पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

यूके में था आरोपी, कोर्ट में कोई और ही पेश होता रहा, पुलिस ने जशनदीप को जसनदीप बनाया, 19 साल पुराने केस में जांच शुरू

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़. 19 साल पुराने किडनैपिंग के एक केस में चार आरोपियों को 2007 में सेशंस कोर्ट ने बरी कर दिया था। बाद में कोर्ट में एक कम्प्लेंट फाइल हुई कि इस केस में एक आरोपी जशनदीप सिंह ट्रायल के दौरान यूके में था। लेकिन कोर्ट में उसकी जगह कोई और पेश होता रहा। इसी कारण पीड़ित भी आरोपी को पहचान नहीं सकी थी। अब 19 साल पुराने इस मामले में कोर्ट के ऑर्डर पर एसएसपी ने डीएसपी साउथ को जांच सौंपी है।

एसएसपी की ओर से मंगलवार को कोर्ट को जानकारी दी गई कि 15 दिनों में जांच रिपोर्ट पेश कर दी जाएगी। अगली तारीख 24 अगस्त तय की गई है। 2013 में डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में एक कम्प्लेंट फाइल हुई थी। इसमें पुलिस पर आरोप लगाए गए थे कि मिलीभगत से एक आरोपी को बचा लिया गया। पहले तो आरोपी ने ट्रायल के दौरान 12 बार पेशियों से छूट ली। जब पेश हुआ भी तो सिग्नेचर अलग-अलग किए। कैसे एक आरोपी अलग-अलग साइन कर सकता है। इस कम्प्लेंट पर पहले तो पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। अब पांच साल बाद कोर्ट के आदेश पर इसमें इंक्वायरी मार्क हो गई है।

 

पुलिस ने हेरफेर कर क्लीनचिट दे दी थी कि आरोपी विदेश में नहीं है: कम्प्लेंट फाइल करने वाले एडवोकेट कुलदीप आहलुवालिया के आरोप हैं कि पुलिस ने ‘जशनदीप’ को ‘जसनदीप’ बनाया। केस ट्रायल के दौरान पीड़ित को शक भी हुआ था कि आरोपी वह नहीं है जो मौके पर था। उस दौरान जशनदीप के विदेश में होने की जांच कराने की मांग की गई थी। पुलिस ने जांच भी करवाई, लेकिन जशनदीप की नहीं, बल्कि जसनदीप की। पुलिस ने पासपोर्ट ऑफिस में पता किया तो वहां से जवाब आया कि जसनदीप नाम से कोई पासपोर्ट नहीं बनाया गया। ये हेरफेर करके पुलिस ने क्लीन चिट दे दी कि आरोपी विदेश में नहीं है।

 

 

19 साल पहले दो लड़कियों की हुई थी किडनैपिंग: 10 अप्रैल 1999 के इस केस में एक लड़की ने पुलिस को शिकायत दी थी कि वह अपनी एक सहेली के साथ मनीमाजरा के एक डिस्को में गई थी। रात डेढ़ बजे जब वे डिस्को से निकलीं तो उन्होंने देखा कि दो लड़के उनका पीछा कर रहे थे। जब वे रेलवे लाइट पॉइंट्स के पास पहुंची तो लड़कों ने उनकी गाड़ी रुकवाई और उनसे बात करने की कोशिश की। लड़कियों ने मना कर दिया और वहां से चल पड़ीं। रात करीब ढाई बजे वे अरोमा होटल पहुंची और लड़के उनका पीछा करते-करते वहां भी पहुंच गए। वे लड़कियों से राइड पर जाने की बात करने लगे। काफी देर कहने के बाद लड़कियां उनके साथ राइड पर जाने को राजी हो गईं। लेकिन वे दोनों लड़के उन्हें सेक्टर-11 ले गए जहां 4-5 लड़के और थे, जिन्होंने रिवॉल्वर दिखाकर दोनों लड़कियों को किडनैप कर लिया। हालांकि कुछ दूर पहुंचने पर लड़कियां उनके चंगुल से भाग निकली। जिसके बाद उन्होंने पुलिस को शिकायत दी। पुलिस ने उनकी शिकायत पर जश्नदीप समेत चार लड़कों के खिलाफ आईपीसी की धारा 323, 341, 342, 354, 506, 366 और 34 व आर्म्स एक्ट की धारा 25, 54, 59 के तहत केस दर्ज कर लिया।

 

खबरें और भी हैं...