--Advertisement--

फ्लाईओवर व सर्विस रोड पर लगे सीसीटीवी कैमरे कई महीनों से बंद

जीरकपुर में चडीगढ़-अंबाला हाईवे पर बने फ्लाईओवर और नीचे सर्विस लेन पर सीसीटीवी कैमरे लगे हंै। ट्रैफिक को कंट्रोल...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:20 AM IST
जीरकपुर में चडीगढ़-अंबाला हाईवे पर बने फ्लाईओवर और नीचे सर्विस लेन पर सीसीटीवी कैमरे लगे हंै। ट्रैफिक को कंट्रोल करने, एक्सीडेंट के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए ये लगाए गए थे। पिछले कई महीनों से ये बंद पड़े हंै। ये कैमरे यहां की नगर परिषद ने लगाए हैं। इनका रखरखाव न होने के कारण से मात्र शोपीस बने है। अगर ये कैमरे काम करते तो यहां हादसों की जानकारी और ट्रैफिक कंट्रोल करने मे मदद मिलती। एमसी ने यहां हाईवे पर और मुख्य दो चौराहों पर 2 साल पहले सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे। यह कैमरे मुख्य रूप से फ्लाईओवर पर हो रहे हादसों को देखते हुए लगाए गए थे। कैमरों का कंट्रोल रूम ट्रैफिक पुलिस के ऑफिस में है ताकि ट्रैफिक पुलिस अधिकारी उस पर निगाह रख सकें।

इसकी जानकारी देते हुए जीरकपुर ट्रैफिक इंचार्ज मनफूल सिंह ने बताया कि जीरकपुर में 8 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे, जिनमें दो शर्मा फार्म के सामने जहा से फ्लाईओवर शुरू होता है, जिनमें से एक चंडीगढ़ से आने वाले वाहनों पर निगाह रखेगा और एक चंडीगढ़ जाने वालों पर दो कैमरे चंडीगढ़ जीरकपुर फ्लाईओवर पर लगाए गए है, जहा से फलाई ओवर शुरू होता है। दो कैमरे फ्लाईओवर के ऊपर है। एक पटियाला चौक पर और एक पंचकूला चौक पर लगाया गया है।

सीसीटीवी कैमरे ठीक नहीं होंगे तो कैसे रुकेगा क्राइम, लोगों की मांग-जल्द से जल्द यह खराब कैमरे ठीक किए जाएं

पहले ट्रैफिक जाम का पता चलता था इन सीसीटीवी से

पहले सीसीटीवी कैमरे से जीरकपुर में लगने वाले जाम का तंुरत पता चल जाता था अगर कोई गाड़ी हाईवे पर खराब हुई हो या गलत पार्क हुई है तो उसे तुंरत जाकर वहा से हटाया जाता था। इसके अलावा अगर कोई वाहन चालक शराब पीकर सड़क पर हुड़दंग मचाता है तो भी तुरत पुलिस उसे काबू कर सकती थी। उन्होंने बताया कि कई बार शिकायत आती है कि रात के समय फ्लाईओवर पर लोग शराब पीते हंै अगर कोई फ्लाईओवर पर शराब पीता हुआ पकड़ा जाता था तो उसके खिलाफ कार्रवाई की भी की जा सकती थी पर अभी यह मुमकिन नही क्योंकि सभी कैमरे खराब पड़े हैं। यही नही अगर फ्लाईओवर पर कोई हादसा होता है तो सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग से दोषी की पहचान भी की जा सकती थी। मगर कैमरे खराब होने की वजह से पिछले एक साल में फ्लाई ओवर पर दो ऐसी घने हुई जिसमें दो जाने भी चली गई परंतु घटना के जिम्मेदार वहां का कुछ पता नही लगा कारण था कैमरों के काम न करना। जीरकपुर एमसी से मांग की है की जल्द से जल्द यह खराब कैमरे ठीक किए जाएं।


X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..