--Advertisement--

17 साल की शिवांगी पाठक ने फतह की दक्षिण अफ्रीका के किलिमंजारो पर्वत की चोटी, 5,895 मीटर है ऊंचाई

शिवांगी माउंट एवरेस्ट फतह करने वाली सबसे कम उम्र की भारतीय लड़की, उन्होंने 16 साल में यह उपलब्धि अपने नाम की थी

Danik Bhaskar | Jul 27, 2018, 10:06 PM IST
शिवांगी ने जवाहर इंस्‍टीट्यूट ऑफ माउंटेन से पर्वतारोहण का कोर्स किया है। - फाइल शिवांगी ने जवाहर इंस्‍टीट्यूट ऑफ माउंटेन से पर्वतारोहण का कोर्स किया है। - फाइल

  • शिवांगी को द ईगल ऑफ माउंटेन का टाइटल दिया गया
  • उन्होंने नेपाल की ओर से माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई की थी


नई दिल्ली. हरियाणा के हिसार जिले की रहने वाली शिवांगी पाठक ने दक्षिण अफ्रीका के किलिमंजारो पर्वत की चोटी फतह कर ली है। महज 17 साल की शिवांगी का कहना है, 'महिलाएं जो भी लक्ष्य तय करती हैं, उसे हासिल करने में सक्षम हैं। दुनिया में ऐसा कुछ भी नहीं है, जिसे महिलाएं न कर सकें। बचपन से ही मैं कुछ यूनिक (विशिष्ट) करना चाहती थी। मैं अपने परिवार के समर्थन के बिना ऐसा नहीं कर सकती थी।'

शिवांगी पर्वतारोही अरुणिमा सिन्हा से प्रेरित हैं। किलिमंजारो दक्षिण अफ्रीका का सबसे ऊंचा पर्वत है। इसकी ऊंचाई 5,895 मीटर है। यह दुनिया की सबसे ऊंची 7 में से चौथी ऊंची चोटी है। शिवांगी ने मारनगु रूट से 21 जुलाई को पर्वत पर चढ़ने का अपना सफर शुरू किया था। उन्होंने महज तीन दिन में यानी 24 जुलाई को इसे पूरा कर लिया। शिवांगी इस माह 17 साल की हुईं हैं।

शिवांगी ने कश्‍मीर में भी पर्वतारोहण की ट्रेनिंग ली है। - फाइल शिवांगी ने कश्‍मीर में भी पर्वतारोहण की ट्रेनिंग ली है। - फाइल
शिवांगी माउंट एवरेस्‍ट पर तिरंगा फहराने वाली पहली दिव्यांग पर्वतारोही अरुणिमा सिन्हा को अपना प्रेरणास्रोत मानती हैं। - फाइल शिवांगी माउंट एवरेस्‍ट पर तिरंगा फहराने वाली पहली दिव्यांग पर्वतारोही अरुणिमा सिन्हा को अपना प्रेरणास्रोत मानती हैं। - फाइल