Hindi News »Chandigarh Zilla »Panchkula »Pinjore» ट्रेनिंग कैंप के विरोध में शिक्षक संघ, कहा-स्टूडेंट्स की पढ़ाई हो रही प्रभावित

ट्रेनिंग कैंप के विरोध में शिक्षक संघ, कहा-स्टूडेंट्स की पढ़ाई हो रही प्रभावित

मोरनी/पंचकूला|प्रदेश के स्कूलों में अब जब वार्षिक परीक्षाओं में मात्र एक माह का समय बचा है और शिक्षा विभाग द्वारा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:20 AM IST

मोरनी/पंचकूला|प्रदेश के स्कूलों में अब जब वार्षिक परीक्षाओं में मात्र एक माह का समय बचा है और शिक्षा विभाग द्वारा अध्यापकों को स्कूलों में छात्रों पढ़ाने की बजाय सेमिनारों में धकेलने के खिलाफ राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ शिक्षकों के साथ खड़ा हो गया है। शिक्षा विभाग के इस कार्यक्रम का विरोध करते हुए संघ द्वारा वार्षिक परीक्षाओं के समय एलईपी और एलईपी फीडबैक कार्यक्रम व नेशनल अचीवमेंट सर्वे आदि प्रशिक्षण कार्यक्रम को बंद करने के लिए निदेशक को लेटर लिखा कर मांग की है। संघ ने विभाग के अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि संघ की इस मांग की तरफ गौर नहीं किया गया तो मजबूरी में पूरे प्रदेश के प्राथमिक अध्यापक इस प्रकार के प्रशिक्षण शिविरों को पूर्ण तौर पर बहिष्कार कर देने को विवश हो जाएंगे, जिसकी जिम्मेदारी विभाग की होगी। संघ के प्रदेश कोषाध्यक्ष जितेन्द्र कुंडू ने बताया कि राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ के साथ प्रदेश में 35000 प्राथमिक शिक्षक परीक्षााओं के समय इस प्रकार के प्रशिक्षण शिविरों का भारी विरोध कर रहे हैं। संघ व शिक्षकों का कहना है कि वार्षिक परीक्षाओं के समय शिक्षकों के हितों के साथ साथ छात्रों के हितों को ध्यान में रखते हुए सरकार व शिक्षा विभाग को इस समय चलाये जा रहे प्रशिक्षण शिविरों को बंद कर नए शैक्षिणक सत्र में चलाने को कहा है। क्योंकि परीक्षाओं के निकट का यह समय छात्रों व शिक्षकों के लिए उपयोगी है। संघ की प्रदेश इकाई ने कहा कि यह शिक्षकों व छात्रों की समझ से परे है कि परीक्षाओं का समय चल रहा है और विभाग द्वारा विभिन्न विषयों एलईपी, एलईपी फीडबैक, नेशनल एचीवमेंट सर्वे आदि विषयों पर प्रशिक्षण शिविर तथा अन्य अनेक तरह के कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं जबकि इस समय वार्षिक परीक्षाओं का समय नजदीक होने के चलते विद्यार्थियों की पढ़ाई चरम पर है । ऐसे में इस प्रकार के प्रशिक्षणों व कार्यक्रमों से छात्रों की पढाई प्रभावित हो रही है।

संघ ने विभाग के प्रधान शिक्षा सचिव, जिला मौलिक शिक्षा निदेशक तथा एनसीईआरटी के निदेशक को लिखे पत्र में मांग करते हुए कहा है कि इन सभी प्रशिक्षणों व कार्यक्रम को तुरंत प्रभाव से स्थगित किया जाए ताकि अध्यापक पूरे तरीके से विद्यार्थियों को परीक्षाओं की तैयारियां करवा सकें। इसके साथ ही संघ की मांग है कि किसी भी प्रकार के प्रशिक्षण शिविर और अन्य प्रकार के कार्यक्रम व प्रशिक्षण शिविर आदि शैक्षणिक सत्र के प्रारंभ में ही आयोजित किये जाए । जिससे बच्चों की पढ़ाई प्रभावित न हो । यदि विभाग द्वारा ऐसा नहीं किया गया तो पूरे प्रदेश में इस प्रकार के शिविरो का अध्यापकों द्वारा पूर्ण तौर पर बहिष्कार किया जायेगा। इस अवसर पर उनके साथ पंचकूला इकाई के जिला महासचिव सुजीत यादव, पिंजौर खंड कोषाध्यक्ष संजीव शर्मा, राजेश भंवरा, बलदेव शर्मा आदि संघ के पदाधिकारी मौजूद रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pinjore

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×