Hindi News »Realestate» Six Basic Rights For Bank Customers

इस एक वजह से बैंक आपका अकाउंट खोलने से मना नहीं कर सकता, जानें ऐसे ही 6 अधिकार

कई ग्राहकों को इन अधिकारों की जानकारी नहीं होती है। इसके कारण वे अपने अधिकारों का फायदा नहीं उठा पाते हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Dec 14, 2017, 12:05 AM IST

इस एक वजह से बैंक आपका अकाउंट खोलने से मना नहीं कर सकता, जानें ऐसे ही 6 अधिकार

यूटिलिटी डेस्क। ज्यादातर लोगों का बैंक में अकाउंट होता है। यहां पर अकाउंट खुलवाने वाले हर व्यक्ति को बैंक कुछ अधिकार देता है। लेकिन कई ग्राहकों को इन अधिकारों की जानकारी नहीं होती है। इसके कारण वे अपने अधिकारों का फायदा नहीं उठा पाते हैं। इस के जरिए हम आपको बता रहे हैं बैंक कस्टमर्स के ऐसे अधिकार जो हर व्यक्ति को पता होना चाहिए...

> चेक कलेक्शन में देरी होती है तो कस्टमर को बैंक से मुआवजा पाने का अधिकार है।

> कस्टमर के अकाउंट से हुए अनऑथराइज्ड ट्रांजेक्शन के लिए बैंक ग्राहक को जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते।

> सिर्फ परमानेंट एड्रेस न होने के चलते कोई भी बैंक आपका अकाउंट ओपन करने से मना नहीं कर सकता।

> कस्टमर्स की निजी जानकारी को गुप्त रखना बैंक की जिम्मेदारी है। बैंक इसे किसी अन्य से शेयर नहीं कर सकता।

> जाति, धर्म, लिंग वगैरह के आधार पर बैंक किसी के साथ भेदभाव नहीं कर सकता।

> कोई भी व्यक्ति NEFT के जरिए 50 हजार रुपए तक की रकम ट्रांसफर कर सकता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: agar bank ne ki ye ek galati to aapko milegaaa muaavjaa, jaanie aise hi 5 adhikar
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Realestate

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×