंट में फ्लैट में सो रहे परिवार पर रात 4 बजे हमला नाकाम

अगर आप अपने परिवार की सुरक्षा को देखकर जीरकपुर के किसी अपार्टमेंट में फ्लैट ले रहे हैं तो सुरक्षा के इंतजामों को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:10 AM IST

गाजीपुर में मोना ग्रीन के अपार्टमेंट में फ्लैट में सो रहे परिवार पर रात 4 बजे हमला नाकाम
अगर आप अपने परिवार की सुरक्षा को देखकर जीरकपुर के किसी अपार्टमेंट में फ्लैट ले रहे हैं तो सुरक्षा के इंतजामों को पहले ही अच्छी तरह से चेक कर लें। क्योंकि अधिकतर अपार्टमेंट्स बनाने वाले बिल्डर्स ग्राहकों को जो ब्रोशर देते हैं, वे नाकाम ही साबित हो रहे हैं। ऐसा न हो कि आप अपनी ड्यूटी पर चले जाएं और पीछे से आपके फ्लैट में प|ी, बच्चे और बूढ़ मां बाप के साथ कोई अनहोनी हो जाए। गाजीपुर में मोना ग्रीन अपार्टमेंट में सुरक्षा के इंतजामों को लेकर लोगों में बेहद चिंता है। ऐसे कई अपार्टमेंट्स है। इनमें चोरी की वारदातें हो रही हैं।

रविवार तड़के यहां मोना ग्रीन में 802 नंबर के फ्लैट में परिवार अंदर सो रहा था। फ्लैट के मेन डोर पर दो दरवाजे लगे हैं। एक जाली वाला व दूसरा मेन डोर। इसमें रहने वाले घनश्याम ने बताया कि रात करीब पौने चार बजे दरवाजे पर आवाज आई। यह आवाज मेरी प|ी ने सुनी। बाद में मैं भी जाग गया। आवाज ऐसी थी जैसा कोई किसी चीज पर जोर से चोट मार रहा हो। मैंने आराम से अंदर का मेन डोर खोला। सामने जाली वाला डोर भी लॉक था। मेरे दरवाजा खोलते ही बाहर जो भी लोग थे, वे भाग गए। वे हमारा जाली वाला डोर लॉक कर चले गए।

बाद में मैने अपने पड़ोसी को आवाज देकर दरवाजा खुलवाया तब हम बाहर आए। मैं सोलन में जॉब करता हूं, परिवार की चिंता है। जो यहां 8वीं फ्लोर पर पहुंच सकते हैं। वे किसी के साथ कुछ भी कर सकते हैं। जब सुबह अपार्टमेंट में लगे सीसीटीवी चेक किए तो सभी बंद पड़े थे। इसलिए पता नहीं चला कि कौन यहां रात किस मकसद से आया था। हमला करने आया था या फिर चोरी करने आया थे। वे मेन गेट पर सिक्योरिटी होने के बाद भी अंदर कैसे आ गए। इस पर सिक्योरिटी को लेकर कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

पुलिस ने मौके का किया मुआयना...यहां के रेजिडेंट्स ने पुलिस को इसकी शिकायत दी। लोगों ने कहा कि यहां यह अपार्टमेंट्स पूरी तरह से असुरक्षित है। यहां बिल्डर्स की ओर से सुरक्षा के अलावा कई अन्य काम भी अधूरे छोड़े गए हैं।

लोगों ने कहा कि यहां बिल्डर्स ने विश्वनाथ गुप्ता नाम के बंदे को देखरेख के लिए रखा है। मोना ग्रीन के ऑफिस में बैठे विश्वनाथ गुप्ता ने बताया कि मैं यहां कलेक्शन के लिए बैठा हूं। बिल्डर दिल्ली में हैं। रात की घटना के बारे में गुप्ता ने हंसते हुए कहा कि जो 8वीं मंजिल पर गया था, चोर को डर नहीं लगा कि अगर पकड़ा गया तो उसे नीचे फेंक देंगे। गुप्ता ने कहा कि सीसीटीवी ठीक किए जा रहे हैं।

कई जगह हो रही चोरियां... यहां ढकोली के गुलमोहर ट्रेंड सोसायटी के दो फ्लैट में पिछले हफ्ते ही चोरी हुई थी। यहां गेट पर सिक्योरिटी और सीसीटीवी दोनों ही हैं। वीआईपी रोड पर निर्मल छाया में कई बार फ्लैट्स में चोरी हो गई। वीआईपी रोड पर बने अपार्टमेंट्स में भी चोरियों की वारदातें हो रही हैं।

तोड़ा गया दरवाजा।

मैं यहां दो साल से रह रहा हूं। बिल्डर्स को कह कह कर थक चुका हूं। दावा किया था कि 24 घंटे सिक्योरिटी मिलेगी। पर यहां तो सिक्योरिटी के नाम पर एकाध गार्ड ही रखा है। कहीं सीसीटीवी काम नहीं कर रहे हैं। लोगों ने साथ धोखा हो रहा है। - सुधांशु, निवासी मोना ग्रीन गाजीपुर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Zirakpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×