Hindi News »Chandigarh Zilla »Panchkula »Kalka» सड़कों और पार्किंग से हटेगा अतिक्रमण 1562 वेंडर्स को मिलेगा पक्का ठिकाना

सड़कों और पार्किंग से हटेगा अतिक्रमण 1562 वेंडर्स को मिलेगा पक्का ठिकाना

पंचकूला जिले में रेहड़ी-फड़ी को सही ढंग से रेगुलेट करने के लिए स्ट्रीट वेंडर्स एक्ट-2014 लागू किया जाएगा। शहर में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 02:10 AM IST

पंचकूला जिले में रेहड़ी-फड़ी को सही ढंग से रेगुलेट करने के लिए स्ट्रीट वेंडर्स एक्ट-2014 लागू किया जाएगा। शहर में रेहड़ी-फड़ी वालों की तादाद व विभिन्न सेक्टरों में इनकी जरूरत का पता लगाने के लिए एमसी ने एक एजेंसी को सर्वे का जिम्मा सौंपा था। इस एजेंसी ने पंचकूला सिटी में सर्वे पूरा करने के बाद वीरवार को रिपोर्ट नगर निगम कमिश्नर राजेश जोगपाल को सौंप दी। फर्स्ट फेज में पंचकूला सिटी में सर्वे का काम पूरा कर लिया है। सेकेंड फेज में कालका-पिंजौर व पंचकूला के कुछ गांवों में रेहड़ी-फड़ी वालों का पता लगाने के लिए सर्वे शुक्रवार से शुरू होगा और 15 दिन में खत्म करने का टारगेट है। हरियाणा में पंचकूला पहला ऐसा शहर होगा जिसमें स्ट्रीट वेंडर्स एक्ट लागू होने जा रहा है। हरियाणा गवर्नमेंट की पूरे स्टेट में यह एक्ट लागू करने की प्लानिंग हैं। पंचकूला जिले को इसके लिए पायलेट प्रोजेक्ट के तौर पर चुना गया है।

लगेगा कैंप: निगम कमिश्नर राजेश जोगपाल के मुताबिक 8 से 10 फरवरी तक सेक्टर 14 स्थित एमसी ऑफिस के बाहर कैम्प लगाया जाएगा। इसमें पंचकूला सिटी का अगर कोई वेंडर सर्वे के दौरान रजिस्ट्रेशन नहीं करा पाया हो तो वह निगम ऑफिस आकर रजिस्ट्रेशन करा सकता है। इसके लिए उसे आधार कार्ड व राशन कार्ड की कॉपी लानी होगी। वेंडर्स की रजिस्ट्रेशन करते वक्त उनका आधार कार्ड लिया जा रहा है ताकि कोई व्यक्ति दो बार रजिस्ट्रेशन न करा सके। इस रजिस्ट्रेशन का मिलान चंडीगढ़ के डाटा से भी किया जाएगा। अगर किसी वेंडर ने चंडीगढ़ में भी रजिस्ट्रेशन करा रखी है तो उसे पंचकूला में रेहड़ी-फड़ी लगाने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

हाईकोर्ट से स्टे की आड़ में नहीं हट रहे रेहड़ी वाले...

पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट से करीब 80-90 रेहड़ी वालों ने स्टे ले रखी हैं। इन लोगों ने अपनी स्टे की कॉपी आगे अन्य लोगों में भी बांट रखी हैं। इस स्टे की कॉपी का फायदा उठाते हुए हजारों लोग रेहड़ी फड़ी लगा रहे हैं। इस स्टे की वैधता चैक करने की बजाए हुडा व निगम का स्टाफ रेहड़ी फड़ी वालों के पास स्टे होने का बहाना बनाकर अतिक्रमण हटाने के अभियान से पल्ला झाड़ लेता है। स्ट्रीट वेंडर्स एक्ट लागू होने के बाद इन रेहड़ी फड़ी वालों को रेगुलेट करने में मदद मिलेगी।

मेन रोड्स व पार्किंग एरिया में रेहड़ी फड़ी नहीं लगने देंगे...

स्ट्रीट वेंडर्स एक्ट लागू होने के बाद शहर की मेन रोड्स व पार्किंग एरिया में रेहड़ी फड़ी लगाने की इजाजत नहीं दी जाएगी। मार्केटों में थड़ों या पार्कों के निकट खाली पड़े एरिया में रेहड़ी फड़ी लगेंगी। वेंडर्स की रजिस्ट्रेशन कर उन्हें पहचान पत्र जारी किए जाएंगे।

अभी हर जगह अतिक्रमण

अभी हर सेक्टर में रेहड़ी फड़ी वालों की भरमार है। मेन रोड्स पर लगने वाली रेहड़ी फड़ी सड़क दुर्घटनाओं का भी कारण बनती हैं। मार्केट्स के पार्किंग एरिया में रेहड़ी फड़ी वालों का कब्जा है। वाहनों को खड़ा करने की जगह नहीं मिलती। मार्केट में शॉपिंग करने आए लोगों को अपने वाहन सड़क किनारे खड़े करने पड़ते हैं। मार्केटों में मिनी बसों, टैम्पो, वैन आदि की मदद से चलते फिरते रेस्टोरेंट चल रहे हैं। शहर में लग रही अवैध रेहड़ी फड़ी वालों से हुडा व निगम स्टाफ की वजह से हफ्ता व मंथली वसूली की भी शिकायतें सामने आ चुकी हैं। इसमें शहर के कुछ राजनीतिज्ञों की मिलीभगत के भी आरोप लगते रहे हैं। मेयर उपिंदर आहलुवालिया, एमएलए ज्ञानचंद गुप्ता ने मुख्यमंत्री समेत अर्बन लोकल बॉडीज मंत्री व यूएलबी अफसरों को लेटर लिखकर शहर में अवैध रेहड़ी फड़ी हटाने के निर्देश देने की मांग की थी, लेकिन लेटर लिखने के बाद अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। शहर में रेहड़ी फड़ी कम होने की बजाए लगातार बढ़ रही हैं।

पहले फेज का सर्वे पूरा कर एजेंसी ने एमसी कमिश्नर को सौंपी रिपोर्ट, दूसरे फेज के लिए आज से शुरू होगा सर्वे

नाइट फूड स्ट्रीट बनेगा: पक्के शेल्टर नहीं चलती-फिरती दुकानें होंगी

पंचकूला नगर निगम ने चंडीगढ़ की तर्ज पर शहर में नाइट फूड स्ट्रीट बनाने का फैसला लिया है। इसके लिए हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण की ओर से निगम को लीज पर जगह दी जाएगी। निगम ने चंडीगढ़ की नाइट फूड स्ट्रीट में आई दिक्कतों को ध्यान में रखकर इसको बनाते वक्त जरूरी बदलाव करने का फैसला किया है। नाइट फूड स्ट्रीट के लिए पक्के शेल्टर नहीं बनेंगे। शहर में दो या तीन जगह का चयन कर वहां रेहड़ी फड़ी या वैन वालों को खाने पीने की चीजें बनाने व बेचने की इजाजत होगी। नाइट फूड स्ट्रीट के निकट पीने के पानी और मोबाइल टॉयलेट की भी व्यवस्था की जाएगी।

1562

कुल वेंडर्स

जनरल कैटेगरी 192

ओबीसी 131

एससी 1144

एजुकेशनल क्वालिफिकेशन

अनपढ़ 95

दूसरी या तीसरी क्लास 578

प्राइमरी एजुकेशन 291

सेकेंडरी एजुकेशन 436

हायर सेकेंडरी क्लास 196

ग्रेजुएट 58

पोस्ट ग्रेजुएट 4

एक जगह बैठकर काम करने वाले 1494

रेहड़ी या वैन पर सामान बेचने वाले 64

हाथों में सामान उठाकर बेचने वाले 4

ट्रेड

कपड़ा बेचने वाले 57

फूड बेचने वाले 591

फल विक्रेता 261

सब्जी विक्रेता 201

हैंडीक्राफ्ट्स, घड़े, मूर्तियां बेचने वाले 452

1481

पुरुष

81

महिलाएं

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kalka

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×