ज़िरकपुर

--Advertisement--

पोस्टमाॅर्टम में पूनम के गले में नहीं मिले निशान

पीरमुछल्ला में गांव के एक मकान की दूसरी मंजिल पर किराए पर भाई के साथ रह रही पूनम की मौत हाथ की नस कटने के बाद खून बहने...

Danik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:15 AM IST
पीरमुछल्ला में गांव के एक मकान की दूसरी मंजिल पर किराए पर भाई के साथ रह रही पूनम की मौत हाथ की नस कटने के बाद खून बहने से हुई थी, न की गला दबाने से हुई थी। पोस्टमाॅर्टम में गले में किसी भी तरह के निशान नहीं मिले थे। पुलिस ने बिसरा रिपोर्ट फॉरेंसिक लैब को भेज दी है। ताकि, मौत की असली वजह पता लग सके। अभी पुलिस इसे सुसाइड ही मानकर चल रही है। सबूतों के आधार पर पुलिस ने इस मामले मेंं 174 यानि कि आत्महत्या का मामला दर्ज किया है। लेकिन, इस केस में धाराएं बदली भी जा सकती हैं, अगर बिसरा रिपोर्ट में कुछ और भी आता है। पूनम की मौत बुधवार व वीरवार की आधी रात को संदिग्ध हालत में हुई थी। उसका भाई भी उस रात घर पर ही था। लेकिन, उसका कहना है कि जब उसकी बहन से अपनी कलाई को ब्लेड से काटा गया तो वह छत पर था। बाद में छत से नीचे आने के बाद वह उसी कमरे में सोता रहा। अगर उसने हत्या की होती तो वह वहां से भाग भी सकता था, पर वह वीरवार दिन में करीब 10 बजे तक सोता रहा। उसे पता ही नहीं था कि उसकी बहन की मौत रात को हो चुकी है। इसलिए शव के पास ही वह आराम से सोता रहा।

रवि ने बताया कि फोन पर किसी से बात करने के बाद ही वह गुस्से में थी। पहले उसने खुद अपना गला दबाने की कोशिश की। बाद में मुझे कहा कि मेरा गला दबा दे। रवि ने मजाक में ही उसका गला हल्के से दबा दिया। उसे लगा कि उसकी बहन रोजाना कोई न कोई ड्रामा करती है। इस कारण उसके कहने पर गला दबाया, पर उस समय उसे कुछ नहीं हुआ। बाद में पूनम ने रवि को कहा कि मुझे कपड़े चेंज करने हैं तू बाहर जा। एक ही कमरा होने के कारण रवि बाहर आकर छत पर सो गया। जब रात करीब ढाई बजे वह नीचे उतरा तो पूनम ने अंदर से कुंडी लगाई हुई थी। रवि का दावा है कि उसने किसी लोहे की रॉड से अंदर की कुंडी खोली। उस समय पूनम बिस्तर पर लेटी हुई थी। उसकी कलाई से खून भी बह रहा था। उसके पूछने पर बहन ने खून को टोमेटा कैचअप बताया था। जिस पर उसने सोचा कि वह ड्रामा कर रही है। इसलिए, वहीं उसके पास ही सो गया। सुबह 10 बजे उठा तो वह उठ नहीं रही थी। जिसके बाद उसने पानी के छीटे उसके चेहरे पर मारे तब भी नहीं उठी। तब पड़ोस में रहने वाली एक महिला को बुलाया और फिर महिला ने भी उसके चेहरे पर छींटे मारे, पर वह नहीं उठी, क्योंकि वह मर चुकी थी। बिस्तर पर खून बिखरा था। किसी ने पुलिस को बुलाया। पुलिस ने लाश को कब्जे में लिया और रवि को भी हिरासत में ले लिया।


पोस्टमाॅर्टम में गले पर किसी भी तरह के निशान नहीं पाए गए हैं। अभी विसरा फॉरेंसिक लैब को भेजा दिया गया है। उसकी रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की असली वजह पता लगेगी। अभी यह आत्महत्या का ही मामला है।

-रमेश लाल, एएसआई इस केस का जांच अधिकारी

Click to listen..