लॉकडाउन का असर दिखने में दक्षिण हरियाणा में लगे 3 दिन तो बांगड़ में घरों में शांत बैठे लोग

News - जीटी बेल्ट : सोनीपत में सख्ती, जींद में जागरूकता प्रदेश में गुड़गांव के बाद सबसे ज्यादा पॉजिटिव पानीपत में ही...

Mar 27, 2020, 07:16 AM IST

जीटी बेल्ट : सोनीपत में सख्ती, जींद में जागरूकता

प्रदेश में गुड़गांव के बाद सबसे ज्यादा पॉजिटिव पानीपत में ही मिले हैं। गुरुवार को एक केस और मिलने के बाद इनकी कुल संख्या यहां पर 4 हो गई है। सोनीपत में विदेश से आने वाले 227 लोगों में से 190 लोगों को क्वारेंटाईन में रखा गया है। इनमें से 41 लोग ऐसे हैं जिनका निर्धारित 14 दिनों का समय पूरा हो चुका है। 12 लोगों का 28 दिनों की हो गई है। सोनीपत में यूके से आई एक छात्रा कोरोना पॉजीटिव मिली थी जिसकी हालत में सुधार हो रहा है। लॉकडाउन में दो दिन पुलिस की सख्ती चली और सड़क पर उतरे लोगों पर कार्रवाई करते हुए कहीं उठक-बैठक कराई तो कहीं डंडे लगाए। गुरुवार को सड़कों पर सन्नाटा पसरा था। 40 से अधिक नाके सड़कों पर लगे हैं। दूध वालों के लिए सुबह व शाम साढ़े 6 से साढ़े 8 बजे के बीच का समय तय किया है। करनाल में फिलहाल कोरोना वायरस के 28 संदिग्ध मरीजों के सैंपल निगेटिव आ चुके हैं। गुरुवार को चार नए संदिग्ध केसों के सैंपल खानपुर मेडिकल कॉलेज में भेजे हैं। शुक्रवार शाम तक इनकी रिपोर्ट आएगी। राशन के खरीदने के लिए 207 स्टोर निर्धारित कर दिए हैं। सब्जी और फल वार्ड वाइज सप्लाई किए जा रहे हैं। जिला में 145 लोगों को होम क्वारंटाइन किया है। गरीब लोगों को 20-20 किलो राशन भी बांटा जा रहा है। जींद में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर गुरुवार को शहरवासी पहले से कहीं अधिक सतर्क दिखे। सब्जी मंडी से लेकर, बाजार, अस्पताल आदि सभी जगहों पर वीरानी छाई थी। यही हाल जिला के उचाना, नरवाना, सफीदों, जुलाना आदि कस्बों में रहा। लॉकडाउन के दौरान इक्का-दुक्का लोग ही जरूरी काम होने पर ही घरों स बाहर निकले। गांवों में भी लोग घरों से अब पहले की तुलना में काफी कम संख्या में लोग बाहर निकल रहे हैं।

अम्बाला: ट्रेवल हिस्ट्री वाले कई लोग बाहर रिश्तेदारों के यहां घूमने गए

काेराेना संक्रमण के बीच अम्बाला के लिए राहत यह है कि अब तक लिए 22 सैंपल में से 21 निगेटिव अाए हैं। एक सैंपल की रिपोर्ट आना अभी बाकी है। जिले में विदेश हिस्ट्री वाले 1253 लोगों को होम क्वारेंटाइन किया हुआ है। इनमें से करीब दौ सौ लाेगों का क्वारेंटाइन पीरियड पूरा हो चुका है। वहीं क्वारेंटाइन पीरियड के दौरान बाहर घूमने व लॉक डाउन ब्रेक करने वाले 11 लोगों पर पुलिस ने धारा 144 के उल्लंघन व दूसरों की जान जोखिम में डालने के केस दर्ज किए हैं। लॉक डाउन पीरियड में बाहर घूमने वाले व घरों के बाहर बैठे लोगों पर अब प्रशासन ने वीडियो व फोटो के आधार पर भी कार्रवाई की है।

लॉकडाउन पीरियड के दौरान बाहर से आने वाले लोगों को रोकने के लिए सिटी के सेक्टर-7 की रेजीडेंट एसोसिएशन ने जहां बाहर के लोगों की एंटी रोकने के लिए गेट बंद कर दिए हैं। वहीं, कई जगहों पर लोगों ने खुद ही रास्ते ब्लॉक किए हैं। प्रशासन ने होम डिलीवरी के सूचीबद्ध् दुकानदारों की सूची अपने स्तर पर भी घर घर देने का काम शुरू किया है। सब्जी की रेहड़ियां कॉलोनियों मंे देखी जा रही हैं और दूध व परचून व अन्य जरूरी सामान की दुकानों के बाहर प्रशासन ने गोले लगाकर सोशल डिस्टेंस मेंटेन करने के लिए हिदायत दी है। जो लोग बेघर हैं उनके लिए जिला प्रशासन के साथ साथ जन प्रतिनिधियों ने भी हाथ बढ़ाया है। पंचायत स्तर पर सैनिटाइजेशन के लिए वीरवार को सीएमओ कार्यालय के माध्यम से जरूरी दवाई बंटवाई गई। हेल्पलाइन नंबरों पर अब पहले की अपेक्षा कम फोन आ रहे हैं। हालांकि ट्रेवल हिस्ट्री वाले कई लोग रिश्तेदारों के यहां या कहीं बाहर घूमने के लिए निकल गए। इनमें से कोई पंचकूला निकल गया तो कोई नौकरी पर चला गया।

चंडीगढ़ | प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव लोगों की संख्या 19 हो गई है। दिल्ली से लगता गुडगांव सबसे खतरनाक है जहां पर कुल पॉजिटिव 10 हैं। वहीं जीटी बेल्ट भी पानीपत की वजह से रेड जोन में है। पानीपत में पॉजिटिव केसों की संख्या 4 हो गई है। बांगड़ का एरिया अभी सुरक्षित है। हिसार जोन में अभी कोई पॉजिटिव नहीं मिला है और लोग घरों के अंदर शांति से बैठे हैं। वहीं दक्षिण हरियाणा खासकर रेवाड़ी में लॉकडाउन का असर दिखने में ही तीन दिन का समय लग गया है। रोहतक जोन में भी अभी कोई पॉजिटिव केस तो नहीं मिला है। जानिए प्रदेश के किस एरिया में क्या है स्थिति -**

करनाल : बेवजह बाहर निकलने वाले लोगों पर पुलिस ने की सख्ती।

सख्ती : घर में रहोगे तो सुरक्षित रहोगे, बाहर होगा यही अंजाम

कृपया लठ न मारें

कैथल: घर से जरुरी सामान खरीदने के लिए जाने वाले लोगों को बिना पूछे ही पुलिस द्वारा लाठियां मारी जा रही है। ऐसी वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। जिससे लोग परेशान हैं। ऐसे ही एक स्थानीय निवासी ने इस पर एक स्लोगन के माध्यम से अपनी बात रखी है। उन्होंने अपनी पीठ पर कागज पर उनकी प|ी की ओर से लिखा गया है कि मेरा पति दूध व सब्जी लेने जा रहा है। आवारागर्दी क रने नहीं। कृप्या लठ न मारें।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना